Monday, July 22, 2019

कॉलम / नजरिया

बनने लगी राहुल कांग्रेस!

बनने लगी राहुल कांग्रेस!

मीडियावाला.इन। प्रियंका का कांग्रेस में विधिवत गृह प्रवेश के दो मायने समझ आते हैं। एक राहुल को अपने सिपहसलारों से उतना सपोर्ट नहीं मिल पा रहा है, जिसकी उन्हें जरूरत है। दूसरा अब वे इस लड़ाई में...

किस के आँसू, कितनी सीट बढ़ाएँगे !

किस के आँसू, कितनी सीट बढ़ाएँगे !

मीडियावाला.इन। साल दो साल पहले तक प्रियंका को राजनीति में लाने की मांग करने वाले कार्यकर्ताओं को भी एक तरह से राहुल गांधी ने प्रियंका को महासचिव बना कर चौंका दिया है।लोकसभा चुनाव में अब यह देखना भी दिलचस्प होगा...

कमजोर नस पर हाथ

कमजोर नस पर हाथ

मीडियावाला.इन। नाम बड़ा या काम...जब भी इस तथ्य पर चर्चा उठती है तो राजनीति के नक्कारखाने में नाम की ही तूती बोलती है. दुनिया के किसी भी कोने में जाइए...वंशावली की गहरी जड़े राजतंत्र की ओर इशारा करती हैं, इशारा...

भाजपा के कई दिग्गजों की सीट खतरे में

भाजपा के कई दिग्गजों की सीट खतरे में

मीडियावाला.इन। कांग्रेस को मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में जो सफलता मिली, उससे भाजपा की 12 लोकसभा सीटों पर भी सीधा असर पड़ा! इनमें से 8 पर तो कांग्रेस को काफी ज्यादा वोट मिले हैं! जबकि,...

विपक्ष क्या करें

विपक्ष क्या करें

मीडियावाला.इन।   डॉ. वेदप्रताप वैदिक कोलकाता में हुई विशाल जन-सभा के बारे में मैंने कल लिखा था। आज मैं महागठबंधन के बारे में लिखूंगा। देश की चार-पांच छोटी-बड़ी पार्टियों के अलावा वहां सभी का जमावड़ा था लेकिन क्या यह...

इन इबारतों को मिटा दिया जाना चाहिए.

इन इबारतों को मिटा दिया जाना चाहिए.

मीडियावाला.इन। आज रोना-चीख़ना और चिल्लाना नहीं चाहिए...सवाल करने चाहिए, तब तक करने चाहिए, जब तक हर एक पालक को उसके सवालों का जवाब ना मिल जाए। एक नामी स्कूल...स्कूल का होस्टल ....रात सीनियर्स अपने जूनियर्स को निर्वस्त्र करते थे। बेहूदगी...

साहबी करने वाले अफ़सरों का जैसे बचपन लौट आता है:आइ ए एस मीट के सालाना जश्न में

साहबी करने वाले अफ़सरों का जैसे बचपन लौट आता है:आइ ए एस मीट के सालाना जश्न में

मीडियावाला.इन। आइ ए एस मीट के सालाना कार्यक्रम का उद्घाटन सत्र कुछ दिनों पहले मैं फ़िल्म देखने गया तो ये देख कर हैरान रह गया की फ़िल्म के पहले सभी समवेत स्वर में राष्ट्र्गान गा रहे...

"दिस ब्लडी पॉलिटिक्स"

"दिस ब्लडी पॉलिटिक्स"

मीडियावाला.इन। समझ की भिन्नता के लिए अपने यहाँ एक मुहावरा लगभग हर भाषा में है कि'पसंद अपनी-अपनी,ख़याल अपना-अपना'.अपनी बात शुरू करने से पहले,मैं आपको याद दिलाना चाहूंगा कि श्री अमिताभ बच्चन अभिनीत एक फिल्म आई थी'आखिरी रास्ता'.अमितजी इसमें दोहरी भूमिका...

भैय्यू महाराज : सपनों सी जिंदगी का इस तरह टूटकर बिखरना....

भैय्यू महाराज : सपनों सी जिंदगी का इस तरह टूटकर बिखरना....

मीडियावाला.इन। सोचा तो था इस शनिवार को अपना जन्मदिन है तो बजाय छुट्टी लेने के दोपहर में कोई छोटी मोटी खबर कर शाम को दोस्तों के साथ केक शेक खाते पीते और रात को बुलबुल बेटू के मनपसंद रेस्तरां में...

धूर्त्त संत और निर्भीक पत्रकार

धूर्त्त संत और निर्भीक पत्रकार

मीडियावाला.इन।हरयाणा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के हत्यारे तथाकथित संत या संतों के कलंक गुरमीत राम रहीम और उसके तीन चेलों को उम्रकैद की सजा हुई है। इस फैसले का सारे देश में स्वागत होगा। 16 साल बाद यह फैसला आया,...

शिक्षा व्यवस्था जैसी भटकती फिल्म 'व्हाय चीट इंडिया'

शिक्षा व्यवस्था जैसी भटकती फिल्म 'व्हाय चीट इंडिया'

मीडियावाला.इन। 'व्हाय चीट इंडिया' फिल्म शुरू तो होती है शिक्षा व्यवस्था की खामियों को उजागर करने से, फिर वह खुद शिक्षा व्यवस्था जैसी भटकने लगती है। पहले लगा था कि इसमें व्यापम जैसे घोटाले बेनक़ाब होंगे, लेकिन नहीं होते।...

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मीडियावाला.इन। मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के रूप में भूपेन्द्र गुप्ता की नियुक्ति जितनी कांग्रेसजनों को चौंकाने वाली है, उससे कहीं अधिक खुद भूपेन्द्र भी कमलनाथ के दिखाए इस विश्वास से चमत्कृत हैं। इसका कारण यह कि उन्होंने तो सपने में...

शिक्षा में करें क्रांति

शिक्षा में करें क्रांति

शिक्षा में करें क्रांति डॉ. वेदप्रताप वैदिक आर्थिक आधार पर शिक्षा-संस्थाओं में आरक्षण स्वागत योग्य है। वह दस प्रतिशत क्यों, कम से कम 60 प्रतिशत होना चाहिए और उसका आधार जाति या कबीला नहीं होना चाहिए। जो भी गरीब...

इंस्टाग्राम पर काइली जेनर को पीछे छोड़ दिया अंडा गिरोह ने

इंस्टाग्राम पर काइली जेनर को पीछे छोड़ दिया अंडा गिरोह ने

सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म उपलब्ध है, उनमें इंस्टाग्राम भी एक प्रमुख प्लेटफार्म है। जहां यूजर अपने फोटो और वीडियो किसी एक ग्रुप में या सभी के लिए खुलेआम शेयर कर सकता है। 9 साल पहले इंस्टाग्राम एक...

शाही स्नान

शाही स्नान

सुबह के साढ़े 3 बजे थे। महाकाल मंदिर के आसपास के सारे रास्ते इस कदर जाम थे कि एक कदम बढ़ाना भी मुश्किल था। जबकि डेढ़-किमी पहले से ही वाहनों की आवाजाही रोक दी गई थी। इस कदर...

कमलनाथ का आत्मविश्वास और भार्गव का ‘रंगाई’ रूपक !

कमलनाथ का आत्मविश्वास और भार्गव का ‘रंगाई’ रूपक !

‘जय किसान कर्ज माफी योजना’ के शुभारंभ अवसर पर मंगलवार को प्रदेश में अपनी अन्य दलों के समर्थन से बनी सरकार की स्थिरता को लेकर मुख्यनमंत्री कमलनाथ की बाॅडी लैंग्वेज में एक अलग तरह का आत्मविश्वास और बेफिकरी...

सरकार! वक्त बदला पर चाल तो वैसी ही है....

सरकार! वक्त बदला पर चाल तो वैसी ही है....

मीडियावाला.इन। माहौल ठीक वैसा ही है जैसा 15 साल पहले की मकर संक्रांति पर था। सरकार बिल्कुल वैसी ही चल रही है जैसी जनवरी 2004 में थी। फर्क बस इतना है कि तब तत्कालीन मुख्यमंत्री उमा भारती बेहद...

दीवार बनाने के नाम पर टूटा अमेरिका, ऐतिहासिक शटडाउन

दीवार बनाने के नाम पर टूटा अमेरिका, ऐतिहासिक शटडाउन

मीडियावाला.इन। 15 जनवरी को अमेरिकी के ऐतिहासिक शटडाउन का 25वां दिन है। अमेरिकी इतिहास में इतना बड़ा शटडाउन कभी नहीं हुआ। यह एक तरह की ‘सरकारी हड़ताल’ ही है। दरअसल अमेरिका में एक एंटी डेफिशिएंसी कानून है। इसके अंतर्गत जब...

भाजपा की आँख में खटकने लगे शिवराज?

भाजपा की आँख में खटकने लगे शिवराज?

शिवराजसिंह चौहान इन दिनों परेशान हैं। क्योंकि, वे जो भी कदम उठाते हैं, वो उल्टा पड़ जाता है। विधानसभा चुनाव में हार के बाद जो हालात बने हैं, वो शिवराजसिंह के लिए रास नहीं आ रहे! भाजपा की...

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

मीडियावाला.इन। मानना पड़ेगा मोटा भाई को, एक झटके में शिवराज सिंह के मंसूबों पर पानी ही नहीं फेरा वरन उन्हें कांग्रेस द्वारा आए दिन किए जाने वाले हमलों से भी बचा लिया।यदि अब भी शिवराज का मन मध्यप्रदेश...