Monday, September 23, 2019

कॉलम / नजरिया

कांग्रेस का दांव उलटा पड़ा तो बचाकुचा आदिवासी आधार भी हाथ से न निकल जाए

कांग्रेस का दांव उलटा पड़ा तो बचाकुचा आदिवासी आधार भी हाथ से न निकल जाए

मीडियावाला.इन। विधानसभा चुनाव 2018 के लिए आदिवासी क्षेत्रों में राजनीतिक शतरंज पर खेल शुरू हो गया है। प्यादे आगे बढ़ाकर बाजी कैसे जीती जाए इसके दांव-पेंच शुरू हो गए हैं।  आदिवासी अंचल में  भारतीय जनता...

महाप्रभु, चेहरे के इस तनाव को उतार फेंकिए ना!

महाप्रभु, चेहरे के इस तनाव को उतार फेंकिए ना!

अभी विश्व योग दिवस पर मैंने भी योग किया। मेरे लिए भी इन चार वर्षों में योग दिवस इसलिए गर्व दिवस हो गया है कि अपने पीएमजी की वजह से योग ‘इंटरनेशनल योगा डे’ हुआ है।दो दिन बाद...

प्लास्टिक बैग बंदी के साथ ‘सांस्कृतिक सुधार’ भी जरूरी!

प्लास्टिक बैग बंदी के साथ ‘सांस्कृतिक सुधार’ भी जरूरी!

मीडियावाला.इन। महाराष्ट्र में जिस संकल्प के साथ प्लास्टिक बैग बंदी लागू की गई है, उसके परिणाम अभी आने हैं, फिर भी इसे सही दिशा में सही सही शुरूआत माना जा सकता है। खास बात है...

प्रधान के बाबा अवतरण का मतलब तो बताओ मामा

प्रधान के बाबा अवतरण का मतलब तो बताओ मामा

प्रधान सेवक (संभवतः अपना ही दिया हुआ शब्द ) को मप्र में शिवराज सिंह ने किस तरह प्रस्तुत किया उसके अनेक गूढ़ार्थ हैं इस पर आगे चर्चा करेंगे लेकिन मुझे यह एक सेवक के बाबा अवतरण की तरह लगा...

म.प्र.में हरा-हरा जड़ से उखडा तंत्र

म.प्र.में हरा-हरा जड़ से उखडा तंत्र

मीडियावाला.इन। पिछले कुछ दिनों में पढ़े दो वाक्य-समूहों ने एक तरह से दिल दहला दिया है.इन वाक्यों के सारे शब्द अपने सामाजिक अहंकार को आईना दिखाकर कहते हैं,कि क्या हम इसी तरह का सभ्य समाज...

वे सिर्फ तालियां बजाने नहीं आए हैं

वे सिर्फ तालियां बजाने नहीं आए हैं

प्रधान सेवक इंदौर में 16 जिलों के चुनिंदा लोगों से रूबरू हुए। ये वे लोग थे, जिन्हें किसी न किसी सरकारी योजना का लाभ मिला था। कोई सरकारी आवास पा गया था तो किसी के इलाके में पेयजल...

शिवराज ने गांधी के समकक्ष खड़ा कर दिया मोदी को, विजयवर्गीय कैसे पचा सकेंगे, मीडिया को बहस का मुद्दा दे गए

शिवराज ने गांधी के समकक्ष खड़ा कर दिया मोदी को, विजयवर्गीय कैसे पचा सकेंगे, मीडिया को बहस का मुद्दा दे गए

मीडियावाला.इन। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नेहरु स्टेडियम के मंच से प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में जो कहा उसे पचा पाना भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के लिए तो बहुत मुश्किल ही होगा।अपने भाषण...

एक्‍शन तो तन्‍वी सेठ और मीडिया पर भी होना चाहिए

एक्‍शन तो तन्‍वी सेठ और मीडिया पर भी होना चाहिए

मैं जानता हूं कि आज जिस विषय पर लिखने जा रहा हूं उसे लेकर मुख्‍य मीडिया और सोशल मीडिया में अच्‍छी खासी बहस चल रही है। मैं इस बात से भी अनभिज्ञ नहीं हूं कि इस मुद्दे को अब हिन्‍दू-मुस्लिम...

प्रधान सेवक को कभी तो हकीकत दिखाओ...

प्रधान सेवक को कभी तो हकीकत दिखाओ...

चचा गालिब से तोडफोड़ के लिए पूरी माफी के साथ कहना चाहता हूं कि वे आ रहे हैं घर में हमारे खुदा की कुदरत है कभी हम उनके बारे में सोचते हैं कभी अपना घर देखते हैं। समझ नहीं...

‘मोदी मंत्र’ और कांग्रेस के नारायण भाई पकौड़े वाले...!

‘मोदी मंत्र’ और कांग्रेस के नारायण भाई पकौड़े वाले...!

मीडियावाला.इन। वडोदरा के कांग्रेसी नारायण भाई राजपूत यकीनन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘पकौड़ा बिजनेस’ के पोस्टर ब्वाॅय हो सकते हैं। कारण उन्होने ने मोदी के छह माह पहले एक टीवी चैनल को दिए एक खास...

ये कहानी है पौधा चुराने वाले उस बच्चे की, जिसका वृक्ष मित्र नामकरण किया राष्ट्रपति ने

ये कहानी है पौधा चुराने वाले उस बच्चे की, जिसका वृक्ष मित्र नामकरण किया राष्ट्रपति ने

पहली बार मिलें तो विश्वास भी नहीं होता उल्टे बातचीत सुनते हुए लगता है कि ये शख़्स ऊँची ऊँची फेंक रहा है।पर जब विष्णु लांबा एक के बाद एक राज्यों में पौधारोपण की दिशा में कल्पतरु संस्था के माध्यम...

चीन को दो टूक, मत करो पंचायती!

चीन को दो टूक, मत करो पंचायती!

दो पड़ोसी देश अपने रिश्ते नये सिरे से तय करें, क्योंकि तीसरे पड़ोसी देश की यही मर्जी है- सुनने में यह बात चाहे जितनी विचित्र जान पड़े, पर भारत और पाकिस्तान को लेकर चीन की नीयत कुछ ऐसी...

जान लेने की तो चर्चा बहुत है, जान देने का क्‍या?

जान लेने की तो चर्चा बहुत है, जान देने का क्‍या?

देश में लोगों की जान ले लेने वाले अपराधों की चर्चा तो बहुत होती है। लेकिन जान दे देने वालों की चर्चा अपेक्षाकृत उतनी गंभीरता से नहीं होती। किसी की जान ले लेने की वारदात के कारणों का...

आजकल योग कर रहा हूँ

आजकल योग कर रहा हूँ

मीडियावाला.इन। टीवी पर लोगों को तरह-तरह के जतन करते देख हमारे एक मित्र को भी समझ आया कि भाई योग जीवन के लिए बड़ा जरूरी है। मेडिकल रिपोर्ट भी ऊपर-नीचे हो रही थी तो तय कर लिया कि...

योग दिवस में छिपा ‘राज-योग’ और सियासी वियोग

योग दिवस में छिपा ‘राज-योग’ और सियासी वियोग

मीडियावाला.इन। योग दिवस की सबसे बड़ी सफलता यह है कि लगातार चौथी बार दुनिया के 177  देशों में लोगों ने योगाभ्यास किया तो इसकी सबसे बड़ी असफलता यह है कि भारत में योग दिवस भी एक सरकारी और...

अब देखना है आप ‘उस’ मुहब्‍बत का इजहार कैसे करते हैं?

अब देखना है आप ‘उस’ मुहब्‍बत का इजहार कैसे करते हैं?

मीडियावाला.इन। जम्‍मू कश्‍मीर में गठबंधन सरकार से अलग हो जाने के भारतीय जनता पार्टी के फैसले की गुरुवार को अखबारों ने अपने अपने हिसाब से व्‍याख्‍या और विश्‍लेषण किया है। लेकिन सबसे ज्‍यादा हैरानी मुझे उन खबरों...

पढे लिखे नौजवान, किसान और एक्टिविस्ट बुधनी विधानसभा में हो रहे लामबंद, घिर सकते हैं शिवराज

पढे लिखे नौजवान, किसान और एक्टिविस्ट बुधनी विधानसभा में हो रहे लामबंद, घिर सकते हैं शिवराज

मीडियावाला.इन। नर्मदा को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अपने ही घर यानी बुधनी विधानसभा में विरोध का सामना करना पड रहा है। इलाके के पढे-लिखे नौजवान, एक्टिविस्ट और किसान लामबंद होकर बुधनी विधानसभा में नर्मदा बचाओ तिरंगा यात्रा...

कश्मीर में ही फैसला, थोड़ी जल्द कदम उठाते जनाब

कश्मीर में ही फैसला, थोड़ी जल्द कदम उठाते जनाब

मीडियावाला.इन। जम्मू कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी सरकार चली गई। भाजपा ने समर्थन वापस ले लिया और कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस किसी विकल्प की कसरत नहीं करना चाहते, याने राज्यपाल वहां सरकार चलाएंगे। मेहबूबा मुफ्ती पर वर्तमान हालात...

काश...शास्त्री जी जैसी "दृष्टि" हर नेता को मिली होती

काश...शास्त्री जी जैसी "दृष्टि" हर नेता को मिली होती

मीडियावाला.इन। राजनीति और नेतागिरी आज जिस पतनशीलता के दौर से गुजर रही है, आम-आदमी के मुद्दे कारपोरेट के डस्टबिन में डाले जा रहे हैं, ऐसे में यमुना प्रसाद शास्त्री की रह-रहकर याद आना स्वाभाविक है।