Monday, September 23, 2019

कॉलम / नजरिया

जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते चिनॉय सेठ

जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते चिनॉय सेठ

घिसीपिटी फिल्म की तरह फ्लाप हो गया भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा का पहला शो। पात्रा के मध्यप्रदेश में मीडिया की अगुआई करने के लिए ही शायद भाजपा संगठन ने एक आलीशान मीडिया सेंटर का प्रावधान किया...

श्रीलंका में चीन के चहेतों का राज

श्रीलंका में चीन के चहेतों का राज

श्रीलंका में कल रात अचानक सत्ता-पलट हो गया। प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघ को राष्ट्रपति मैत्रीपाल श्रीसेन ने अपदस्थ करके उनके स्थान पर महिंद राजपक्ष को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिला दी। अब श्रीलंका के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों नेता...

कांग्रेस का घी बेटे की या भतीजे की थाली में गिरेगा

कांग्रेस का घी बेटे की या भतीजे की थाली में गिरेगा

उषा ठाकुर की जगह भाजपा से कौन  यदि थाली जोशी परिवार की हुई तो घी किसकी थाली में गिरेगा भतीजे की या बेटे की थाली में? या क्षेत्जोर क्रमांक तीन का विधानसभा चुनाव काका-भतीजे...

भँवर में डगमगाती CBI

भँवर में डगमगाती CBI

पिछले कुछ दिनों से जिस तरीक़े से CBI हेडक्वार्टर में घमासान मचा हुआ है उससे न केवल सरकार मे बल्कि पूरे देश में चिंता व्याप्त हो गई है ।भारत सरकार ने समय रहते कोई कारगर क़दम नहीं उठाये...

राम का चित्रकूट रावणों के हवाले

राम का चित्रकूट रावणों के हवाले

कोई 45 साल पहले मैं अपनी दादी के साथ दीपावली मनाने चित्रकूटधाम गया था। दादी ने बताया था कि मंदाकिनी में दीपदान करने से सरग (स्वर्ग) का दरवाजा सीधे खुल जाता है।मेरे अवचेतन में हमेशा दादी द्वारा बखान...

फर्क गूगल सर्च्ड योगी और चुनाव जिताऊ सीएम योगी का

फर्क गूगल सर्च्ड योगी और चुनाव जिताऊ सीएम योगी का

योगी प्रेमियों को खुश करने वाली दो खबरें लगभग एक साथ आईं। पहली थी कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गूगल पर सर्वाधिक सर्च किए जाने वाले सीएम बन गए हैं। इस मामले में उन्होनें अन्य राज्यों...

सीबीआई: अनाड़ीपन

सीबीआई: अनाड़ीपन

तीन दिन पहले मैंने लिखा था कि केंद्रीय जांच ब्यूरो के दोनों झगड़ालू अफसरों- आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना-- को छुट्टी पर भेज दिया जाए और सारे मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए। सरकार ने यह काम उसी...

‘काले घोड़े’ का सफेद सच और ‘सफेद सियासत’ की काली नाल!

‘काले घोड़े’ का सफेद सच और ‘सफेद सियासत’ की काली नाल!

काले को सफेद करना तो समाज में आर्थिक और राजनीतिक रूप से मान्य है, लेकिन सफेद को काला करके लाखों का चूना लगाने का यह हैरान करने वाला मामला है। पंजाब के फरीदकोट में करणबीर इंदर सिंह सेखों...

पटाखेबाजी को व्यावहारिक बनाएं

पटाखेबाजी को व्यावहारिक बनाएं

सर्वोच्च न्यायालय ने पटाखेबाजी पर नियंत्रण लगाकर सराहनीय फैसला किया है। खेतों से निकला कचरा जलाने के कारण दिल्ली ही नहीं, भारत के कई शहर और गांव भीषण प्रदूषण की चपेट में हैं। अब दीवाली में यह प्रदूषण...

इस ‘तोते’ की साख बचाने के लिए अब बचा क्या है?

इस ‘तोते’ की साख बचाने के लिए अब बचा क्या है?

क्या इसे ‘न्यू इंडिया’ की असली तस्वीर मानें कि बीते 24 महीने में देश की एक और अभिजात संस्था सीबीआई ( सेन्ट्रल ब्यूरो आॅफ इन्वे‍स्टीगेशन) भी गहरे संदेह के दायरे में आ गई है ? संवैधानिक संस्थाअों की...

यमराज के फ्रेंचाइजी 

यमराज के फ्रेंचाइजी 

अखबार में एक विज्ञापन देखकर चौंक गया। लिखा था यमराज को फ्रेंचाइजी देना है। अधिक सोचने के बजाय दिए गए नंबर पर फोन लगा दिया। उधर से पहले वही हेल्पलाइन वाली रस्म दोहराई गई। अंग्रेजी-हिंदी में बात करने के लिए...

जी हां, पटाखे आनंद के लिए चलाएं, आतंकित करने के लिए नहीं !

जी हां, पटाखे आनंद के लिए चलाएं, आतंकित करने के लिए नहीं !

दिवाली पर पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले में धमाका इतना है कि अब पटाखे भी समय की पाबंदी और धमाके हदबंदी में ही चलाए जा सकेंगे। कई लोग इसे दिवाली के उल्लास पर ‘ब्रेक’ की तरह...

सीबीआईः तोते ने तोड़ा पिंजरा

सीबीआईः तोते ने तोड़ा पिंजरा

हमारा यह केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) है या केंद्रीय आंच ब्यूरो है ? हमारी सरकार की इज्जत को जितनी आंच यह ब्यूरो पहुंचा रहा है, उतनी आंच अभी तक किसी अन्य मामले ने नहीं पहुंचाई है। देश में...

मोदी देखते रहे और रुपए ने बिगाड़ा निवेश का खेल

मोदी देखते रहे और रुपए ने बिगाड़ा निवेश का खेल

हमारे देश की आर्थिक वृद्धि की गति बेहतर है, पर अर्थव्यवस्था पर घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हलचलों के नकारात्मक असर की आशंकाएं लगातार बनी हुई हैंं। बीते नौ माह में भारतीय पूंजी बाजार से विदेशी निवेशकों ने...

आप ट्रंप हैं या शेख चिल्ली?

आप ट्रंप हैं या शेख चिल्ली?

मीडियावाला.इन। सउदी अरब के प्रसिद्ध पत्रकार जमाल खाशोगी की हत्या पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की किरकिरी पहले से हो ही रही है, अब उन्होंने एक नया शोशा छोड़ दिया है। वे कह रहे हैं कि 1987 में...

भाजपा की गलतियाँ ही कांग्रेस को सत्ता का मौका देगी! 

भाजपा की गलतियाँ ही कांग्रेस को सत्ता का मौका देगी! 

विधानसभा चुनाव की दुंदुभि बज चुकी है। मध्यप्रदेश के दो परंपरागत राजनीतिक प्रतिद्वंदी फिर आमने-सामने हैं। एक के पास डेढ़ दशक की सत्ता की ताकत है, तो दूसरे के पास प्रतिद्वंदी की खामियों की फेहरिस्त! इस चुनाव में...

ये किस्से चुनावी: तब जातिपाँति से उठकर वोट पड़ते थे...!

ये किस्से चुनावी: तब जातिपाँति से उठकर वोट पड़ते थे...!

इंंदौर के कामरेड होमीदाजी और सतना की कांताबेन पारेख के व्यक्तित्वों में जमीन आसमान का फर्क था लेकिन जो एक अद्वितीय समानता थी वो यह कि दोनों ही अपने-अपने शहर में अति अल्पसंख्य पारसी व गुजराती परिवारों से...

दूध में दृष्टिदोष अच्छी बात नहीं है 

दूध में दृष्टिदोष अच्छी बात नहीं है 

परिवर्तन जिंदगी का एक जरूरी हिस्सा है.लेकिन,जीवन की अगली व्यवस्था और उसका अस्तित्व बने रहें,इसलिए आ रहे परिवर्तन के स्वभाव और परिणामों को,ठीक समय पर,और ठीक ढंग से देख पाना,किसी न किसी के जिम्मे तो आता ही होगा...

हंसते हंसाते काम की बातें बताते रहे हैप्पी स्वामी !

हंसते हंसाते काम की बातें बताते रहे हैप्पी स्वामी !

कथा-प्रवचन वाले शहर में हुआ ठहाकों का भंडारा इंदौर कीर्ति राणा । शहर में आए दिन कथा-प्रवचन-भंडारे तो होते रहते हैं लेकिन हैप्पी स्वामी की बातें एक तरह से ठहाकों का भंडारा था। लगा नहीं किसी...