Wednesday, June 26, 2019

Blog

डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी

डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी जाने-माने पत्रकार और ब्लॉगर हैं। वे हिन्दी में सोशल मीडिया के पहले और महत्वपूर्ण विश्लेषक हैं। जब लोग सोशल मीडिया से परिचित भी नहीं थे, तब से वे इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। पत्रकार के रूप में वे 30 से अधिक वर्ष तक नईदुनिया, धर्मयुग, नवभारत टाइम्स, दैनिक भास्कर आदि पत्र-पत्रिकाओं में कार्य कर चुके हैं। इसके अलावा वे हिन्दी के पहले वेब पोर्टल के संस्थापक संपादक भी हैं। टीवी चैनल पर भी उन्हें कार्य का अनुभव हैं। कह सकते है कि वे एक ऐसे पत्रकार है, जिन्हें प्रिंट, टेलीविजन और वेब मीडिया में कार्य करने का अनुभव हैं। हिन्दी को इंटरनेट पर स्थापित करने में उनकी प्रमुख भूमिका रही हैं। वे जाने-माने ब्लॉगर भी हैं और एबीपी न्यूज चैनल द्वारा उन्हें देश के टॉप-10 ब्लॉगर्स में शामिल कर सम्मानित किया जा चुका हैं। इसके अलावा वे एक ब्लॉगर के रूप में देश के अलावा भूटान और श्रीलंका में भी सम्मानित हो चुके हैं। अमेरिका के रटगर्स विश्वविद्यालय में उन्होंने हिन्दी इंटरनेट पत्रकारिता पर अपना शोध पत्र भी पढ़ा था। हिन्दी इंटरनेट पत्रकारिता पर पीएच-डी करने वाले वे पहले शोधार्थी हैं। अपनी निजी वेबसाइट्स शुरू करने वाले भी वे भारत के पहले पत्रकार हैं, जिनकी वेबसाइट 1999 में शुरू हो चुकी थी। पहले यह वेबसाइट अंग्रेजी में थी और अब हिन्दी में है। 


डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी ने नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर एक किताब भी लिखी, जो केवल चार दिन में लिखी गई और दो दिन में मुद्रित हुई। इस किताब का विमोचन श्री नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के एक दिन पहले 25 मई 2014 को इंदौर प्रेस क्लब में हुआ था। इसके अलावा उन्होंने सोशल मीडिया पर ही डॉ. अमित नागपाल के साथ मिलकर अंग्रेजी में एक किताब पर्सनल ब्रांडिंग, स्टोरी टेलिंग एंड बियांड भी लिखी है, जो केवल छह माह में ही अमेजॉन द्वारा बेस्ट सेलर घोषित की जा चुकी है। अब इस किताब का दूसरा संस्करण भी आ चुका है। 

वह काला अध्याय और आनेवाला दौर

वह काला अध्याय और आनेवाला दौर

मीडियावाला.इन। आपातकाल की बरसी , 25 जून के लिए विशेष  आपातकाल स्वतंत्र भारत के लोकतांत्रिक इतिहास की सबसे प्रमुख घटना है आपातकाल। 25 जून 1975 की रात को वह लागू किया गया था,...

इंटरवल तक झेलनीय, फिर पकाऊ ‘कबीर सिंह’

इंटरवल तक झेलनीय, फिर पकाऊ ‘कबीर सिंह’

mediawala.in कबीर सिंह देखकर निकलते वक्त दो दर्शक बात कर रहे थे कि बन गए ना ट्रेलर देखकर उल्लू। 3 घंटे पका दिया। तेलुगु फिल्म अर्जुन रेड्डी का रिमेक कबीर सिंह बेहद इरीटेटिंग फिल्म है। पता नहीं तेलुगु में यह...

आईपीएस संजीव भट्ट को उम्र कैद के फैसले से उबल पड़ा सोशल मीडिया

आईपीएस संजीव भट्ट को उम्र कैद के फैसले से उबल पड़ा सोशल मीडिया

मीडियावाला.इन। गुजरात के जामनगर की अदालत ने बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट और उनके सहयोगी को हिरासत में मौत के एक पुराने मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। मामला 1990 का है, तब संजीव भट्ट जामनगर...

पाकिस्तानी सोशल मीडिया एक्टिविस्ट  मुहम्मद बिलाल खान की हत्या

पाकिस्तानी सोशल मीडिया एक्टिविस्ट मुहम्मद बिलाल खान की हत्या

मीडियावाला.इन। पाकिस्तानी सोशल मीडिया एक्टिविस्ट और ब्लॉगर मुहम्मद बिलाल खान की रविवार रात इस्लामाबाद में हत्या कर दी गई। पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार  बिलाल खान सेना के आलोचक थे।   इस्लामाबाद के पुलिस अधीक्षक सदर मलिक नईम ने कहा...

मार्क जुकेरबर्ग के बच्चों के फोटो देखें हैं कभी फेसबुक पर?

मार्क जुकेरबर्ग के बच्चों के फोटो देखें हैं कभी फेसबुक पर?

मीडियावाला.इन। माय_हैशटैग  वरिष्ठ पत्रकार डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी का लोकप्रिय नियमित कॉलम 'माय हैशटैग' अब सिर्फ़ मीडियावाला में। इस कॉलम के जरिये आप सबसे पहले मीडियावाला पर जान सकेंगें कि सोशल मीडिया में क्या चल...

अति, अति, अति नाटकीय : भारत

अति, अति, अति नाटकीय : भारत

मीडियावाला.इन। सलमान खान की भारत में अति की भी अति कर दी गई है। इमोशन की अति, रोमांस की अति, देश प्रेम की अति, सांप्रदायिक सौहार्द्र की अति, स्लो मोशन की अति, एक्शन की अति, ट्रेजेडी की अति, फ्लैशबैक की...

वर्ष की महान ‘धार्मिक’ फिल्म पीएम नरेन्द्र मोदी

वर्ष की महान ‘धार्मिक’ फिल्म पीएम नरेन्द्र मोदी

मीडियावाला.इन। अच्छा हुआ कि चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के पहले फिल्म पीएम नरेन्द्र मोदी के प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी, वरना एनडीए को इतने वोट नहीं मिलते। विवेक ओबेरॉय किसी कोण से नरेन्द्र मोदी नहीं लगते...

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

‘दे दे प्यार दे’... नो थैंक्स

उथली कहानी, छिछला मनोरंजन। अजय देवगन, तबु और रकुल प्रीत सिंह की दे दे प्यार दे फिल्म को कॉमेडी रोमांस फिल्म कहा जा रहा है, लेकिन इसमें कॉमेडी का पार्ट उतना ही है, जितना इसके प्रोमो में दिखाया...

नरेन्द्र मोदी और भाजपा के इमेज मेकर्स

नरेन्द्र मोदी और भाजपा के इमेज मेकर्स

सन 2013 से राजेश जैन भारतीय जनता पार्टी के इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी रणनीतिज्ञ हैं। उन्होंने ही सबसे पहले फेसबुक और वाट्सएप का उपयोग भाजपा के प्रचार में करना शुरू किया। यह भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का काम रहा...

प्रकृति के करीब केरल का जटायु पर्वत

प्रकृति के करीब केरल का जटायु पर्वत

मीडियावाला.इन। केरल में एक नया पर्यटन स्थल विकसित हुआ है, जो विश्व में तीर्थ स्थल की जगह ले सकता है। यह है जटायु अर्थ्स सेंटर। हिन्दी में इसे जटायु पर्वत कहना ज्यादा सही लगता है। इस स्थान पर...

पीरियड (कॉस्ट्यूम) ड्रामा के नाम पर ‘कलंक’

पीरियड (कॉस्ट्यूम) ड्रामा के नाम पर ‘कलंक’

फिल्म प्रमाणन बोर्ड को ‘पी’ सर्टिफिकेट भी देना चाहिए, जिसका अर्थ होगा - ‘पकाऊ’। कलंक कोई पीरियड ड्रामा नहीं, बल्कि पीरियड कॉस्ट्यूम ड्रामा फिल्म है। दर्जियों को यह फिल्म बहुत पसंद आएगी। बॉलीवुड की फिल्मों का स्तर दिन...

सट्टे के धंधे पर ज़िंदा है आईपीएल की इकॉनोमी 

सट्टे के धंधे पर ज़िंदा है आईपीएल की इकॉनोमी 

भारत और पाकिस्तान की सीमाओं पर ही तनाव नहीं है। तनाव क्रिकेट में ही है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद इस तरह की मांग हो रही है कि पाकिस्तान के साथ क्रिकेट न खेला जाएं। आईपीएल में पाकिस्तानी...

सोशल मीडिया पर माता-पिता को सबक सीखा रहे है बच्चे

सोशल मीडिया पर माता-पिता को सबक सीखा रहे है बच्चे

मीडियावाला.इन। आमतौर पर माता-पिता बच्चों को शिक्षा देते रहते है और कई बार सजा भी देते है, लेकिन सोशल मीडिया के जमाने में अब बच्चे अपने माता-पिता को सबक सीखा रहे है। वे सोशल मीडिया पर अपने माता-पिता...

तथ्यों और कल्पनाओं का घालमेल

तथ्यों और कल्पनाओं का घालमेल

द ताशकंद फाइल्स का डायलॉग है - ट्रूथ इज़ ए लग्ज़री। फिल्म यह लग्जरी बर्दाश्त नहीं कर पाई। दूसरे डायलाॅग भी कम दिलचस्प नहीं है। जैसे टीवी के सामने बोलने के लिए नहीं, चुप रहने के लिए...

साफ-सुथरी और खूबसूरत ‘नोटबुक’

साफ-सुथरी और खूबसूरत ‘नोटबुक’

मीडियावाला.इन।  सलमान खान प्रोडक्शन की नोटबुक काश्मीर की पृष्ठभूमि पर बनी एक ऐसी फिल्म है, जो पुराने जमाने की रोमांटिक फिल्मों की याद दिलाती है, लेकिन फिर भी फिल्म में ताजगी और नयापन है। श्रीनगर की डल झील...

फोटोग्राफ फिल्म नहीं, आपके धीरज की परीक्षा है

फोटोग्राफ फिल्म नहीं, आपके धीरज की परीक्षा है

नवाजुद्दीन सिद्दीकी और दंगल गर्ल सानिया मल्होत्रा की फोटोग्राफ फिल्म नहीं, आपके धीरज की परीक्षा है। फिल्म इतनी मंथर गति से चलती है कि अगर आप नींद में हो तो ही इसे पसंद कर सकते हैं। गेट वे...

शानदार एक्शन थ्रिलर ‘बदला’

शानदार एक्शन थ्रिलर ‘बदला’

मीडियावाला.इन। फिल्म बदला एक मर्डर बेस्ड डाॅक्यु-ड्रामा है। एक वकील और उसकी युवा, सुंदर, पढ़ी-लिखी, पावरफुल और अनैतिक कार्य करने वाली मुवक्किल के बीच। तमाम झोल के बावजूद फिल्म लगभग 2 घंटे दर्शकों को बांधे रखती है और...

बच्चों के लिए खतरनाक है यह ऐप

बच्चों के लिए खतरनाक है यह ऐप

मीडियावाला.इन।  कानून विशेषज्ञों का मानना है कि बच्चों के लिए कुछ मोबाइल ऐप बहुत ही खतरनाक है। अगर आपके करीबी किसी बच्चे ने ये ऐप अपने मोबाइल में अपलोड कर रखे हो, तो कोशिश कीजिए कि उन्हें...

आ ही गया गली बॉय का टाइम

आ ही गया गली बॉय का टाइम

गली बॉय फिल्म का गाना है अपना टाइम आएगा, नंगा ही तू आएगा, क्या घंटा लेकर जाएगा। फिल्म देखकर लगता है कि वाकई रणवीर सिंह, आलिया भट्ट और जोया अख्तर का टाइम आया हुआ है। भारत में भले...

सोशल मीडिया स्टार बना अल सल्वाडोर का राष्ट्रपति

सोशल मीडिया स्टार बना अल सल्वाडोर का राष्ट्रपति

अल सल्वाडोर में सोशल मीडिया के स्टार की जीत राष्ट्रपति चुनाव में होना सोशल मीडिया के बढ़ते महत्व को बताता है। हाल ही हुए राष्ट्रपति चुनाव में 37 वर्ष के नायिब बुकेले को बहुमत मिला है। बुकेले इसके...