Monday, September 23, 2019

कॉलम / नजरिया

चट्टानी नायक की धार को अभद्र भाषा से भेदने की रणनीति !

चट्टानी नायक की धार को अभद्र भाषा से भेदने की रणनीति !

चुनाव पहले जिस तरह भाषा की मर्यादा लांघकर संवाद किए जा रहे हैं, वह दुर्भाग्यजनक है। मुद्दों से ज्यादा अभद्र भाषा महत्वपूर्ण हो गई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने को देश का चौकीदार कहते रहे हैं, राहुल गांधी ने...

कौव्वे हमारे पुरखों के सांस्कृतिक दूत

कौव्वे हमारे पुरखों के सांस्कृतिक दूत

पितरपख लगा है कौव्वे कहीं हेरे नहीं मिल रहे। इन पंद्रह दिनों में कौव्वे हमारे पितरों के साँस्कृतिक दूत बनके आते थे। अपने हिस्से का भोग लगाते थे।  कौव्वे पितर बनके तर गए या फिर पितरों ने ही...

अपने लिए ही,अपन कब जागेंगे ?

अपने लिए ही,अपन कब जागेंगे ?

मीडियावाला.इन।  मेरे कई मित्र,मेरा लिखा हुआ पढ़कर,पहला सवाल यही करते हैं कि जो भी समस्या मैंने बताई है,उसका हल या निदान कहाँ है ? मैं कहता हूँ कि पहले हम इन समस्याओं को अपनी रोज की चर्चाओं...

सपाक्‍स आंदोलन : क्‍या सरसों के फूल खिलेंगे?

सपाक्‍स आंदोलन : क्‍या सरसों के फूल खिलेंगे?

मीडियावाला.इन। मध्यप्रदेश में 2018 के अंत में विधानसभा चुनाव होना है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह की भोपाल यात्रा के साथ भाजपा तो कांग्रेस के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी के मप्र दौरों के साथ...

लखनऊ मर्डर: यह लोगों के पुलिस पर भरोसे की भी हत्या है !

लखनऊ मर्डर: यह लोगों के पुलिस पर भरोसे की भी हत्या है !

मीडियावाला.इन।  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में यूपी पुलिस द्वारा एक निजी कंपनी के मैनेजर की सरे आम हत्या की घटना जितनी उद्वेलित करने वाली है, उससे भी ज्यादा क्षुब्ध करने वाली इस अत्यंत निंदास्पद घटना के...

गांधी का भारत कहां है

गांधी का भारत कहां है

मीडियावाला.इन। महात्मा गांधी के जन्म का डेढ़ सौवां साल अब शुरु होनेवाला है। उन्हें गए हुए भी सत्तर साल हो गए लेकिन मन में सवाल उठता है कि भला गांधी का भारत कहां है ? ऐसा नहीं है...

लालू चर गए देश का चारा, मोदी चर गए भाईचारा

लालू चर गए देश का चारा, मोदी चर गए भाईचारा

बुंदेलखंड में इन दिनों राजनीतिक चर्चाएँ चरम पर हैं। कड़वे दिन चल रहे हैं सो चारों तरफ़ कड़वे बोल बोलने में भी लोगों को कोई परहेज़ नहीं है। जुमलों के ज़रिए लोग अपने मन की कड़वी बातों को...

ये है नायिका का नया ताना-बाना  

ये है नायिका का नया ताना-बाना  

पुरानी फिल्म 'खानदान' में एक गीत था 'तुम्हीं मेरे मंदिर, तुम्हीं मेरी पूजा, तुम ही देवता हो!' ये गीत सुनील दत्त और नूतन पर फिल्माया गया था। वास्तव में ये गीत पत्नी का पति के प्रति अगाध प्रेम...

राहुल का राग राफेल और रेवांचल की धुक धुकी

राहुल का राग राफेल और रेवांचल की धुक धुकी

मीडियावाला.इन। यार अब पता चला कि जब मैंने अपने दिल्ली के दोसतों को राहुल का रोड शो कवर करने जाने का मैसेज भेजा था तो क्यों सभी ने हंस कर आल द बेस्ट कहा था। बडा मुश्किल...

कितनी डरावनी होती है रजस्वला स्त्रियां

कितनी डरावनी होती है रजस्वला स्त्रियां

रजस्वला स्त्रियां सच में बहुत डरावनी होती है। इतनी कि उनसे भगवान भी डरते हैं। खास दिनों में तो ठीक उस अवधि से गुजरने की पूरी उम्र में भी उन्हें दर्शन देने से परहेज करते हैं। अदालत जब इसे...

सर्जिकल या फर्जीकल स्ट्राइक ?

सर्जिकल या फर्जीकल स्ट्राइक ?

मीडियावाला.इन। सरकार कितनी नौटंकीप्रिय है ? दो साल पहले हुई तथाकथित सर्जिकल स्ट्राइक की वह दूसरी जयंति मना रही है ? कोई उससे यह पूछे कि उसकी पहली जयंति का क्या हुआ ? पिछले साल सितंबर में वह उसकी...

ये है गांधीगिरी का चमत्कार !

ये है गांधीगिरी का चमत्कार !

बाजार में अफीम की भाजी तो आ नहीं रही मतलब इसकी फसल का सीजन नहीं है।फिर ये मंदसौर में कौनसी नशीली हवा चल पड़ी कि शासकीय पीजी कॉलेज के प्राध्यापक दिनेश गुप्ता के डील में बापू की सवारी आ...

वह बपौती नहीं है

वह बपौती नहीं है

मीडियावाला.इन। सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले ने सदियों से स्त्री को गुलाम बनाकर उस पर शासन के दंभ को जी रहे पुरुषवादियों को एक और करारा झटका दिया है। धारा 497 को असंवैधानिक करार देते ही स्त्री पुरुषों...

त्वरित सुनवाई का मतलब जल्दी फैसले की उम्मीद !

त्वरित सुनवाई का मतलब जल्दी फैसले की उम्मीद !

मीडियावाला.इन। सर्वोच्च न्यायालय ने मस्जिद में नमाज को लेकर जो फैसला दिया है, उसके राजनीतिक निष्कर्ष निकाले जा रहे हैं। चुनाव पास हैं इसलिए और अतिसंवेदनशील मुद्दा होने से भी इसे लेकर वैचारिक कसरतें चल रही हैं। दरअसल...

जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस साँच कहै ता

जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस साँच कहै ता

चित्रकूट की महिमा को लेकर एक दोहा मशहूर है-  चित्रकूट मा बसि रहें रहिमन अवध नरेश, जा पर विपदा परत है ते आवत एंहि देश।। कांग्रेस विपदा में है। मध्यप्रदेश में तीन पंचवर्षी...

पढ़ाना अपराध है, आइये नारे लगाते हैं, क्योंकि यही देशभक्ति है 

पढ़ाना अपराध है, आइये नारे लगाते हैं, क्योंकि यही देशभक्ति है 

मंदसौर कॉलेज में कुछ लोग घुसते हैं। कक्षाओं के दौरान नारेबाजी करते हैं। विद्यार्थियों को पढ़ा रहे एक प्रोफेसर शोर न करने का आग्रह करते हैं तो पूरी भीड़ उन्हें प्रताडि़त करने लगती है। उन पर राष्ट्रद्रोह का...

क्या सुप्रीम कोर्ट के इन फैसलों में बदलते समाज की आहट है?

क्या सुप्रीम कोर्ट के इन फैसलों में बदलते समाज की आहट है?

वर्ष 2018 का सितंबर माह इतिहास में  दो ऐसे ‘क्रांितकारी’ फैसलों के लिए जाना जाएगा, जो पूरे भारतीय समाज के बदलाव की बुनियाद बन सकते हैं। बनेंगे। हालांकि इन संवेदनशील मसलों और मान्यताअों पर देश की सर्वोच्च अदालत...

पढ़ाना अपराध है, आइये नारे लगाते हैं, क्योंकि यही देशभक्ति है

पढ़ाना अपराध है, आइये नारे लगाते हैं, क्योंकि यही देशभक्ति है

मीडियावाला.इन। मंदसौर कॉलेज में कुछ लोग घुसते हैं। कक्षाओं के दौरान नारेबाजी करते हैं। विद्यार्थियों को पढ़ा रहे एक प्रोफेसर शोर न करने का आग्रह करते हैं तो पूरी भीड़ उन्हें प्रताडि़त करने लगती है। उन पर राष्ट्रद्रोह...

क्या बीजेपी का एक धड़ा व्यापम मुद्दे को जिंदा रखना चाहता है?

क्या बीजेपी का एक धड़ा व्यापम मुद्दे को जिंदा रखना चाहता है?

मीडियावाला.इन। बुधवार को भोपाल की एक अदालत द्वारा पुलिस को दिया गया निर्देश अब तक पूरे देश में खबर बन चुका है!अदालत ने कांग्रेस के तीन प्रमुख़ नेताओं- कमलनाथ,दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ केस दर्ज करने तथा...

कैमरों को अदालत में क्या देखने को मिलेगा

कैमरों को अदालत में क्या देखने को मिलेगा

सुप्रीम कोर्ट ने अदालत की कार्रवाई का सीधा प्रसारण करने की इजाजत दे दी है। तब से सोच में डूबा हूं कि इन कैमरों को अदालत में क्या देखने को मिलेगा। संसद का सीधा प्रसारण शुरू होने के...