Tuesday, November 12, 2019

कॉलम / नजरिया

आरक्षण: अंधे से काणा भला

आरक्षण: अंधे से काणा भला

केंद्र सरकार की इस घोषणा का कोई भी विरोध नहीं कर सकता कि देश के सवर्णों में जो भी आर्थिक दृष्टि से पिछड़े हुए हैं, उन्हें भी अब शिक्षा और सरकारी नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा। इस...

विधानसभा विशेष : एनपी का जीत जाना, भाजपा की चूक या कांग्रेस की रणनीतिक विजय…?

विधानसभा विशेष : एनपी का जीत जाना, भाजपा की चूक या कांग्रेस की रणनीतिक विजय…?

अंतत: कांग्रेस विधायक नर्मदा प्रसाद प्रजापति एनपी 15 वीं विधानसभा के अध्‍यक्ष चुन लिए गए। भाजपा नियमों में ऐसी उलझी कि उसे अपने प्रत्‍याशी का प्रस्‍ताव रखने का मौका तक न मिला। खीज कर भाजपा विधायक दल सड़क...

क्या भाजपा लौट पाएगी?

क्या भाजपा लौट पाएगी?

भाजपा के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री संघप्रिय गौतम के बयान ने तहलका-सा मचा दिया है। वे अटलजी और आडवाणीजी  के साथी रहे हैं और उनकी उम्र 88 साल की हैं। वे नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शक मंडल के...

सवर्णों को आरक्षण से ज्यादा जरूरत रोजगार के अवसरों की है..! 

सवर्णों को आरक्षण से ज्यादा जरूरत रोजगार के अवसरों की है..! 

मोदी सरकार द्वारा सामान्य वर्ग को सरकारी नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण को भाजपा और सहयोगी दल भले लोकसभा चुनाव की दृष्टि से भले ‘गेम चेंजर’ मान रहे हों, लेकिन व्यावहारिक दृष्टि से यह दांव ‘गेम चेंजर’ साबित...

चीन के वर्कर नागरिक कब बनेंगे?

चीन के वर्कर नागरिक कब बनेंगे?

मीडियावाला.इन। भारत में हम लोग कहते हैं कि हम, भारत के नागरिक। लेकिन चीन में लोग कहते हैं कि हम वर्कर हैं। हाल ही में चीन के एक कुंठित नागरिक ने इस तरह का बयान एक अंतरराष्ट्रीय समाचार...

आदिवासियों के भीतर जल रही चिंगारी को हवा दे रही भाजपा

आदिवासियों के भीतर जल रही चिंगारी को हवा दे रही भाजपा

भारतीय जनता पार्टी की नजर कांग्रेस के भीतर सुलग रही चिंगारी को हवा देते रहने की है। आदिवासी खासकर मालवा निमाड़ के आदिवासी विधायकों में पनप रहे असंतोष को हवा देने की है। कमलनाथ मंत्रिमंडल में ठाकुरों के...

खेल देखिये और खेल के पीछे की मंशा समझिये!

खेल देखिये और खेल के पीछे की मंशा समझिये!

हां मैं बीजेपी के ही खेल की बात कर रहा हूँ! तीन राज्यों में हार क्या हुई कि सवर्णों के लिये आरक्षण याद आ गया।याद रखिये इन्होंने पहले गांधी का नाम अपनी वल्दियत में जोड़ा! फिर आम्बेडकर को...

पता चल जाएगा कांग्रेस की दीवार पोली या भाजपा का सिर पक्का ! 

पता चल जाएगा कांग्रेस की दीवार पोली या भाजपा का सिर पक्का ! 

ठंड के मौसम में कोहरा तो हर साल रहता है लेकिन सोमवार की सुबह इंदौर सहित आसपास के शहरों में कुछ घंटे जैसा कोहरा छाया रहा वह कई लोगों ने अपनी जिंदगी में पहली बार देखा । कुछ...

हार के कारणों को भाजपा अपनी चुनाव रणनीति में ही टटोले! 

हार के कारणों को भाजपा अपनी चुनाव रणनीति में ही टटोले! 

विधानसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी में नीम सन्नाटा है। शिवराजसिंह चौहान के अलावा कोई नेता ज्यादा बोल नहीं रहा! लेकिन, ये सन्नाटा सतही है। क्योंकि, जो शांति दिखाई दे रही है, वो ऊपरी है! पार्टी के...

संविधान में गरीब

संविधान में गरीब

मीडियावाला.इन। लीजिए साहब, आखिरकार गरीबों को देश के संविधान में पहुंचाने की पहली कोशिश शुरू हो गई है। पहचाने ना, वही गरीब जिसके इर्द-गिर्द देश की पूरी राजनीति घूमती है। जिसे जहालत से मुक्त कराने के लिए बरसों पहले सपना...

केन्द्रीय सरकार का 10 प्रतिशत का ‘‘आर्थिक आधार’’ पर आरक्षण का निर्णय! कितना  अधूरा! कितना पूर्ण?  

केन्द्रीय सरकार का 10 प्रतिशत का ‘‘आर्थिक आधार’’ पर आरक्षण का निर्णय! कितना  अधूरा! कितना पूर्ण?  

वास्तव में हमारे देश में यदि किसी भी ‘‘सरकार’’ से कोई निर्णय अपने पक्ष में करवाना हो तो सरकार के चुने जाने के 4 साल तक तो वह आपकी मांगे व मुद्दो पर गंभीरता से कोई विचार ही...

सूर्य नमस्कार से पहले शीर्षासन में सफल होगी कमलनाथ सरकार ?

सूर्य नमस्कार से पहले शीर्षासन में सफल होगी कमलनाथ सरकार ?

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार के इस कदम की तो मुख्य विरोधी दल भाजपा के नेता भी सराहना करेंगे कि प्रतिवर्ष 12 जनवरी को होने वाले सूर्य नमस्कार कार्यक्रम को यह सरकार भी जारी रखेगी। इस निर्णय से...

खिचड़ी खिलाने से सामाजिक विषमता का अपच कैसे दूर होगा?

खिचड़ी खिलाने से सामाजिक विषमता का अपच कैसे दूर होगा?

अगर यह मात्रा की दृष्टि से खिचड़ी पकाने के वर्ल्ड रिकाॅर्ड कायमी की कवायद थी तो यकीनन सफल थी, क्योंकि देश के सेलेब्रिटी शेफ विष्णु मनोहर ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वे 5 हजार किलो...

यूरिया का संकट,जो न होकर भी हुआ

यूरिया का संकट,जो न होकर भी हुआ

शायद हममें से सब लोग भूले न हों. दिल्ली के एक रेस्तरां में दस-पच्चीस लोगों के सामने,जेसिका नाम की एक लड़की की किसी ने बंदूक से ह्त्या कर दी थी.तारीख और गवाहों की भूल-भुलैया में किसी पर भी...

नेता अपनी कब्र खुद क्यों खोदें

नेता अपनी कब्र खुद क्यों खोदें

इधर खबरें गर्म हैं कि अलग-अलग प्रांतों में विरोधी दलों के बीच गठबंधन बन रहे हैं, जैसे मायावती और अखिलेश का उप्र में, शरद पंवार और कांग्रेस का महाराष्ट्र में, आप पार्टी और कांग्रेस का दिल्ली में आदि...

शक्ल ले रहे गठबंधन मोदी ही नहीं राहुल के भी अंक बढ़ायेंगे!

शक्ल ले रहे गठबंधन मोदी ही नहीं राहुल के भी अंक बढ़ायेंगे!

संसद में राफेल पर जंग, मिशेल से पूछताछ की जमीन पर 2019 के लोकसभा चुनाव की शतरंज पर पासे बिछाए जा रहे हैं। चौकीदार चोर है और चौकीदार को चोरों की मंडली हटाना चाहती है जैसे संवाद से...

कमलेश्वरजी को याद करते हुए

कमलेश्वरजी को याद करते हुए

पिछले पैतीस साल की पत्रकारीय यात्रा में मेरे दिल-ओ-दिमाग में जिन कुछ शख्सियतों की गहरी छाप रही है उनमें से कमलेश्वर जी प्रमुख हैं।  आज  उनका जन्मदिन है। उन्हें दैनिक भास्कर के सेटेलाइट एडिशन के...

करेली की गलियों से गोयनका अवार्ड तक

करेली की गलियों से गोयनका अवार्ड तक

दिल्ली की हयात होटल का वाल रूम। लगातार आ रहीं मीडिया और राजनीति की हस्तियां। हाल के अंदर और बाहर लगे रामनाथ गोयनका एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म अवार्ड के बडे पोस्टर और फ्लेक्स। छोटा सा मंच जहां गृह मंत्री...

क्रॉस वोटिंग की छाया में घिरा है विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव 

क्रॉस वोटिंग की छाया में घिरा है विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव 

मीडियावाला.इन।  विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी एनपी प्रजापति का जीतना तय है लेकिन भाजपा इस चुनाव को क्रॉस वोटिंग के जरिए संदिग्ध बनाने की रणनीति में जुटी हुई हैं । भाजपा इस पद के...

पुलिस की मुस्तैद जिंदगी में ‘वीकली ऑफ’ की बाल सुलभ खुशी !

पुलिस की मुस्तैद जिंदगी में ‘वीकली ऑफ’ की बाल सुलभ खुशी !

‘सरकारी नौकरी’ और ‘छुट्टी’ काफी हद तक समानार्थी शब्द हैं, क्योंकि वहां अधिकृत छुट्टी न होते हुए भी अमूमन छुट्टी जैसा माहौल ही होता है।  लेकिन संदर्भ अगर पुलिस का हो तो यही शब्द  विरूद्धार्थी माने जाते रहे...