Thursday, September 19, 2019

कॉलम / नजरिया

अब तो देखें कि'कम्युनिकेशन गैप' है कहाँ 

अब तो देखें कि'कम्युनिकेशन गैप' है कहाँ 

मीडियावाला.इन।   अभी पिछले हफ्ते'विश्व पर्यावरण दिवस'था.उसके चार दिन पहले 'विश्व दूध दिवस'था.इसके पहले,लगे-लगे महीनों में 'विश्व पृथ्वी दिवस','विश्व पानी दिवस' और 'विश्व वन्य प्राणी दिवस'थे. साफ़ साफ़ कहें तो ये सब वार्षिक कर्मकांड से...

संयुक्त परिवारों में बच्चों के यौन शोषण का खतरा ज्यादा!

संयुक्त परिवारों में बच्चों के यौन शोषण का खतरा ज्यादा!

मीडियावाला.इन।  बच्चों के यौन शोषण की अधिकांश घटनाएं 'परिवारों' में होती है। वास्तव में ये अबूझ पहेली है और सामाजिक रूप से एक बड़ा खतरा भी! ऐसी घटनाओं में पिता, चाचा, मौसा, भाई, चचेरा भाई या...

चुनाव में जातिवाद का घटता प्रभाव

चुनाव में जातिवाद का घटता प्रभाव

mediawala.in                                    लोक सभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में इस भाग में मैं राजनीति में जातिवाद के ह्रास की ओर ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूँ। भारत का बहुसंख्यक हिंदू समाज हज़ारों वर्षों से जातियों में विभक्त रहा है और भारत की...

भारत: कायम है सलमान का जादू

भारत: कायम है सलमान का जादू

मीडियावाला.इन। सलमान की फ़िल्मों के बारे में लिखते हुए मैं थोड़ा पूर्वागृही हो ही जाता हूँ | भद्रलोक के आभामंडल से आने वाले नायकों से इतर सलमान की छवि आम आदमी के बीच से उठने वाले नायक की है ,...

आखिर कब तक हम शर्मसार होते रहेंगे ?

आखिर कब तक हम शर्मसार होते रहेंगे ?

मीडियावाला.इन। जेसिकालाल से लेकर निर्भया और अब ऐसी अनेक घटनाएं ,भूलिए मत इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली कठुआ और उन्नाव गैंग रेप की घटनाओं से लेकर इन दिनों देश में हो रही घटनाओं पर नजर डालिए, ...

पाकिस्तान से बात शुरू करें

पाकिस्तान से बात शुरू करें

मीडियावाला.इन। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर को पत्र लिखे हैं। उन्होंने दोनों देशों के बीच बातचीत की पहल की है। दोनों ने कहा...

किसी रोते हुए बच्चे को हंसाया जाए....

किसी रोते हुए बच्चे को हंसाया जाए....

मीडियावाला.इन। रमजान का माह कितना मुकद्दस होता है...बचपन में अपने करीबियों के साथ जिया है इसे इसलिए कहती हूं "सबकी मीठी ईद में कड़वाहट घोलने का हक एक क्रूर हैवान को कैसे दिया जा सकता है।"अलीगढ़ में ढ़ाई साल...

ट्विंकल और आसिफा से उठे सवाल

ट्विंकल और आसिफा से उठे सवाल

मीडियावाला.इन। ट्विंकल और आसिफा जैसी बच्चियों से जो घिनौने कांड हुए उनसे रूह कांप उठती है । हालांकि ये पहले या आखिरी कांड नहीं हैं । दिल्ली की निर्भया से लेकर जेसिका लाल तक कितनी तरह के कांड सामने आते...

क्या आगे पीछे हाशिए पर धकेले जाएंगे राजनाथ

क्या आगे पीछे हाशिए पर धकेले जाएंगे राजनाथ

मीडियावाला.इन। क्या मोदी - शाह और राजनाथ के बीच विश्वास की कमी है? क्या राजनाथ का कांटा मोदी को एक न एक दिन निकालना ही है? क्या आगे पीछे हाशिए पर धकेले जाएंगे राजनाथ? क्या प्रधानमंत्री...

पीके की शरण में दीदी

पीके की शरण में दीदी

मीडियावाला.इन। एक पीके वह था, जो फिल्म में किसी दूसरे ग्रह से आया था। उसने सवाल उठाए और समझ के दायरे को बढ़ाने की कोशिश की। अहसास कराया कि दुनिया उतनी छोटी भी नहीं, जितनी अपनी-अपनी आंख और समझ से...

'डेंजर जोन' में कमलनाथ

'डेंजर जोन' में कमलनाथ

मीडियावाला.इन। मेरे इस आलेख से भक्तगण खुश हो सकते हैं क्योंकि मै इसमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की खबर लेने जा रहा हूँ।आगामी १३ जून को कमलनाथ को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद सम्हाले छह महीने पूरे हो जायेंगे ।इन...

अति, अति, अति नाटकीय : भारत

अति, अति, अति नाटकीय : भारत

मीडियावाला.इन। सलमान खान की भारत में अति की भी अति कर दी गई है। इमोशन की अति, रोमांस की अति, देश प्रेम की अति, सांप्रदायिक सौहार्द्र की अति, स्लो मोशन की अति, एक्शन की अति, ट्रेजेडी की अति, फ्लैशबैक की...

भारत - पाक: दोनों की ज्यादती

भारत - पाक: दोनों की ज्यादती

मीडियावाला.इन। इस्लामाबाद के भारतीय दूतावास में ऐसा क्या हो रहा था, जिसे नाकामयाब करने के लिए पाकिस्तानी फौज और गुप्तचर विभाग ने अपने जवानों को अड़ा दिया। वहां 1 जून को और कुछ नहीं, बस एक इफ्तार पार्टी हो रही...

Postcard war: ये जंग नहीं आसां बस इतना समझ लीजे 

Postcard war: ये जंग नहीं आसां बस इतना समझ लीजे 

मीडियावाला.इन। सियासत बड़ी हरजाई होती है.बंगाल में सियासत अब पोस्टकार्डों पर केंद्रित हो गयी है.आम चुनाव के दौरान भाजपा और तृमूकां के बीच उपजी कड़वाहट अब बैमनष्य में बदल गयी ही .अब पार्टियां मुद्दों पर नहीं अ-मुद्दों पर पोस्टकार्डों के...

बंगाली सत्ता में सेंध मारने में अव्वल रहे इंदौर के 'भाई'

बंगाली सत्ता में सेंध मारने में अव्वल रहे इंदौर के 'भाई'

मीडियावाला.इन।  इस बात को करीब तीन दशक हो गए जब लोग इंदौर की एलआईजी कॉलोनी के चौराहे पर केशरिया दुपट्टा डाले एक नेता को अकसर देखते थे! तब वे स्कूटर के पीछे बैठे नजर आते थे!...

बादलों का शगुन

बादलों का शगुन

मीडियावाला.इन। रोज की तरह वैसी ही तपती दोपहर थी कि अचानक दोनों की नजर मिली। धरती ने तड़पती निगाहों से आसमां की तरफ देखा तो उसका दिल भर आया। मुद्दत हुई मुलाकात को तो दो प्रेमियों का यूं बेसब्र हो...

तुमड़ा गांव में घुसा 9 फीट लंबा मगरमच्छ

तुमड़ा गांव में घुसा 9 फीट लंबा मगरमच्छ

मीडियावाला.इन। नीमच। जिले की मनासा तहसील के गांव तुमड़ा गांव में एक 9 फीट लंबा मगरमच्छ खेतों के रास्ते से होते हुए गांव में जा रहा था। इसे देख ग्रामीण घबरा गए और वहां भगदड़ मच गई। मगरमच्छ गांव...

गंगोत्री से ही मैली होती आ रही दूध की गंगा

गंगोत्री से ही मैली होती आ रही दूध की गंगा

मीडियावाला.इन। पिछले हफ्ते,मध्यप्रदेश में किसानों की हड़ताल के दौरान,आंदोलनकारी किसानों द्वारा भोपाल के पास मिसरोद गाँव में किसी एक किसान को दूध से नहलाने का चित्र भी अखबारों में छपा था.उसके पहले,गाँवों से शहर की तरफ आ रहे दूध के...

त्रिभाषा का पाखंड, द्विभाषा लाइए

त्रिभाषा का पाखंड, द्विभाषा लाइए

मीडियावाला.इन।   देश की नई शिक्षा नीति का जो प्रारुप नए शिक्षा मंत्री को सौंपा गया है, उसका तमिलनाडु में तगड़ा विरोध शुरु हो गया है। अभी वह प्रारुप ही है। वह अभी तक भारत सरकार की नीति...

राहत की राजनीति काफी नहीं

राहत की राजनीति काफी नहीं

मीडियावाला.इन। नए मंत्रिमंडल का स्वागत करने में देश के लोग खुशी मना रहे थे, उसी समय खबर आई कि इस समय देश में बेरोजगारी की दर 45 साल में आज सबसे ज्यादा है याने 6.1 प्रतिशत है। शहरों में 7.8...