Wednesday, September 18, 2019

कॉलम / नजरिया

पत्रकारों को एक्सक्लूसिव खबर देने वाले, सबके चहेते वरिष्ठ आईपीएस एनके त्रिपाठी,आज जन्मदिन पर विशेष

पत्रकारों को एक्सक्लूसिव खबर देने वाले, सबके चहेते वरिष्ठ आईपीएस एनके त्रिपाठी,आज जन्मदिन पर विशेष

मीडियावाला.इन। मेरे प्रशासनिक सेवा काल में ऐसे कुछ ही लोग आए हैं जिनका मेरे जीवन पर एक अलग प्रभाव पड़ा है , श्री एन के त्रिपाठी साहब उनमें से एक हैं।  ये एक संयोग ही था कि...

शिक्षानीति को चौराहे की कुतिया बनाने वाले!

शिक्षानीति को चौराहे की कुतिया बनाने वाले!

मीडियावाला.इन। तीज त्योहारों की तरह हर साल शिक्षक दिवस भी आता है। पूजाआराधना में जैसे गोबर की पिंडी को गणेश मानकर पूज लिया जाता है वैसे ही एक दिन के लिए सभी गोबर गणेश बन जाते हैं। यह एक...

साधना के अभिनय का वो यादगार दौर

साधना के अभिनय का वो यादगार दौर

मीडियावाला.इन।  भारत के विभाजन से अनेक पंजाबी,सिंधी,उर्दू भाषी मुम्बई आ बसे।इनमें बहुत से फ़िल्म जगत में रोजगार तलाशने में लग गए।ऐसा ही एक परिवार था शिवदासानी परिवार।शेवाराम और लीलादेवी के बिटिया सायन की कच्चे मकानों की बस्ती से निकलकर...

उमंग के इस राजनीतिक दुस्साहस के निहितार्थ को समझिए!

उमंग के इस राजनीतिक दुस्साहस के निहितार्थ को समझिए!

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश में धार जिले की धारदार राजनीति हमेशा चौंकाती रही है! न सिर्फ कांग्रेस में, बल्कि भाजपा में भी इस जिले से कई मुखर नेता निकले! लेकिन, किसी ने भी अपनी पार्टी का नुकसान करने और राजनीतिक बदतमीजी...

होल्कर महाराजाओं के क्रिकेट प्रेम से ही भारतीय टेस्ट टीम का पहला कप्तान इंदौर से बना

होल्कर महाराजाओं के क्रिकेट प्रेम से ही भारतीय टेस्ट टीम का पहला कप्तान इंदौर से बना

मीडियावाला.इन। डॉ स्वरूप वाजपेयी ने इंदौरी क्रिकेट के स्वर्णिम काल के रोचक किस्से सुनाए  इंदौर कीर्ति राणा।रियासत काल से खेले जाने वाले क्रिकेट को होल्कर रियासत में मिली ऊंचाई ऐतिहासिक है।होल्कर महाराजाओं में यशवंतराव द्वितीय का क्रिकेट प्रेम...

अध्यक्ष के लिए सिंधिया का नाम आने पर किसके पेट में दर्द उठा?

अध्यक्ष के लिए सिंधिया का नाम आने पर किसके पेट में दर्द उठा?

मीडियावाला.इन।  इन दिनों मध्यप्रदेश की कांग्रेस में घमासान मचा है। प्रदेश में पार्टी के नए मुखिया का नाम तय होना है, जो आसान नहीं लग रहा! प्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर है! ऐसी स्थिति में एक सर्वमान्य...

मेरे अँगने में तुम्हारा क्या काम है ?

मेरे अँगने में तुम्हारा क्या काम है ?

मीडियावाला.इन। भोजपुरी फिल्मों के नायक रविकिशन हमारे चंबल में राजयसभा सांसद प्रभाद झा के बेटे की पैरवी करने आये तो सबको हैरानी हुई ।भाजपा वालों की तो भवें तन गयीं ।तनना ही चाहिए ।ग्वालियर चाम्ब्ल में दूसरों...

अध्यक्ष के रास्ते सिंधिया की मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश

अध्यक्ष के रास्ते सिंधिया की मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश

मीडियावाला.इन। ज्योतिरादित्य सिंधिया की बेचैनी और छटपटाहट अब छुपाये नहीं छुप पा रही । वे केवल मप्र कांग्रेस अध्यक्ष तक रुकना नहीं चाहते , बल्कि असल मंशा श्यामला हिल्स स्थित नव श्रृंगारित मुख्यमंत्री आवास में एक-दो साल रहना चाहते...

कैसे होगी गफलत में भविष्य की तैयारी

कैसे होगी गफलत में भविष्य की तैयारी

मीडियावाला.इन। सितम्बर का महीना आते ही हम पूरी शिद्दत से अपने देश की शिक्षा व्यवस्था,शिक्षकों की जिम्मेदारियों और उनके प्रति हमारे व्यवहार और दायित्वों की चर्चा करने लगते हैं . जो बरसों से होता चला आ रहा है,वही इस...

मुरैना में चंबल की रेत से भरे वो धडधडाते ट्रैक्टर.....

मुरैना में चंबल की रेत से भरे वो धडधडाते ट्रैक्टर.....

मीडियावाला.इन। तो सर, दूध की कहानी तो निपटा ली अब चंबल की रेत के अवैध उत्खनन पर भी घंटी बजा ही दीजिये। ये थे हमारे मुरैना के मित्र उपेंद्र गौतम। अरे छोडो यार कितनी बार चंबल का उत्खनन दिखायेंगे।...

कश्मीरः अब नया राग

कश्मीरः अब नया राग

मीडियावाला.इन। भारत में कश्मीर के पूर्ण विलय को अब एक महीना हो रहा है। ऐसा लगता है कि भारत और पाकिस्तान अपनी-अपनी शाब्दिक गोलाबारी से थक गए हैं। दोनों देशों के नेताओं ने अब नया राग छेड़ा है। दोनों...

प्रतिरोध के संस्कारों के प्रतीक हैं गणेश

प्रतिरोध के संस्कारों के प्रतीक हैं गणेश

मीडियावाला.इन। गणेश अगर जन-जन के देवता हैं तो इसके पीछे उनकी प्रतिरोध के तेजस्वी शक्ति। वे माटी के पुत्र हैं। उनकी बौद्धिकता में ऊष्मा है और उनका चातुर्य तिलिस्मी! शायद इसीलिए लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने गणेश की स्पिरिट...

हर मूड में हिट और फिट हैं, बरसते सावन के गीत!

हर मूड में हिट और फिट हैं, बरसते सावन के गीत!

मीडियावाला.इन। हिंदी फिल्मों में सावन और बरसात के गीतों की अलग ही रंगत रही है। अब तो न ऐसी फ़िल्में बनती हैं और न सावन के गीत फिल्माने का कोई चलन है। लेकिन, ब्लैक एंड व्हाइट फिल्मों के...

अमरता और अफ़सरी: आईएएस हर्षमंदर से लेकर मोहंती तक की कहानी

अमरता और अफ़सरी: आईएएस हर्षमंदर से लेकर मोहंती तक की कहानी

मीडियावाला.इन। दुनिया के और लोगों को तरह अफ़सरों के मन में भी यह भाव रहता होगा की काश वे ऐसा कुछ कर जाएँ जिससे उनके ना रहने पर भी उन्हें याद किया जाता रहे , लेकिन मैंने अपने अनुभव से...

वह निष्छलता,मुस्कुराता चेहरा, संवेदनशील मन,  सच ! बहुत याद आओगे शशींद्र

वह निष्छलता,मुस्कुराता चेहरा, संवेदनशील मन, सच ! बहुत याद आओगे शशींद्र

मीडियावाला.इन। ओह । फिर एक दुखद खबर । इंदौर के बौद्धिक जगत को अतुल लागू के बाद एक और झटका । दोस्त ,कवि, पत्रकार शशींद्र जलधारी चले गए ।अस्पताल से तो ख़बरें आ रही थीं कि तबियत में कुछ सुधार...

अंतर्विरोधों में उलझे  मध्यप्रदेश के नेता

अंतर्विरोधों में उलझे मध्यप्रदेश के नेता

मीडियावाला.इन। मध्य्प्रदेश का दुर्भाग्य है की यहां लम्बे समय बाद सत्ता परिवर्तन के बावजूद हालात जस-के तस हैं ।सत्तारूढ़ दल के साथ ही विपक्ष के नेता भी अंतर्विरोधों में उलझे हैं,किसी को अवाम की फ़िक्र नहीं है ।प्रदेश में...

बिना कहानी की एक्शन फिल्म ‘साहो’

बिना कहानी की एक्शन फिल्म ‘साहो’

मीडियावाला.इन। साहो का एक प्रसिद्ध वनलाइनर है। हर जुर्म का मकसद हो्ता है और हर मुजरिम की कहानी। इसी तरह हर फिल्म बनाने का कोई मकसद होता है और दर्शक को फिल्म देखने का बहाना। साहो को लोग...

व्यापमं: सत्ता में आने के नौ माह बाद अब एक्शन मोड में कमलनाथ सरकार

व्यापमं: सत्ता में आने के नौ माह बाद अब एक्शन मोड में कमलनाथ सरकार

मीडियावाला.इन। अब कमलनाथ एक्शन मोड में  197 शिकायतें तो शिवराज सरकार ने ही दबा रखी थी व्यापमं से जुड़ी 197 शिकायतों की जांच का जिम्मा पहली बार एसटीएफ को मिला है। ये वो सारी शिकायतें हैं जो 2015...

जादूगर नहीं, हाकी के वैज्ञानिक थे दद्दा

जादूगर नहीं, हाकी के वैज्ञानिक थे दद्दा

मीडियावाला.इन। खेल के प्रग्या पुरुष मेजर ध्यानचन्द हाकी के जादूगर नहीं.. हाकी के वैग्यानिक थे.. जादूगरी भ्रम में डालने की ट्रिक है..जबकि विज्ञान..यथार्थ ..।   -कैप्टन बजरंगी प्रसाद.. (देश के प्रथम अर्जुन अवार्डी) ने राष्ट्रीय खेल दिवस की...

रिजर्ब बैंक की दरियादिली या मजबूरी ?

रिजर्ब बैंक की दरियादिली या मजबूरी ?

मीडियावाला.इन। रिजर्ब बैंक के गवर्नर श्री शक्तिकांत दास की ही तरह मैंने अर्थशास्त्र में कोई उपाधि नहीं ली है लेकिन मेरे मन में भी आज वे सब सवाल खदबदा रहे हैं जो आम भारतीय के मन में हैं ।...