Monday, September 23, 2019
दो दिन की धार्मिक यात्रा के बाद देहरादून एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हुए पीएम मोदी

दो दिन की धार्मिक यात्रा के बाद देहरादून एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हुए पीएम मोदी

मीडियावाला.इन।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के दर्शन कर आज दोपहर वायुसेना के विशेष विमान से दिल्ली रवाना हो गए। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को केदारनाथ धाम पहुंचकर बाबा केदार के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। करीब पौने पांच घंटे धाम में बिताने के बाद दोपहर 2:45 बजे ध्यान गुफा में पहुंचकर वहां साधना में लीन हो गए।पीएम मोदी आज सुबह करीब 17 घंटे बाद गुफा से बाहर आए और एक बार फिर बाबा केदार के मंदिर में पूजा अर्चना की। इसके बाद उन्होंने बदरीनाथ धाम में विशेष पूजा अर्चना की और वायुसेना के विशेष विमान से दिल्ली रवाना हो गए। शनिवार को भगवान शिव की आराधना के बाद आज रविवार को पीएम मोदी सुबह सात बजकर बीस मिनट पर ध्यान गुफा से बाहर आए और पैदल ही केदारनाथ मंदिर पहुंचकर बाबा केदार के दर्शन किया। 

भगवान ने तो मांगने नहीं, देने योग्य बनाया है

केदारनाथ में पीएम की सुबह की पूजा की तैयारी के लिए मंदिर में यात्रियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 8 बजकर 10 मिनट पर केदारनाथ मंदिर में पहुंचे। करीब बीस मिनट तक उन्होंने गर्भ गृह में भगवान भोले नाथ की पूजा और अभिषेक किया।

केदारनाथ मंदिर में पूजा के बाद वह मीडिया से मुखाबित हुए। उन्होंने कहा कि मैं इलेक्शन कमिशन का आभार मानता हूं कि ये दो दिन मुझे मिले। मेरा सौभाग्य है कि इस आध्यात्मिक भूमि पर आने का मुझे वर्षों से मौका मिलता रहा है। कहा कि मैं भगवान से कभी मांगता नहीं हूं। मांगना मेरी प्रवृति नहीं है। भगवान ने तो मांगने नहीं, देने योग्य बनाया है। गुजरात में रहते हुए अपनी तरह से प्रयत्न करता रहता था। लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद सौभाग्य से यहां भी भाजपा की सरकार बनी। केदारनाथ की परिस्थितियां बेदह प्रतिकूल है। मास्टर प्लान के आधार पर केदारनाथ में पुनर्निर्माण किया जा रहा है। कहा कि कल मैं ध्यान गुफा में चला गया था। वह ऐसी गुफा है जहां से हर समय बाबा के दर्शन होते रहते हैं। मैंने वहां से भी बाबा के दर्शन किए। एक प्रकार से मैं वर्तमान भारत के वातावरण से पूरी तरह बाहर था। उन्होंने कहा कि इस दौरे से उत्तराखंड और केदारनाथ के पर्यटन को फायदा मिलेगा। लोगों को यह संदेश मिलेगा कि केदारनाथ यात्रा सुरक्षित है और पहले से अधिक सुविधाएं यहां हैं। लोग यह सोचेंगे की छुट्टी में सिंगापुर न जाकर केदारनाथ चलते हैं। यहां के विकास मिशन में प्रकृति, पर्यावरण और पर्यटन शामिल हैं। इस दौरान वहां मोदी-मोदी के नारे लगने शुरू हो गए। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर हर महादेव और भारत माता की जय का जयकारा लगाया और सुरक्षा घेरा तोड़कर वह धाम में मौजूद लोगों से मिले। इस दौरान उन्होंने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया।
 

0 comments      

Add Comment