Wednesday, November 20, 2019

Blog

पंकज शुक्ला

हिन्‍दी डेली न्‍यूज मैग्‍जीन सुबह सवेरे के भोपाल संस्‍करण के स्‍थानीय संपादक। 20 वर्षों की पत्रकारिता में दैनिक चेतना, नईदुनिया समूह, प्रदेश टुडे समूह के साथ विभिन्‍न पदों पर कार्य। पानी, बीज, स्वास्थ्य, पर्यावरण और अन्य सामाजिक-विकासात्मक मुद्दों पर लेखन। हमारी सामाजिक, सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और आर्थिक चेतना में जल की उपस्थिति और जल संकट की पड़ताल करती पुस्तिका ‘पानी’ तथा काव्य संग्रह ‘‘सपनों के आसपास’’  (साहित्य अकादमी भोपाल के प्रथम कृति अनुदान के लिए चयनित) व चार मि़त्रों की प्रतिनिधि रचनाओं का संकलन ‘नन्हीं बूंदों का समंदर’  प्रकाशित।


https://twitter.com/pankajparimal


सम्पर्क - 9892699941


इमरती देवी : विभाग की वैसी फिक्र नहीं जैसी सिंधिया की!

इमरती देवी : विभाग की वैसी फिक्र नहीं जैसी सिंधिया की!

मीडियावाला.इन। मप्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी फिर सुर्खियों में हैं। उनका एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वे कहते दिखाई दे रही हैं कि डॉक्टर का ट्रांसफर नहीं कराएंगे। इसमें पैसा लगता है, इसलिए उसे...

हिचकौले खाती भाजपा में संघ के सुहास भगत आखिर कर क्‍या रहे हैं?

मीडियावाला.इन। मप्र में 15 सालों तक शासन करने वाली भाजपा सत्‍ता से क्‍या हटी पार्टी में कई काम बेपटरी हो गए। सत्‍ता के इर्दगिर्द जमी रहने वाली भीड़ तो छंटी ही, पार्टी नेतृत्‍व से असहमति खुल कर...

जल का अधिकार : डूबते और बे-पानी होते समाज को पानी देने की कवायद पर न फिरे पानी

मीडियावाला.इन। दृश्‍य 1 : बीती गर्मी में भारत के छठे सबसे बड़े शहर चेन्नई के लोगों ने पहली बार एक ट्रेन को अपने लिए पानी लाते हुए देखा। नीति आयोग के मुताबिक चेन्नई भारत के उन 21...

मप्र विधानसभा : समान विभाजित सदन में अध्‍यक्ष प्रजापति पर संतुलन का भार

मप्र विधानसभा : समान विभाजित सदन में अध्‍यक्ष प्रजापति पर संतुलन का भार

मीडियावाला.इन। मप्र विधानसभा का पावस सत्र 8 जुलाई से आरंभ हो रहा है। सत्‍ता पक्ष और प्रतिपक्ष के विधायकों की संख्‍या के मान से लगभग बराबर विभाजित सदन में प्रतिपक्ष ने सत्‍ता पक्ष को घेरने की पूरी तैयारी की है।...

अगर बेरोजगारी मुद्दा है तो यह राजनीतिक सभाओं में दिखता क्‍यों नहीं है?

अगर बेरोजगारी मुद्दा है तो यह राजनीतिक सभाओं में दिखता क्‍यों नहीं है?

मीडियावाला.इन। क्रिकेटर युवराजसिंह ने कैंसर का इलाज विदेश में करवाया। अभिनेता इरफान खान बीमार हुए तो विदेश गए। मनीषा कोईराला, सोनिया गांधी, केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार और मनोहर पर्रिकर ने भी विदेश में इलाज करवाया। वित्‍तमंत्री अरुण जेटली ने भी...

छात्र राजनीति पर लगाम : पिछलग्‍गू भीड़ तैयार करने का इरादा किसी खतरे से कम नहीं

छात्र राजनीति पर लगाम : पिछलग्‍गू भीड़ तैयार करने का इरादा किसी खतरे से कम नहीं

मीडियावाला.इन। ‘वक्‍त है बदलाव का’ नारा लगा कर विधानसभा चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस ने मप्र में सरकार बनाने के बाद बदलाव के कई कदम उठाए हैं। ये राजनीतिक भी है, रणनीतिक भी और कई समीकरणों को साधने वाले...

शिवराज, राकेश और भार्गव की तिकड़ी के मुकाबले नाथ-दिग्‍गी की जोड़ी

शिवराज, राकेश और भार्गव की तिकड़ी के मुकाबले नाथ-दिग्‍गी की जोड़ी

मिशन 2019 की औपचारिक घोषणा हो गई है। मप्र में चार चरणों में मतदान होगा। इसका अर्थ यह हुआ कि दोनों ही प्रमुख दलों कांग्रेस और भाजपा को प्रचार के लिए अपनी ताकत को उचित रूप से विभाजित...

इन दो मासूमों की क्रूर हत्या करने वालों की गैंग में हम भी शामिल है

मीडियावाला.इन। इन बच्चों के चेहरे पर जितनी मासूमियत है, उतने ही क्रूर तरीके से इन बच्चों की हत्या की गई है। दो मासूमों को पहले मारा और फिर जंजीर से बांधकर नदी में फेंक दिया। इतने ही क्रूर तरीके...

कमलनाथ:मध्यप्रदेश में यह प्रशासनिक वर्क कल्चर बदलने का दौर है

वीडियोवाला.इन मप्र में कांग्रेस सरकार को बने दो माह हो चुके हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने लक्ष्य के अनुसार तेजी से काम कर रहे हैं। मंत्रियों ने भी अपनी लय पकड़ ली है। मगर, सबसे अधिक बदलाव ब्यूरोक्रेसी के वर्क कल्चर...

दीपक बावरिया: पटरी पर लौट रही कांग्रेस में फूट का पेंच क्यों फंसा रहे?

मीडियावाला.इन। दीपक बा‍वरिया : पटरी पर लौट रही कांग्रेस में फूट का पेंच क्‍यों फंसा रहे?// पंकज शुक्‍ला कुछ माह पहले तक सूने-सूने रहने वाले प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में रंगत लौट आई है। यह रंगत सत्‍ता में वापसी की...

बाबूलाल गौर को प्रासंगिक बने रहना आता है

बाबूलाल गौर को प्रासंगिक बने रहना आता है

मीडियावाला.इन।     उनके प्रतिस्‍पर्धियों को उनकी किस्‍मत से रश्‍क होता है। कई लोग हद की सीमा तक ईर्ष्‍या कर सकते हैं। वे कई राजनेताओं की आंखों में खटकते हैं मगर उनका कुछ बिगाड़ पाने में स्‍वयं...

सचिन यादव: वचन पत्र तो सिर्फ रास्‍ता, खेती की मूल समस्‍या निपटाना बने लक्ष्य

सचिन यादव: वचन पत्र तो सिर्फ रास्‍ता, खेती की मूल समस्‍या निपटाना बने लक्ष्य

मीडियावाला.इन। मप्र में नई सरकार है और मुख्‍यमंत्री कमलनाथ सहित सभी मंत्री कांग्रेस के वचन पत्र में किए गए वादों को पूरा करने में जुटे हैं। चुनावी वादों में तो आमतौर पर लोकप्रिय घोषणाएं ही की जाती हैं...

विधानसभा विशेष : एनपी का जीत जाना, भाजपा की चूक या कांग्रेस की रणनीतिक विजय…?

विधानसभा विशेष : एनपी का जीत जाना, भाजपा की चूक या कांग्रेस की रणनीतिक विजय…?

अंतत: कांग्रेस विधायक नर्मदा प्रसाद प्रजापति एनपी 15 वीं विधानसभा के अध्‍यक्ष चुन लिए गए। भाजपा नियमों में ऐसी उलझी कि उसे अपने प्रत्‍याशी का प्रस्‍ताव रखने का मौका तक न मिला। खीज कर भाजपा विधायक दल सड़क...

आईएएस मोहंती : तब ‘विजन’ दिया था, अब ‘वचन’ पूरा करने बन सकते हैं सारथी 

आईएएस मोहंती : तब ‘विजन’ दिया था, अब ‘वचन’ पूरा करने बन सकते हैं सारथी 

मीडियावाला.इन।  मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ जब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए गए थे तब उनकी कार्ययोजना के बारे में कई सवाल हुए थे। वे हर सवाल के उत्तर में यही कहा करते थे कि मेरे पास वक्त कम...

सर्टिफिकेट में तब्दील होती प्रशंसा के दौर में कलेक्टर का दिल छूता खत

सर्टिफिकेट में तब्दील होती प्रशंसा के दौर में कलेक्टर का दिल छूता खत

अपनी प्रशंसा सुनना हमारी प्रसन्नता का स्थाई भाव है। परिश्रम के बाद मुखिया द्वारा कहे गए प्रशंसा के दो बोल सफर के सारे कष्ट को सुकून के पलों में बदल देता है। थकान कपूर सी काफूर हो जाती...

कांग्रेस की त्रयी में नाथ-दिग्‍गी ने लंबी खिंची रेखा, सिंधिया क्यों पिछड़े?

कांग्रेस की त्रयी में नाथ-दिग्‍गी ने लंबी खिंची रेखा, सिंधिया क्यों पिछड़े?

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पूरी ताकत एकत्रित कर भाजपा को चुनौती देने में जुटी है। मई में प्रदेश अध्‍यक्ष का पद संभालने के बाद से अब तक कमलनाथ लगातार कह रहे हैं कि यह करो या मरो का...

कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ जयस के एजेंडे को कायम रख पाने की चुनौती

कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ जयस के एजेंडे को कायम रख पाने की चुनौती

जन आदिवासी युवा शक्ति (जयस) के अध्‍यक्ष डॉ. हीरालाल अलावा कांग्रेस के टिकट पर मनावर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेगे...। कांगेस की पहली सूची में अलावा का नाम देख उनके ही संगठन के पदाधिकारियों में नाराजी छा गई।...

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

चुनावी दंगल : हकों का लॉलीपॉप देने वाले दलों के पास समानता का रोडमैप नहीं

मप्र में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। अब अगले दो माह चुनाव प्रचार का शोर होगा। जीत का जश्‍न होगा, हार पर आगे बढ़ने का संकल्‍प होगा। कुछ मुद्दे इन दिनों पर भारी होंगे और ये...

सपाक्‍स आंदोलन : क्‍या सरसों के फूल खिलेंगे?

सपाक्‍स आंदोलन : क्‍या सरसों के फूल खिलेंगे?

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश में 2018 के अंत में विधानसभा चुनाव होना है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह की भोपाल यात्रा के साथ भाजपा तो कांग्रेस के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी के मप्र दौरों के साथ...

भव्‍य भाजपा : दीनदयाल के अंत्‍योदय के साथ आधुनिक भव्‍यता की कदमताल

भव्‍य भाजपा : दीनदयाल के अंत्‍योदय के साथ आधुनिक भव्‍यता की कदमताल

इटेलियन टाइल्‍स, महंगे झूमर और लाइट, परिसर और भवन के प्रवेश कक्ष में फव्वारा, पूरी तरह एयर कंडीशन्‍ड इमारत,सीसीटीवी कैमरे की निगरानी,400 कार्यकर्ताओं की बैठक क्षमता का ऑडिटोरियम, सह संगठन मंत्री समेत जिला,ग्रामीण अध्यक्ष के कक्ष, अतिथि विश्राम...