Thursday, September 19, 2019

कॉलम / नजरिया

अब कैसे कहेंगे शो मस्ट गो ऑन

अब कैसे कहेंगे शो मस्ट गो ऑन

मीडियावाला.इन।  पीढिय़ों के बीच न जाने ये कैसा अंतरद्वंद्व है, जो खत्म होने का नाम नहीं लेता। पुरखों से बड़ी लकीर खींचने की जद्दोजहद पता नहीं कब तक हमें अपनी विरासतों से महरूम करती रहेगी। कोई वजह नजर नहीं...

किस अखाड़े गढ़ी जा रही, भाजपा की अगली पीढ़ी! 

किस अखाड़े गढ़ी जा रही, भाजपा की अगली पीढ़ी! 

भोपाल में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि अगले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भाजपा वंशवाद के आधार पर नहीं, बल्कि योग्यता के आधार पर उम्मीदवारों का...

नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया मैनेजर्स का जवाब नहीं!

नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया मैनेजर्स का जवाब नहीं!

रक्षाबंधन के दिन मोदीजी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 55 विशिष्ट महिलाओं को फॉलो करना शुरू कर दिया। इनमें बैडमिंटन खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा, टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा, एथलीट पीटी ऊषा, बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ. स्वरूप सम्पत (परेश रावल...

'नयी दुनिया'के लिए 'अंधी-गुफा'है भ्रष्टाचार 

'नयी दुनिया'के लिए 'अंधी-गुफा'है भ्रष्टाचार 

गरीबी और असमानता के बिना,इस सदी की नयी दुनिया कैसी होगी ? यह सपना वर्ष 2000 की समाप्ति पर संयुक्त राष्ट्र संघ में बैठकर उसके सभी सदस्य देशों ने पूरी सहमति से देखा था.उसके लिए गरीबी,भुखमरी,कुपोषण,असमानता,अज्ञान,अशिक्षा...

दंगा हुआ भी था या नहीं

दंगा हुआ भी था या नहीं

एक भीड़ है जो सडक़ों पर तांडव कर रही है। चुन-चुनकर घर जला रही है। सिर पर पगड़ी देखते ही पीछे दौड़ रही है। उन्हें जिंदगी की कैद से आजाद कर रही है। दुकानों में घुसकर तोडफ़ोड़ मचा...

राजनीति  और  विवाद

राजनीति और विवाद

अभी हाल की कुछ गतिविधियाँ प्रचलित फ़ैशन के अनुसार राष्ट्रीय विवाद बन गई हैं। किसी भी बात को अचानक मुख्य मीडिया और उसका चंचल भाई सोशल मीडिया विवाद बना देने की क्षमता रखते हैं। केरल बाढ़ के लिये...

कमल शक्ति, महिला शक्ति, वोट शक्ति

कमल शक्ति, महिला शक्ति, वोट शक्ति

भोपाल के सीएम हाउस के अंदर गेट के पास ही हमेशा लगा रहने वाला पंडाल उस दिन खास तौर पर महिलाओं के लिये ही सजा था। पांच संभागों से आयीं सैकडों महिलायें मंच के सामने कुर्सियों पर डटकर...

अटलजी और गठबंधन धर्म, लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

अटलजी और गठबंधन धर्म, लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

भारतीय लोकतंत्र में गठबंधन की राजनीति की विवशता को गठबंधन धर्म विशेषता में बदलने का जो युगांतरकारी काम अटल बिहारी वाजपेयी ने किया है वह संसदीय इतिहास में एक स्वर्णिम अध्याय के रूप में स्मरण किया जाएगा। आजादी के...

ऐसे युवाओं का दिल जीता अटल जी ने

ऐसे युवाओं का दिल जीता अटल जी ने

अटल जी द्वारा बोली गई शेर की ये पंक्तियां ''देर से आया हूं, मगर दूर से आया हूँ, गुनाहगार हूँ, मगर माफी का तलबगार  हूँ '' होल्कर विज्ञान महाविद्यालय, इंदौर के पूर्व छात्रों के स्मृति पटल पर आज भी...

विधायक की गाड़ी और महाभारत

विधायक की गाड़ी और महाभारत

जी। लाल पीली हरी बत्तियाँ जो हर चौराहे पर खड़ी आम आदमी (औरत, लड़के, लड़की सब भाई) को मुँह चिढ़ाती हैं, वो विधायक की गाड़ी (यानि उनके ड्राइवर, जो कि स्वयं एक आम आदमी है) के लिए कोई...

भारत-पाक रिश्ते और अटलजी

भारत-पाक रिश्ते और अटलजी

वक्त के स्लेट की इबारत को समझिए अटलबिहारी वाजपेयी के निधन पर आश्चर्यजनक तौर पर जो सबसे मार्मिक प्रतिक्रिया आई वह पाकिस्तान से थी। वहां के प्रायः सभी अखबारों में भारत पाकिस्तान के बीच शांति के प्रयासों के...

जब अटलजी ने इंदौर प्रेस क्लब में खूब हंसी-ठट्टा किया

जब अटलजी ने इंदौर प्रेस क्लब में खूब हंसी-ठट्टा किया

मीडियावाला.इन। यह वो दौर था , जब अटल बिहारी वाजपेई नाम की शख्सियत पूरे देश में प्रमुख विपक्षी नेता , ओजस्वी वक्ता  , वाक  पटु व्यक्ति के तौर पर विख्यात थे।  देश के  प्रमुख विपक्षी राजनितिक दल भारतीय...

‘आत्म प्रवंचित बौने के दरबार’ किस राजनीतिक दल में नहीं हैं?

‘आत्म प्रवंचित बौने के दरबार’ किस राजनीतिक दल में नहीं हैं?

आम आदमी पार्टी में जारी भीतरी घमासान के फलस्वरूप चल रहे इस्तीफों के ताजा दौर के बाद ‘आप’ नेता और कवि कुमार विश्वास ने अपने अंदाज में पार्टी के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लेकर एक सटीक...

फिल्म समीक्षा: हैप्पी फिर भाग जाएगी, बेचारी हैप्पी कित्ती बार भागेगी?

फिल्म समीक्षा: हैप्पी फिर भाग जाएगी, बेचारी हैप्पी कित्ती बार भागेगी?

हैप्पी 2016 में भागी थी। दो साल बाद फिर भाग गई। पहली बार भागी, तो दर्शक उतना अनहैप्पी नहीं हुए, जितना अब हो गए। पिछली बार वह भागकर गलती से पाकिस्तान पहुंच गई थी। इस बार बाप को मुंबई...

बाबाओं के मकड़जाल में

बाबाओं के मकड़जाल में

मेरे एक मित्र हैं ज्योतिष के पंडित। ज्योतिष की पंडिताई कालेज में पढ़ी, पीएचडी की और वहीं कालेज में पढ़ाने लगे। इसे धंधा नहीं बनाया। मैंने सुझाया..प्रभू कालेज छोड़ो धंधे में निकलो, देखो सड़कछापों का महीने का टर्नओवर लाखों...

हंसी ठट्ठे में हवा होती अटल आस्था

हंसी ठट्ठे में हवा होती अटल आस्था

मीडियावाला.इन। घर का बुजुर्ग, बाप मरा हो तब भी दाग के तीसरे दिन उठावने के बाद परिजन शोक भुलाने की कोशिश करते हुए रोजमर्रा के जीवन वाली राह पर चल पड़ते हैं।फिर ये तो अटलजी थे, रहे होंगे...

एक चश्मदीद का जाना

एक चश्मदीद का जाना

मीडियावाला.इन। वक्त की चादर पर रोज नई सिलवटें होती हैं। अधिकतर उसे देखते हैं, महसूस भी करते हैं, लेकिन अक्सर मौके पर अभिव्यक्त करने से चूक जाते हैं। कई साहस जुटाते भी हैं तो बेबाकी के मोर्चे पर...

कितनी झिलमिलाएगी बहनजी की ये ‘राजनीतिक राखी’?

कितनी झिलमिलाएगी बहनजी की ये ‘राजनीतिक राखी’?

बसपा सुप्रीमो बहन मायावती जन्म दिन के अलावा एक  त्यौहार उत्साह से मनाती हैं और वह है रक्षा बंधन। उनका यह रक्षा बंधन वास्तव में राजनीतिक रक्षाबंधन होता है। इस बार यह सौभाग्य इंडियन नेशनल लोक दल (...

जय हिंद से ऐसी क्या नाराजगी

जय हिंद से ऐसी क्या नाराजगी

हजरत बल दरगाह में ईद की नमाज पढऩे गए जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्लाह के साथ बदसलूकी की गई। धक्कामुक्की हुई, उनकी तरफ जूते उछाले गए। इबादत से रोकने की कोशिश की गई। गो बैक के...

'गुलाबी गाल और लाल खून' वाली अर्थव्यवस्था हमारी तो नहीं हैं

'गुलाबी गाल और लाल खून' वाली अर्थव्यवस्था हमारी तो नहीं हैं

वर्ष 2000 में जब दूसरी सहस्त्राब्दि समाप्त होकर,तीसरी सहस्त्राब्दि शुरू हुई थी,तब संयुक्त राष्ट्र संघ में 189 देशों ने एक मसौदे पर बाक़ायदा दस्तखत कर 'सहस्त्राब्दि विकास लक्ष्य' निर्धारित किये थे,व इन्हें अपने सभी कामों में सर्वोच्च प्राथमिकता...