Wednesday, February 20, 2019

कॉलम / नजरिया

कश्मीर: यह काफी नहीं

कश्मीर: यह काफी नहीं

मीडियावाला.इन।   पुलवामा के आतंकी हमले के 100 घंटे के अंदर ही हमारी फौज ने जैश-ए-मुहम्मद के कमांडर कामरान और गाजी रशीद समेत एक और आतंकी को मार गिराया। बहादुरी के इस कारनामे ने भारत के घावों पर...

एक अधूरा सा I LOVE YOU

एक अधूरा सा I LOVE YOU

टीवी से दूरी बनाकर चल रही हूं....न्यूज चैनल का उन्माद चिढ़ पैदा कर रहा है....लेकिन आज कुछ मिनटों की न्यूज में देखा निकिता जी का चेहरा जेहन से जा ही नहीं रही...ना ही भूल पा रही हूं उनका...

यहां व्यक्ति विशेष को नहीं बल्कि पूरे यूनिट को अतुल्य दक्षता,वीरता,साहस और कर्मण्यता की वजह से पुरस्कृत किया जाता है

यहां व्यक्ति विशेष को नहीं बल्कि पूरे यूनिट को अतुल्य दक्षता,वीरता,साहस और कर्मण्यता की वजह से पुरस्कृत किया जाता है

उधमपुर आए कोई 3 महीने हुए थे| अपार नैसर्गिक सौंदर्य, मां वैष्णो देवी के सानिध्य में एक अद्भुत शांति और आध्यात्मिक आनंद का अनुभव और कुछ पुराने- नए मित्रों से मेल-मिलाप में कुछ ऐसा सहज और अनुकूल वातावरण...

युद्ध से ज्यादा त्रासद है सड़क का हादसा

युद्ध से ज्यादा त्रासद है सड़क का हादसा

मीडियावाला.इन।   देश में आदमी की जान की कीमत कुछ भी नहीं है.सड़क पर मरे तो बिलकुल भी नहीं .शायद इसीलिए सड़क पर होने वाली मौतों के प्रति हमारी संवेदना न जाने कब की मर चुकी है .राज्य...

मोदी की बॉडी लैंग्वेज से बड़ी कार्रवाई के संकेत

मोदी की बॉडी लैंग्वेज से बड़ी कार्रवाई के संकेत

मीडियावा. इन पुलवामा में आतंकी घटना से देश सिहर गया है। आक्रोश, गुस्से से हर एक की धमनियों में खून खौल रहा है। जम्मू-कश्मीर के हुर्रियत नेताओं, अलगाववादियों की सुरक्षा हटाकर आम आदमी की गाढ़ी कमाई पर एेश करने...

कमलनाथ:मध्यप्रदेश में यह प्रशासनिक वर्क कल्चर बदलने का दौर है

कमलनाथ:मध्यप्रदेश में यह प्रशासनिक वर्क कल्चर बदलने का दौर है

वीडियोवाला.इन मप्र में कांग्रेस सरकार को बने दो माह हो चुके हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने लक्ष्य के अनुसार तेजी से काम कर रहे हैं। मंत्रियों ने भी अपनी लय पकड़ ली है। मगर, सबसे अधिक बदलाव ब्यूरोक्रेसी के वर्क कल्चर...

आतंकवाद: बात और लात,दोनों चले

आतंकवाद: बात और लात,दोनों चले

मीडियावाला.इन कश्मीर में हमारे लगभग 50 जवानों की हत्या ने देश को ऐसा दहला दिया है कि अनेक परस्पर विरोधी नेता भी आज एक स्वर में बोल रहे हैं। यह वक्त इतना नाजुक है कि भारत सरकार जो भी कदम...

ऊंट पर बैठकर हड़बड़ी में हो रही गौ-रक्षा

ऊंट पर बैठकर हड़बड़ी में हो रही गौ-रक्षा

मीडियावाला.इन हमारे बच्चे अपनी किताब-कापियों में जरूर पढ़ते-लिखते हैं कि-गाय एक पालतू जानवर है.इसके पालतू और उपयोगी होने से भी बहुत-बहुत आगे तक की बातें,हमें सिखाई और पढ़ाई जाती रही हैं.लेकिन,पिछले लगभग ढाई सौ सालों से,अपने देश में,गाय बाकी सबके ...

मोमबत्ती में जला रहे हैं अपनी बेबसी

मोमबत्ती में जला रहे हैं अपनी बेबसी

मीडियावाला.इन। बहुत हंसी उड़ाई जा रही है। मोमबत्ती गैंग फिर आ गई सडक़ों पर। सवाल उठाए जा रहे हैं, क्या हो जाएगा इससे। लोग तैयार होकर आ रहे हैं, बैनर उठा रहे हैं, फोटो खिंचवाकर सोशल मीडिया पर डाल रहे...

शहादत

शहादत

  1. वह बहुत छोटी थी। पता भी नहीं था कि कुछ दिन पहले बक्से में सामान भरकर ड्यूटी पर गए पिता को क्यों इस तरह बक्से में लाया गया है। वह परिवार को रोते-बिलखते देखती रही। समझ नहीं...

पुलवामा हमला: समस्या और समाधान

पुलवामा हमला: समस्या और समाधान

मीडियावाला.इन   छद्म युद्ध : पाकिस्तान समर्थित आतंकियों ने लगभग तीन दशकों से जम्मू कश्मीर को युद्धक्षेत्र में बदल दिया है। सैन्य बलों ने समस्या पर काफी हद तक काबू पा लिया है और जम्मू और लद्दाख क्षेत्र पूरी...

आतंकवाद की गर्भनाल पर प्रहार करो

आतंकवाद की गर्भनाल पर प्रहार करो

मीडियावाला।इन    "कल सपने में इन्दिराजी दिखी थीं। रक्षा मंत्रालय के वाँर रूम में  इस्पात से दमकते चेहरे के साथ युद्ध का संचालन करते हुए।  दृश्य 1971 के युद्ध के दिख रहे थे। ढाका में पाकिस्तान का जनरल...

दिखाएं अब 56 इंच का सीना

दिखाएं अब 56 इंच का सीना

मीडियावाला.इन। कश्मीर में हुए 44 जवानों के बलिदान ने देश का दिल दहला दिया है। लोग चाहते हैं कि इस खून का बदला खून से लिया जाए। इतना ही नहीं, आतंकवाद को जड़ से उखाड़ दिया जाए लेकिन इस...

इस शहादत की कीमत कौन चुकाएगा ?

इस शहादत की कीमत कौन चुकाएगा ?

पुलवामा में सीआरपीएफ के 42  जवानों की नृशंस हत्या को खून का घूँट समझकर नहीं पिया जा सकता .इस नृशंसता की कीमत भी वसूल करना होगी और इसका समुचित जबाब भी देना होगा ,ये जिम्मेदारी हमारे हुक्मरानों की है...

पत्रकार होना बहुत आसान लेकिन बापना जैसा परोपकारी होना मुश्किल

पत्रकार होना बहुत आसान लेकिन बापना जैसा परोपकारी होना मुश्किल

मीडियावाला.इन। पत्रकार तो बहुत हैं और होते भी रहेंगे लेकिन महेंद्र बापना जैसा परोपकारी पत्रकार फिलहाल तो नजर नहीं आता। वो इतने सस्ते में चला जाएगा विश्वास नहीं होता।एक्सीडेंट भी होते रहते हैं महीनों बेड पर रहता या...

किस पर हमला करें और किसे श्रद्धांजलि दें

किस पर हमला करें और किसे श्रद्धांजलि दें

मीडियावाला.इन। पुलवामा हमले के बाद कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने स्वीकार किया है कि हमसे बड़ी भूल हुई है। इंटेलिजेंस की सूचना के बाद अगर हाई वे की अच्छी तरह से चौकसी की जाती तो शायद यह सब...

किस पर हमला करें और किसे श्रद्धांजलि दें

किस पर हमला करें और किसे श्रद्धांजलि दें

मीडियावाला.इन। पुलवामा हमले के बाद कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने स्वीकार किया है कि हमसे बड़ी भूल हुई है। इंटेलिजेंस की सूचना के बाद अगर हाई वे की अच्छी तरह से चौकसी की जाती तो शायद यह सब नहीं...

आ ही गया गली बॉय का टाइम

आ ही गया गली बॉय का टाइम

गली बॉय फिल्म का गाना है अपना टाइम आएगा, नंगा ही तू आएगा, क्या घंटा लेकर जाएगा। फिल्म देखकर लगता है कि वाकई रणवीर सिंह, आलिया भट्ट और जोया अख्तर का टाइम आया हुआ है। भारत में भले...

लोकतंत्र को न बनाएं मजाक तंत्र

लोकतंत्र को न बनाएं मजाक तंत्र

  मीडियावाला.इन देश की राजनीति किधर जा रही है ? कोई विपक्षी नेता प्रधानमंत्री को चोर और दलाल कहता है तो सत्तारुढ़ नेता अपने विपक्षी नेताओं को भ्रष्ट, भौंदू, मंदमति आदि क्या-क्या नहीं कह रहे हैं। देश के बड़े-बड़े...

कमलनाथ की कार्यशैली:सख्त फैसले और सबको साथ लेकर चलने का अंदाज़

कमलनाथ की कार्यशैली:सख्त फैसले और सबको साथ लेकर चलने का अंदाज़

मीडियावाला.इन मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार को दो महीने हो गए! इन दौरान बहुत कुछ घट गया। सरकार के अंदर भी और बाहर भी! बहुमत के किनारे पर बैठी सरकार को गिराने के बहुत...