Monday, August 26, 2019

कॉलम / नजरिया

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मुख्यमंत्री के भरोसे ने चमत्कृत कर दिया भूपेन्द्र को

मीडियावाला.इन। मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के रूप में भूपेन्द्र गुप्ता की नियुक्ति जितनी कांग्रेसजनों को चौंकाने वाली है, उससे कहीं अधिक खुद भूपेन्द्र भी कमलनाथ के दिखाए इस विश्वास से चमत्कृत हैं। इसका कारण यह कि उन्होंने तो सपने में...

शिक्षा में करें क्रांति

शिक्षा में करें क्रांति

शिक्षा में करें क्रांति डॉ. वेदप्रताप वैदिक आर्थिक आधार पर शिक्षा-संस्थाओं में आरक्षण स्वागत योग्य है। वह दस प्रतिशत क्यों, कम से कम 60 प्रतिशत होना चाहिए और उसका आधार जाति या कबीला नहीं होना चाहिए। जो भी गरीब...

इंस्टाग्राम पर काइली जेनर को पीछे छोड़ दिया अंडा गिरोह ने

इंस्टाग्राम पर काइली जेनर को पीछे छोड़ दिया अंडा गिरोह ने

सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म उपलब्ध है, उनमें इंस्टाग्राम भी एक प्रमुख प्लेटफार्म है। जहां यूजर अपने फोटो और वीडियो किसी एक ग्रुप में या सभी के लिए खुलेआम शेयर कर सकता है। 9 साल पहले इंस्टाग्राम एक...

शाही स्नान

शाही स्नान

सुबह के साढ़े 3 बजे थे। महाकाल मंदिर के आसपास के सारे रास्ते इस कदर जाम थे कि एक कदम बढ़ाना भी मुश्किल था। जबकि डेढ़-किमी पहले से ही वाहनों की आवाजाही रोक दी गई थी। इस कदर...

कमलनाथ का आत्मविश्वास और भार्गव का ‘रंगाई’ रूपक !

कमलनाथ का आत्मविश्वास और भार्गव का ‘रंगाई’ रूपक !

‘जय किसान कर्ज माफी योजना’ के शुभारंभ अवसर पर मंगलवार को प्रदेश में अपनी अन्य दलों के समर्थन से बनी सरकार की स्थिरता को लेकर मुख्यनमंत्री कमलनाथ की बाॅडी लैंग्वेज में एक अलग तरह का आत्मविश्वास और बेफिकरी...

सरकार! वक्त बदला पर चाल तो वैसी ही है....

सरकार! वक्त बदला पर चाल तो वैसी ही है....

मीडियावाला.इन। माहौल ठीक वैसा ही है जैसा 15 साल पहले की मकर संक्रांति पर था। सरकार बिल्कुल वैसी ही चल रही है जैसी जनवरी 2004 में थी। फर्क बस इतना है कि तब तत्कालीन मुख्यमंत्री उमा भारती बेहद...

दीवार बनाने के नाम पर टूटा अमेरिका, ऐतिहासिक शटडाउन

दीवार बनाने के नाम पर टूटा अमेरिका, ऐतिहासिक शटडाउन

मीडियावाला.इन। 15 जनवरी को अमेरिकी के ऐतिहासिक शटडाउन का 25वां दिन है। अमेरिकी इतिहास में इतना बड़ा शटडाउन कभी नहीं हुआ। यह एक तरह की ‘सरकारी हड़ताल’ ही है। दरअसल अमेरिका में एक एंटी डेफिशिएंसी कानून है। इसके अंतर्गत जब...

भाजपा की आँख में खटकने लगे शिवराज?

भाजपा की आँख में खटकने लगे शिवराज?

शिवराजसिंह चौहान इन दिनों परेशान हैं। क्योंकि, वे जो भी कदम उठाते हैं, वो उल्टा पड़ जाता है। विधानसभा चुनाव में हार के बाद जो हालात बने हैं, वो शिवराजसिंह के लिए रास नहीं आ रहे! भाजपा की...

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

ट्विंकल डागरे और भय्यू महाराज कांड ने उजागर किया पुलिस और ‘मामा’ का असली चेहरा

मीडियावाला.इन। मानना पड़ेगा मोटा भाई को, एक झटके में शिवराज सिंह के मंसूबों पर पानी ही नहीं फेरा वरन उन्हें कांग्रेस द्वारा आए दिन किए जाने वाले हमलों से भी बचा लिया।यदि अब भी शिवराज का मन मध्यप्रदेश...

क्या महागठबंधन का ‘केक’ बहनजी को सत्ता शीर्ष पर पहुंचा देगा?

क्या महागठबंधन का ‘केक’ बहनजी को सत्ता शीर्ष पर पहुंचा देगा?

मीडियावाला.इन। क्या ‍किसी नेता का ‘बर्थ डे सेलीब्रेशन’ उसे प्रधानमंत्री पद तक पहुंचा सकता है? यह सवाल इसलिए कि इस देश में ज्यादातर प्रधानमंत्रियों के जन्म दिन उनके इस पद पर विराजमान होने के बाद ही देश ने जानें या...

जुलियन असांजे को बचाने के लिए धन संग्रहण हुआ शुरू

जुलियन असांजे को बचाने के लिए धन संग्रहण हुआ शुरू

मीडियावाला.इन। विकिलिक्स के जुलियन असांजे के पक्ष में कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए धन इकट्ठा करने का अभियान शुरू किया गया है। इसके लिए 5 लाख डाॅलर एकत्र करने का लक्ष्य है। इसमें अभी तक 801 डॉलर ही जमा हो...

लोकसभा चुनाव की जमीन तैयार होने लगी है

लोकसभा चुनाव की जमीन तैयार होने लगी है

मीडियावाला.इन। कमलनाथ सरकार के मंत्री अपने-अपने क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं के बीच स्वागत, आभार के लिए भ्रमण पर हैं, उनको जिलों का प्रभार भी दे दिया गया है। एक सूचना के अनुसार मंत्रियों को लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी दी...

बेटी आशा की बाप पासवान के खिलाफ इस बगावत के मायने..!

बेटी आशा की बाप पासवान के खिलाफ इस बगावत के मायने..!

मीडियावाला.इन।  इसे शुद्ध राजनीति या परिवार में आंतरिक मतभेदो के दर्शन से हटकर देखा जाना चाहिए कि एक बेटी अपने ही रसूखदार बाप ‍के खिलाफ इसलिए सड़क पर धरना दे रही है कि उसने बिहार की एक...

वादों के साथ बेड़ियों की बातें भी कर लें

वादों के साथ बेड़ियों की बातें भी कर लें

अपने देश का कोई भी अखबार उठा लें,टीवी चैनल देख लें,संसदीय सदनों की कार्यवाही ही देख लें,हालांकि चुनावी घोषणापत्रों का अब काम नहीं रहा,इसलिए उनकी बात नहीं करते.आपको निश्चित रूप से लगेगा कि देश के गाँवों में तो...

नरेन्द्र मोदी के तरकश में और कौन – कौन से तीर ?

नरेन्द्र मोदी के तरकश में और कौन – कौन से तीर ?

देश के आम चुनावों को अब केवल तीन माह ही शेष बचे हैं, ऐसे में यह जिज्ञासा उठना लाजमी है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तरकश में अभी और कौन – कौन से ऐसे तीर शेष हैं, जिन्हें...

भाजपा के लिए खतरे की घंटी

भाजपा के लिए खतरे की घंटी

उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन सिर्फ प्रादेशिक राजनीति तक सीमित नहीं है। यह गठबंधन इतना शक्तिशाली है कि यह राष्ट्रीय राजनीति में भी गजब का उलट-फेर कर सकता है। कोई आश्चर्य नहीं कि...

अबकी बदली बदली सी सरकार नजर आती है..

अबकी बदली बदली सी सरकार नजर आती है..

दृश्य एक: मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का पहला सत्र। इंदिरा विधान भवन के बाहर जहां प्रवेश पत्र बनाये जाते हैं उस काउंटर पर उतावले लोगों की भीड। सभी को अंदर जाने की बेताबी। हर तरफ  चार पहिया वाहनों...

सियासी मन मेरे

सियासी मन मेरे

मीडियावाला.इन हर जिंदगी की अपनी एक फ्रेम होती है। आदमी उस फ्रेम में धीरे-धीरे आगे बढ़ता है। शिखर पर वह फ्रेम का मुख्य किरदार बन जाता है। फिर ढलान पर आता है तो किनारे...

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें

स्वामी विवेकानंद युवाओं के आदर्श हैं। उनकी जयंती पर युवा दिवस मनाया जाता है। उनके बारे में इतना कुछ लिखा पढ़ा जा चुका है कि एक औसत युवा भी कुछ न कुछ तो जानता ही है। स्वामीजी ने...

अपने-अपने भ्रष्टाचारी

अपने-अपने भ्रष्टाचारी

सीबीआई, सवर्णों का आर्थिक आरक्षण और अध्योध्या विवाद- इन तीनों मसलों पर गौर करें तो हम किस नतीजे पर पहुंचेंगे ? सरकार, संसद, सर्वोच्च न्यायपालिका और विपक्ष -- सबकी इज्जत पैंदे में बैठी जा रही है। सीबीआई के...