Wednesday, December 12, 2018

Blog

अजय बोकिल

जन्म तिथि : 17/07/1958, इंदौर

शिक्षा : एमएस्सी (वनस्पतिशास्त्र), एम.ए. (हिंदी साहित्य)

पता : ई 18/ 45 बंगले,  नार्थ टी टी नगर भोपाल

मो. 9893699939

अनुभव :

पत्रकारिता का 33 वर्ष का अनुभव। शुरूआत प्रभात किरण’ इंदौर में सह संपादक से। इसके बाद नईदुनिया/नवदुनिया में सह संपादक से एसोसिएट संपादक तक। फिर संपादक प्रदेश टुडे पत्रिका। सम्प्रति : वरिष्ठ संपादक ‘सुबह सवेरे।‘

लेखन : 

लोकप्रिय स्तम्भ लेखन, यथा हस्तक्षेप ( सा. राज्य  की नईदुनिया) बतोलेबाज व टेस्ट काॅर्नर ( नवदुनिया) राइट क्लिक सुबह सवेरे।

शोध कार्य : 

पं. माखनलाल  चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विवि में श्री अरविंद पीठ पर शोध अध्येता के  रूप में कार्य। शोध ग्रंथ ‘श्री अरविंद की संचार अवधारणा’ प्रकाशित।

प्रकाशन : 

कहानी संग्रह ‘पास पडोस’ प्रकाशित। कई रिपोर्ताज व आलेख प्रकाशित। मातृ भाषा मराठी में भी लेखन। दूरदर्शन आकाशवाणी तथा विधानसभा के लिए समीक्षा लेखन।  

पुरस्कार : 

स्व: जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी उत्कृष्ट युवा पुरस्कार, मप्र मराठी साहित्य संघ द्वारा जीवन गौरव पुरस्कार, मप्र मराठी अकादमी द्वारा मराठी प्रतिभा सम्मान व कई और सम्मान।

विदेश यात्रा : 

समकाालीन हिंदी साहित्य सम्मेलन कोलंबो (श्रीलंका)  में सहभागिता। नेपाल व भूटान का भ्रमण।

आज तय होगा: कौन काॅन्फीडेंस में था और कौन अोवर काॅन्फीडेंस में ?

आज तय होगा: कौन काॅन्फीडेंस में था और कौन अोवर काॅन्फीडेंस में ?

बहुत संभव है कि इस स्तम्भ को पढ़ने से ज्यादा आपकी निगाहें मप्र विधानसभा चुनाव नतीजों के ट्रेंड पर गड़ी हों। नतीजा जो हो, इस बात को आसानी से भुलाया नहीं जा सकेगा कि चुनाव परिणामों से पहले...

पाक की माली सेहत सुधारने ‘गूगल साल्यूशन’ और ‘गुनाह टैक्स’!

पाक की माली सेहत सुधारने ‘गूगल साल्यूशन’ और ‘गुनाह टैक्स’!

अपने भारत में घटिया चुनावी राजनीति के बीच पड़ोसी पाकिस्तान से आर्थिक सुधार के अनोखे कदमों की रोचक खबरें आ रही हैं। पाकिस्तान की कमान पूर्व क्रिकेटर और राजनीतिक शादियां करने वाले इमरान खान के हाथों में है।...

‘उल्लू बनाविंग’ का सियासी फार्मूला और तेलंगाना में उल्लुअों की शामत !

‘उल्लू बनाविंग’ का सियासी फार्मूला और तेलंगाना में उल्लुअों की शामत !

कुछ साल पहले राजनेताअों पर कटाक्ष करता आइडिया का एक विज्ञापन बहुत चर्चित हुआ था-‘नो उल्लू बनाविंग।‘ लेकिन तेलंगाना विधानसभा चुनाव में तो नेताअों के कारण खुद उल्लुअों की ही शामत आ गई है। वहां 7 दिसंबर...

किसान रैली: दर्द निवारण का कोई स्थायी मंतर मिलेगा या फिर...?

किसान रैली: दर्द निवारण का कोई स्थायी मंतर मिलेगा या फिर...?

दिल्ली के जंतर मंतर पर कर्ज माफी और फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी जैसी बुनियादों मांगों को लेकर  हुए किसानों के बड़े जमावड़े और इस मंच पर विपक्षी नेताअो की प्रभावी मौजूदगी से यह सवाल फिर उठ...

हनुमानजी को दलित बताकर दलित वोट साधने का घटिया हथकंडा 

हनुमानजी को दलित बताकर दलित वोट साधने का घटिया हथकंडा 

योगी अादित्यनाथ का हिंदू धर्म ज्ञान कितना है, पता नहीं, लेकिन एक बात का ‘श्रेय’ उन्हें देना पड़ेगा कि उन्होंने हिंदुअों के लगभग सर्वमान्य देवता हनुमान को भी राजनीतिक रूप से विवादित बना दिया है। योगी ने विधानसभा...

इस रिकाॅर्ड मतदान में गूंजते लोकतंत्र के मंगलाष्टक !

इस रिकाॅर्ड मतदान में गूंजते लोकतंत्र के मंगलाष्टक !

बुधवार को विधानसभा चुनाव के लिए हुए रिकाॅर्ड मतदान का नतीजा क्या होगा, यह बंपर वोटिंग किसके पक्ष में जाएगा, किसके खिलाफ जाएगा, इन तमाम सवालों के जवाब केवल अनुमानों में ही ढूंढे जा सकते हैं। लेकिन मतदान...

वोट करें, इसलिए कि लोकतंत्र का दीया जलाए रखना है !

वोट करें, इसलिए कि लोकतंत्र का दीया जलाए रखना है !

जिस तरह हर साल आने के बाद भी दिवाली का रोमांच कम नहीं होता, उसी तरह प्रत्येक पांच साल बाद आने वाले चुनावों का जलवा भी कायम रहता है। कभी वो लोकसभा, कभी विधानसभा तो कभी स्थानीय चुनावों...

मुद्दों का टोटा और सत्ता की वैतरणी कुल-गोत्र के भरोसे पार करने की हिमाकत ! 

मुद्दों का टोटा और सत्ता की वैतरणी कुल-गोत्र के भरोसे पार करने की हिमाकत ! 

क्या आपको इसके पहले ऐसा कोई चुनाव याद पड़ता है, जिसमें मुद्दों का इस कदर टोटा पड़ गया हो कि शीर्ष नेताअों को भी  वोट के लिए अपने पितरों और दूसरे के पूर्वजों और गोत्र का सार्वजनिक इजहार...

चुनावी हवा के डायग्नोसिस के मीडिया पैरामीटर !

चुनावी हवा के डायग्नोसिस के मीडिया पैरामीटर !

मध्यप्रदेश ‍में विधानसभा चुनाव की चरम गर्माहट में लोग लगातार यह सूंघने की कोशिश कर रहे हैं कि इस चुनाव में जीत किसकी होगी, कौन सरकार बनाएगा, बहुमत से बनाएगा या बैसाखी के सहारे बनाएगा, शिवराज चौथी बार...

‘यमराज’ से न्याय पाने के लिए भटकते यूपी के ये ‘सत्यवान’…!

ये कथा यूपी के उन ‘सत्यवानों’ की है, जो अपनी सधवा पत्नियों के बैंक खातों में विधवा पेंशन जमा होने से परेशान हैं और सरकारी तंत्र रूपी ‘यमराज’ के सामने अपने जिंदा होने का प्रमाण पत्र लेकर...

कोई मंदिर ‘सेक्युलर’ कैसे हो सकता है? 

कोई मंदिर ‘सेक्युलर’ कैसे हो सकता है? 

केरल के सबरीमाला मंदिर में सभी उम्र की महिलाअों के प्रवेश को लेकर जारी ‘धर्म युद्ध’ और धार्मिक दबंगई के बीच सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दायर सभी पुनर्विचार याचिकाअों पर अगले साल 22 जनवरी से...

लखनऊ का चिडि़याघर भी अटलजी के नाम करने की ‘सुशासित सोच’ !

लखनऊ का चिडि़याघर भी अटलजी के नाम करने की ‘सुशासित सोच’ !

  नाम बदलने के इस ‘जुनून’ को आप क्या कहेंगे? अपने पूज्य नेता के प्रति आस्था का अतिरेक, देश में चल रही ‘नामातंरण क्रांति’ की पराकाष्ठा अथवा विवेक के साथ खो-खो? यूपी की योगी सरकार...

अग्नि के फेरों में सियासी सप्तपदी और ‘डैडी मेड’ तेज प्रताप की ट्रैजेडी

अग्नि के फेरों में सियासी सप्तपदी और ‘डैडी मेड’ तेज प्रताप की ट्रैजेडी

खुदा गंजे को नाखून भले न देता हो, लेकिन किसी बड़े नेता को ऐसा पुत्र रत्न जरूर देता है, जो बाप के ‍लिए डिप्रेशन का कारण बने और अपने सार्वजनिक जीवन के डिविडेंड पर पुनर्विचार के लिए मजबूर...

सरताज के आंसू, बगावती साला, उसूलों का कत्लेआम और ‘टिकट के जिहादी’! 

सरताज के आंसू, बगावती साला, उसूलों का कत्लेआम और ‘टिकट के जिहादी’! 

महर्षि वेद व्यास अगर महाभारत का सीक्वल लिखना चाहें तो ‘चुनाव टिकट वितरण’ से बेहतर कोई प्लाॅट शायद ही हो। कारण इसमें जितना थ्रिल, घमासान, मूल्यों का कत्लेआम, घनघोर भाई भतीजावाद, एक इंच भूमि भी प्रतिद्वंदी ने लिए...

बाबा रामदेव की ‘नेक सलाह’ और गृहस्थ हिंदू का धर्म संकट..?

बाबा रामदेव की ‘नेक सलाह’ और गृहस्थ हिंदू का धर्म संकट..?

लगता है योग गुरू बाबा रामदेव और हिंदू संतान वादियों के बीच कम से कम एक मुद्दे पर ठन गई है। बाबा रामदेव ने हरिद्वार में एक कार्यक्रम में फरमाया ‍कि जो हिंदू दो से ज्यादा बच्चे पैदा...

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी: इसकी ‘ऊंचाई’ तो भावी इतिहास तय करेगा...!

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी: इसकी ‘ऊंचाई’ तो भावी इतिहास तय करेगा...!

पता नहीं ये सवाल किसी ने न्यूयाॅर्क में स्टेच्यू आॅफ लिबर्टी, चीन के लुशान में स्प्रिंग टेम्पल आॅफ बुद्धा,  रूस में ‘मदरलैंड काॅल्स, ब्राजील की ‘क्राइस्ट द रीडीमर’ या  फिर भारत में ही ताजमहल के निर्माण के समय...

उफ! फर्ज अदा करते हुए पत्रकार का मर जाना कोई ‘शहादत’ नहीं होती... 

उफ! फर्ज अदा करते हुए पत्रकार का मर जाना कोई ‘शहादत’ नहीं होती... 

उफ ! युद्धों, एनकाउंटरों में मारे जाने वाले सैनिकों, जवानों की ‘शहादत’ की खबरें निडरता से दुनिया को देने वाले मीडियाकर्मी अगर इन्हीं हालात में जान गंवाएं तो खबर इतनी बनती है कि मुठभेड़ में पत्रकार भी मारे...

राहुल का ‘फैंसी हिंदुत्व’,थरूर का बिच्छू और भाजपा की सियासी तड़पन !

राहुल का ‘फैंसी हिंदुत्व’,थरूर का बिच्छू और भाजपा की सियासी तड़पन !

इस देश में राजनीतिक दलों की वोटों की लड़ाई में अगर किसी की सबसे ज्यादा छीछालेदर हो रही है तो वह है हिंदू धर्म की। रोज नई नई व्याख्याएं सामने आ रही हैं। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने...

शाह राजनीति करें मगर देश की बुनियाद को तो न हिलाएं !

शाह राजनीति करें मगर देश की बुनियाद को तो न हिलाएं !

सबरीमाला मंदिर के बहाने देश की न्याय पालिका सर्वोच्च अदालत को भाजपा के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष अमित की यह  नसीहत कि अदालतें ऐसे फैसले दें, जिनका पालन कराया जा सके, वास्तव में भारतीय संविधान को ही दी गई खुली...

फर्क गूगल सर्च्ड योगी और चुनाव जिताऊ सीएम योगी का

फर्क गूगल सर्च्ड योगी और चुनाव जिताऊ सीएम योगी का

योगी प्रेमियों को खुश करने वाली दो खबरें लगभग एक साथ आईं। पहली थी कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गूगल पर सर्वाधिक सर्च किए जाने वाले सीएम बन गए हैं। इस मामले में उन्होनें अन्य राज्यों...