Thursday, September 19, 2019

कॉलम / नजरिया

भारत की सबसे बड़ी दुश्मन

भारत की सबसे बड़ी दुश्मन

कहते हैं कि आदमी सांस न ले सके तो मर जाएगा लेकिन अब सांस लेने से आदमी मर रहा है। सांस लेने पर जो हवा नाक से अंदर जाती है, उससे पिछले साल भारत में 12 लाख 40...

औसत लव इन केदारनाथ

औसत लव इन केदारनाथ

मीडियावाला.इन। कहा जाता है कि प्रेम शाश्वत होता है, इसलिए प्रेम कहानियां भी शाश्वत होती है। प्रेम कहानियों में दो पात्र होते है और बॉलीवुड में लगभग सभी फिल्मों में ये दो पात्र समान ही होते है। इनके...

फ्रांसः उनके आगे हम मरियल ?

फ्रांसः उनके आगे हम मरियल ?

फ्रांस की जागरुक जनता ने इमेन्यूएल मेक्रों जैेसे अकड़बाज नेता के टांके ढीले कर दिए हैं। उन्होंने पेट्रोल और डीजल के दाम मुश्किल से सिर्फ तीन रु. लीटर बढ़ाए थे कि उनके खिलाफ फ्रांस के सारे शहरों में...

पाक की माली सेहत सुधारने ‘गूगल साल्यूशन’ और ‘गुनाह टैक्स’!

पाक की माली सेहत सुधारने ‘गूगल साल्यूशन’ और ‘गुनाह टैक्स’!

अपने भारत में घटिया चुनावी राजनीति के बीच पड़ोसी पाकिस्तान से आर्थिक सुधार के अनोखे कदमों की रोचक खबरें आ रही हैं। पाकिस्तान की कमान पूर्व क्रिकेटर और राजनीतिक शादियां करने वाले इमरान खान के हाथों में है।...

अकथ कहानी, इंडियन काँफी हाऊस की

अकथ कहानी, इंडियन काँफी हाऊस की

अपनी झील नगरी भोपाल विरोधाभासों का कंट्रास्ट लेकर जीती है। इसकी रंगीन झिलमिलाहट सिर्फ इश्तहारों में है। वास्तव में है ये ब्लैक एन्ड ह्वाइट।  अब जैसे भोपाल के न्यू मार्केट वाले इंडियन काँफी हाउस को...

मुसाफ़िरनामा

मुसाफ़िरनामा

मुसाफ़िरनामा तो करतारपुर कॉरिडोर पर उठापटक खत्म हुई। राजनीतिक रोटियाँ सिंकीं और पानी वाली दाल के साथ खा कर खेमों में बँटे भक्त जनों ने वाह वाह की। वोट डाले गए मध्यप्रदेश में और अब किस्मतें...

इंदौर में काले गेहूं का उत्पादन देश में पहली बार

इंदौर में काले गेहूं का उत्पादन देश में पहली बार

होली पर लगभग सभी परिवारों में होलिकादहन पश्चात नई फसल के आगमन की खुशी में गेंहू की उंबी लपटों में सेंक कर वह सिंका हुआ गेहूं प्रसाद के रूप में बांटे जाने की परंपरा का सदियों से पालन...

बुलंदशहर की आग : गोरक्षक  बनाम राज्य सत्ता

बुलंदशहर की आग : गोरक्षक  बनाम राज्य सत्ता

बुलंदशहर  के थाना स्याना के निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह की साम्प्रदायिक भीड़ द्वारा की गई निर्मम हत्या से गोरक्षकों और प्रकारांतर से भारतीय जनता पार्टी का विद्रूप चेहरा सामने आ गया है। उत्तर प्रदेश की भगवा योगी...

इंदौर के खामोश मतदाता के फैसले का अनुमान लगाइए!

इंदौर के खामोश मतदाता के फैसले का अनुमान लगाइए!

विधानसभा चुनाव का मतदान होने के बाद अब इस बात लगाए जा रहे हैं कि किस सीट पर किसका पलड़ा भारी है और क्यों? लोगों की बातचीत का विषय इस बात पर केंद्रित हो गया है कि इंदौर...

‘उल्लू बनाविंग’ का सियासी फार्मूला और तेलंगाना में उल्लुअों की शामत !

‘उल्लू बनाविंग’ का सियासी फार्मूला और तेलंगाना में उल्लुअों की शामत !

कुछ साल पहले राजनेताअों पर कटाक्ष करता आइडिया का एक विज्ञापन बहुत चर्चित हुआ था-‘नो उल्लू बनाविंग।‘ लेकिन तेलंगाना विधानसभा चुनाव में तो नेताअों के कारण खुद उल्लुअों की ही शामत आ गई है। वहां 7 दिसंबर...

इमरान मानें राजनाथ की बात

इमरान मानें राजनाथ की बात

जिस बात को मैं पिछले कुछ वर्षों से पाकिस्तान के राष्ट्रपतियों और प्रधानमंत्रियों को कहता रहा हूं, मुझे खुशी है कि वही बात अब भारत सरकार के गृहमंत्री राजनाथसिंह ने सार्वजनकि रुप से कह दी है। राजनाथजी ने...

जस्टिस कुरियन के मीडिया मे उद्गार

जस्टिस कुरियन के मीडिया मे उद्गार

नेताओं और अभिनेताओं के बाद अब माननीय न्यायाधीशों को भी मीडिया का चस्का लगता जा रहा है। किसी ज़माने में केवल अपने ऐतिहासिक निर्णयों से बोलने वाले जज  आज मीडिया के माध्यम से सनसनी फैलाने में नेताओं से भी आगे...

स्ट्रांग रुम और भयभीत राजनेताओं का मनोविज्ञान

स्ट्रांग रुम और भयभीत राजनेताओं का मनोविज्ञान

मीडियावाला.इन। मतदान के बाद नेताओं के भाग्य की मशीनें स्ट्रांग रुम में आराम फरमा रही हैं। बाहर हथियारबंद सिपाही खड़े हैं। अचानक गई बिजली से घबराये नेता अपनी जीत के अपहरण की आशंका से घिरे हैं। आशंका के...

सर्टिफिकेट में तब्दील होती प्रशंसा के दौर में कलेक्टर का दिल छूता खत

सर्टिफिकेट में तब्दील होती प्रशंसा के दौर में कलेक्टर का दिल छूता खत

अपनी प्रशंसा सुनना हमारी प्रसन्नता का स्थाई भाव है। परिश्रम के बाद मुखिया द्वारा कहे गए प्रशंसा के दो बोल सफर के सारे कष्ट को सुकून के पलों में बदल देता है। थकान कपूर सी काफूर हो जाती...

सिन्धन् के एतरो न रजा़यों....

सिन्धन् के एतरो न रजा़यों....

  कहा तो जाता है कि माल बेचने की कला चीनी जानते हैं जो गंजे को भी कंघा बेच देते हैं।चीन की इस कला का जिक्र करते वक्त हम भूल जाते हैं कि सिंधी समाज...

रविवारीय गपशप

रविवारीय गपशप

जिले में कलेक्टर को चुनाव सम्पन्न होने पर वैसा ही सुकून मिलता है जैसी किसी बेटी के बाप को शादी सम्पन्न होने पर बेटी की विदाई के बाद मिलता है | हालाँकि मतगणना का काम बाक़ी रह जाता...

पार्टियों के घोषणा-पत्र और दिल टूटने का डर 

पार्टियों के घोषणा-पत्र और दिल टूटने का डर 

नई सरकार का इंतज़ार अब बस एक हफ्ते का ही बचा है.चुनाव की घोषणा और परिणामों के बीच हुए राजनैतिक वादों और जारी हुए घोषणापत्रों ने कुछ ऐसे प्रश्न खड़े कर दिए हैं जिनके जवाब या तो बहुत...

हम मीडियावालों को आत्मावलोकन करना ही चाहिए

हम मीडियावालों को आत्मावलोकन करना ही चाहिए

मीडियावाला.इन। स्ट्रांग रुम, ईवीएम-वीवीपेड मशीनों की सुरक्षा चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। भारत में समय-समय पर इनकी सुरक्षा पर सवाल खड़े होते रहे हैं, इनके साथ छेड़छाड़ कर मतदान को अपने पक्ष में करने के आरोप सत्तापक्ष पर...

कक्का कहें,सुनो तो सुनो

कक्का कहें,सुनो तो सुनो

इस से पहले कि मुद्दे पर आया जाए, आवश्यक है कि इस कॉलम के पात्रों से पाठकगण को मिला दिया जाए। तो कक्का हैं फौज से रिटायर्ड चाचा (चाचा चतुर) जिन्हें बात करने का शौक कुछ ज़्यादा ही...

मामा से लगाव का, या वक्त है बदलाव का !

मामा से लगाव का, या वक्त है बदलाव का !

2018 के विधानसभा चुनाव ने सट्टाबाजार को भी दुविधा में डाल दिया है। सट्टाबाजार ने पहले कांग्रेस की सरकार बना दी, तो फिर भूलसुधार कर भाजपा को बढ़त दिला दी। ऐसा लगा कि मानो चुनाव में कंफ्यूजन के...