Wednesday, June 19, 2019
गंगा दशमी:आज गंगाजी का अवतरण दिवस,75 साल बाद 10 योग बन रहे हैं

गंगा दशमी:आज गंगाजी का अवतरण दिवस,75 साल बाद 10 योग बन रहे हैं

मीडियावाला.इन।

उज्जैन से अजेंद्र  त्रिवेदी की रिपोर्ट


गंगा दशहरा पर 75 साल बाद फिर वही 10 योग बन रहे हैं जो पौराणिक काल में गंगा अवतरण के दिन थे। ये सभी प्रबल योग हैं। ज्योतिषियों के अनुसार इन योगों में गंगा दशहरा आने से श्रद्धालुओं को इस दिन तीर्थ स्नान के साथ धर्म-अनुष्ठान और पितरों के लिए तर्पण करना चाहिए। अपनी राशि के अनुसार दान करना चाहिए। गंगा अवतरण के समय विद्यमान थे यह दस योग
ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, दशमी तिथि, बुधवार का दिन, हस्थ नक्षत्र, व्यतिपात योग, गर करण, आनंद योग, कन्या राशि का चंद्रमा व वृषभ राशि का सूर्य को दश महायोग कहा गया है।
रामघाट पर लगता है मेला
ज्येष्ठ शुक्ल प्रतिपदा से पूर्णिमा तक रामघाट पर गंगा दशहरा उत्सव मनाया जाता है। भागसीपुरा से गंगा माता की सवारी शिप्रा तट पर आती है। 15 दिन तक रामघाट पर गंगा माता की पूजा अर्चना की जाती है।
गंगा दशमी पर्व  ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को रामघाट पर शिप्रा नदी में स्नान कर दान देकर मनाया जाएगा। 
आज किया जाएगा नीलगंगा सरोवर  आश्रम का उद्घाटन
 इसी प्रकार आज नीलगंगा सरोवर उज्जैन के किनारे नवनिर्मित जूना अखाड़ा के आश्रम पर आज  तीन मंजिला शिवलिंग आकार का भवन व आश्रम का उद्घाटन किया जाएगा अखाड़े के मुख्य संरक्षक श्री महंत हरी गिरी जी महाराज के अनुसार ने आश्रम के पीठाधीश्वर महायोगी पायलट बाबा रहेंगे आयोजन के दौरान उन्हें गांधी सौंपी जाएगी 21 सौ महिलाओं द्वारा 12 जून को शाम 5:00 बजे दत्त अखाड़ा से किस कलश यात्रा निकलेगी जो नीलगंगा सरोवर आएगी

0 comments      

Add Comment