Wednesday, July 24, 2019

Blog

कीर्ति राणा

क़रीब चार दशक से पत्रकारिता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा लंबे समय तक दैनिक भास्कर ग्रुप के विभिन्न संस्करणों में संपादक, दबंग दुनिया ग्रुप में लॉंचिंग एडिटर रहे हैं।

वर्तमान में दैनिक अवंतिका इंदौर के संपादक हैं। राजनीतिक मुद्दों पर निरंतर लिखते रहते हैं ।

सामाजिक मूल्यों पर आधारित कॉलम ‘पचमेल’ से भी उनकी पहचान है। सोशल साइट पर भी उतने ही सक्रिय हैं।


संपर्क : 8989789896

उज्जैन का पौराणिक वैभव सहेजा जा रहा है स्कैच बुक में

उज्जैन का पौराणिक वैभव सहेजा जा रहा है स्कैच बुक में

मीडियावाला.इन। इंदौर  । अपने शहर के पुरातन वैभव और संस्कृति को रंग और रेखा के जरिए सहेजने का काम पूरे देश में सिर्फ उज्जैन में हो रहा है।इस तरह का काम इंदौर के आर्टिस्ट भी शुरु कर सकते हैं।उज्जैन में...

इंदौर का बढेगा मान : अपने मायके वाले राज्य की प्रथम नागरिक हो सकती हैं ताई

इंदौर का बढेगा मान : अपने मायके वाले राज्य की प्रथम नागरिक हो सकती हैं ताई

महाराष्ट्र की राज्यपाल के लिए चल रहा है सुमित्रा महाजन का नाम   केंद्र में सरकार गठन पश्चात अब अगले कुछ दिनों में राज्यपालों की नियुक्ति का सिलसिला शुरु होना है।हमारी ताई (सुमित्रा महाजन) को...

नतीजे: पंकज संघवी को नहीं फली कांग्रेस, किस्मत में हार के सिवा कुछ नहीं 

नतीजे: पंकज संघवी को नहीं फली कांग्रेस, किस्मत में हार के सिवा कुछ नहीं 

सुमित्रा महाजन की जीत को भी पीछे छोड़ दिया लालवानी ने इंदौर नगर संवाददाता भाजपा ने 17वीं लोकसभा के चुनाव में जिस तरह देश में जीत का रेकार्ड कायम किया लगभग उसी अंदाज में इंदौर संसदीय...

मंत्रियों के क्षेत्र से कम वोट मिलने पर भी  कमलनाथ किसी को नहीं हटा सकेंगे 

मीडियावाला.इन।  मध्यप्रदेश में कांग्रेस लोकसभा की कितनी सीटें जीतेगी यह गुरुवार की रात तक स्पष्ट हो जाएगा।यह आंकड़ा कमलनाथ का परफारमेंस भी तय करेगा क्योंकि मुख्यमंत्री के साथ ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष का दायित्व भी उनके ही पास...

अपने ही शहर में फूंक फूंक कर कदम रखते रहे विजयवर्गीय 

अपने ही शहर में फूंक फूंक कर कदम रखते रहे विजयवर्गीय 

मीडियावाला.इन।   इंदौर ।भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी के चुनाव के दौरान एक तरह से फूंक फूंक कर ही कदम रखा।यह सारी ऐहतियात भी संभवत:इसीलिए बरती कि अनावश्यक विवादों और आरोंपों की बौछार...

मध्य प्रदेश का पहला जिला होगा इंदौर, गरीब मरीजों के हित में अनूठी पहल

मध्य प्रदेश का पहला जिला होगा इंदौर, गरीब मरीजों के हित में अनूठी पहल

मीडियावाला.इन। कलेक्टर के 'आव्हान' पर  निजी अस्पताल में होगा मरीज का निशुल्क इलाज  इंदौर । मप्र में इंदौर ऐसा पहला जिला बनने जा रहा है जहां जिला प्रशासन की पहल पर निजी अस्पताल हर महीने एक मरीज का निशुल्क...

ताई के खिलाफ कविराज के तेवर ने कांग्रेस में बढ़ा दिए टिकट के दावेदार

मीडियावाला.इन। भाजपा से कौन, कांग्रेस से कौन? लोकसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही दोनों दलों में यह 'कौन' की जिज्ञासा चर्चा में है।बहुत संभव है कि दस मार्च तक आचार संहिता घोषित हो जाए।भारत-पाक के बीच अभी जो हालात...

आइये,सेना की ही जय जयकार करें

आइये,सेना की ही जय जयकार करें

मीडियावाला.इन। पुलवामा में भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद से इमरान खान इन तेरह दिनों में आतंकी कैंपों को समाप्त करने का वह जरूरी काम नहीं कर पाए जो हमारी वायुसेना के...

पत्रकार होना बहुत आसान लेकिन बापना जैसा परोपकारी होना मुश्किल

पत्रकार होना बहुत आसान लेकिन बापना जैसा परोपकारी होना मुश्किल

मीडियावाला.इन। पत्रकार तो बहुत हैं और होते भी रहेंगे लेकिन महेंद्र बापना जैसा परोपकारी पत्रकार फिलहाल तो नजर नहीं आता। वो इतने सस्ते में चला जाएगा विश्वास नहीं होता।एक्सीडेंट भी होते रहते हैं महीनों बेड पर रहता या...

थैंक यू गांधी,गोडसे या पूजा

थैंक यू गांधी,गोडसे या पूजा

मीडियावाला.इन। नफरत और प्यार के बीच क्या पसंद किया जाए? जवाब सीधा सा हो सकता है प्यार लेकिन यह प्यार भी तब ही महसूस होगा जब दूसरी तरफ नफरत मौजूद हो। एक तरफ गांधी और दूसरी तरफ गोड़से और उनकी...

स्मृति शेष: पेरिन दाजी, खाक में मिल गई इंदौर के श्रमिक आंदोलन के इतिहास की किताब

स्मृति शेष: पेरिन दाजी, खाक में मिल गई इंदौर के श्रमिक आंदोलन के इतिहास की किताब

मीडियावाला.इन। कौन होमी दाजी? मनमोहन-मोदी के जमाने वाली इंदौर की पीढ़ी जब होमी एफ दाजी को ही नहीं जानती तो उनकी पत्नी पेरिन दाजी के नाम से अनभिज्ञ होना स्वाभाविक है।जो थोड़े बहुत युवा सुरेश सेठ को इंदौर के शेर...

अब हर सप्ताह बताना होगा,किस विभाग ने कितना किया काम

  मीडियावाला. इन / लंबे समय से कोई काम गति न पकड़े और अचानक ऐसे हालात बनें कि उन सब को काम करने में भिड़ना ही पड़े तो ऐसी स्थिति को बयां करने के लिए एक लाईन ही पर्याप्त...

इंदौर के नागरिक एक साल में देख सकेंगे कान्ह - सरस्वती नदी का सुंदर रूप

इंदौर के नागरिक एक साल में देख सकेंगे कान्ह - सरस्वती नदी का सुंदर रूप

   आकाश त्रिपाठी के  इंदौर  कमिश्नर बनने के दूसरे दिन से ही  कान्ह नदी मामले में तेजी आ गई है। क्योंकि नगर...

आँखों के इतने ऑपरेशन कर दिए कि डॉ हार्डिया की अंगुली ही टेढ़ी हो गई!

आँखों के इतने ऑपरेशन कर दिए कि डॉ हार्डिया की अंगुली ही टेढ़ी हो गई!

सुनकर आश्चर्य हो सकता है लेकिन यह हकीकत है, डॉ पीएस हार्डिया आँखों के 6.50 लाख ऑपरेशन कर चुके हैं। इसी विशिष्ट सेवा के लिए उन्हें पद्मश्री से अलंकृत करने का निर्णय केंद्र सरकार ने लिया है। भेंगापन...

सरकार और विहिप की मजबूरी में उलझा राम मंदिर

सरकार और विहिप की मजबूरी में उलझा राम मंदिर

मीडियावाला.इन।   मोदी सरकार से लेकर संघ विहिप आदि चाहते हैं कि राम मंदिर निर्माण जल्द से जल्द शुरु हो जाए लेकिन मजबूरी के कारण निर्माण अटका हुआ है। कुछ मजबूरी मोदी सरकार की और सरकार की मजबूरी...

किस के आँसू, कितनी सीट बढ़ाएँगे !

किस के आँसू, कितनी सीट बढ़ाएँगे !

मीडियावाला.इन। साल दो साल पहले तक प्रियंका को राजनीति में लाने की मांग करने वाले कार्यकर्ताओं को भी एक तरह से राहुल गांधी ने प्रियंका को महासचिव बना कर चौंका दिया है।लोकसभा चुनाव में अब यह देखना भी दिलचस्प होगा...

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मीडियावाला.इन। मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के रूप में भूपेन्द्र गुप्ता की नियुक्ति जितनी कांग्रेसजनों को चौंकाने वाली है, उससे कहीं अधिक खुद भूपेन्द्र भी कमलनाथ के दिखाए इस विश्वास से चमत्कृत हैं। इसका कारण यह कि उन्होंने तो सपने में...

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

मीडियावाला.इन। मानना पड़ेगा मोटा भाई को, एक झटके में शिवराज सिंह के मंसूबों पर पानी ही नहीं फेरा वरन उन्हें कांग्रेस द्वारा आए दिन किए जाने वाले हमलों से भी बचा लिया।यदि अब भी शिवराज का मन मध्यप्रदेश...

साहित्य संस्थाओं को दिए अनुदान की जांच होगी, नर्मदा किनारे लगे पौधे नजर नहीं आते, जांच होगी - विजय लक्ष्मी साधो

साहित्य संस्थाओं को दिए अनुदान की जांच होगी, नर्मदा किनारे लगे पौधे नजर नहीं आते, जांच होगी - विजय लक्ष्मी साधो

मीडियावाला.इन।  मप्र की चिकित्सा शिक्षा-संस्कृति मंत्री  डॉ विजयलक्ष्मी साधो ने एक सवाल के जवाब में स्पष्ट कहा कि नर्मदा किनारे  आम लोगों के द्वारा लगाए पौधे तो नजर आते हैं लेकिन शिवराज सिंह ने नर्मदा परिक्रमा के...

मप्र में छाए हुए हैं डॉन....डकैत...खान....बॉस...!

निज़ाम बदला, मिजाज बदल गए और राजनीतिक हवा भी बदल गई लेकिन इस बदली हवा के झोंके को अभी तक भी कई लोग या तो महसूस नहीं कर पाए हैं या जानबूझकर अंजान बने हुए हैं।कब, क्या, कहां,...