Thursday, September 19, 2019

कॉलम / नजरिया

जोखिम उठाकर काला धन पर वार करती मोदी सरकार

जोखिम उठाकर काला धन पर वार करती मोदी सरकार

केन्द्र सरकार ने जल्दी ही करीब सवा दो लाख कंपनियों को बंद करने के संकेत दे दिए हैं। इससे पहले गए साल में सरकार 2 लाख 26 हजार 166 फर्जी कंपनियां चिन्हित कर डीरजिस्टर्ड करने का कठोर कदम...

शब्दों की झाड़ियां बनाकर अनुचित विचारों का जंगल मत बनाइये

शब्दों की झाड़ियां बनाकर अनुचित विचारों का जंगल मत बनाइये

बहुत कुछ लिख पढ़ लिया बीते त्रासदायक दो दिनों में, जो भय्यूजी महाराज को जानते थे वे भी और जो नहीं जानते वे भी किसी विशेषज्ञ की तरह जैसी चली कलम घसीटते चले गए , कुछ शीलवान अशालीन...

जिंदगी से हारों को मौत भी मुक्त नहीं करती

जिंदगी से हारों को मौत भी मुक्त नहीं करती

मीडियावाला.इन। मौत अधिकतर कहानियों का उपसंहार लिखती है। याद है ना बचपन की वह कहानी। एक था राजा, एक थी रानी, दोनों मर गए खतम कहानी। इसके उलट कुछ कहानियां ऐसी होती हैं, जो मौत...

क्या ‘संत’ शब्द की पुनर्व्याख्या  का सही समय आ गया है?

क्या ‘संत’ शब्द की पुनर्व्याख्या का सही समय आ गया है?

मीडियावाला.इन। अगर संत भी सांसारिक दुखों से त्रस्त होकर आत्महत्याएं करने लगें, भौतिक स्वार्थों में डूबकर और महाभोगी बनकर जेल यात्राएं करने लगें, अध्यात्म लालच और लंपटता का पर्याय बनने लगे, संत भी ‘सीकरी’ का...

राष्ट्र संत का डेडबॉडी हो जाना !

राष्ट्र संत का डेडबॉडी हो जाना !

मीडियावाला.इन। उड़ जाएगा हंस अकेला, जग दर्शन का मेला ....कबीर जैसा न किसी ने लिखा और न कुमार गंधर्व जैसा उनका लिखा किसी ने गाया। गोली मारने से लेकर अस्पताल लाए जाने तक जिन सब...

यात्रा संस्मरण - न्यू हैम्पशायर के लुभावने रंग

यात्रा संस्मरण - न्यू हैम्पशायर के लुभावने रंग

मीडियावाला.इन। पतझड़ के मौसम में पेड़ो से पत्ते झड़ने लगते है। जिन वृक्षो में किसी समय हरे- हरे पत्ते होते थे अब उन्ही वृक्षो के पत्त्ते पीले, लाल या भूरे हो जाते है। पर पतझड़ के मौसम...

संतों से तो फिर आम आदमी ज्यादा अच्छा

संतों से तो फिर आम आदमी ज्यादा अच्छा

मीडियावाला.इन। जब वे उदय देशमुख थे और महेंद्रा सीमेंट में मैनेजर थे, तब से महेंद्र बापना और मेरी मित्रता थी। चैन स्मोकर थे, जितनी देर में मेरी कट चाय पूरी होती उतने वक्त में वे...

स्मृति शेष : भय्यू महाराज - गृहस्थ संत का दुखद अंत

स्मृति शेष : भय्यू महाराज - गृहस्थ संत का दुखद अंत

भय्यू महाराज  मानते रहे  कि हर व्यक्ति अपनी सीमाओं में रहकर वे सारे काम कर सकता है, जो उसे ईश्वर के समकक्ष ले जाते हैं। जरूरत केवल इस बात की है कि व्यक्ति यह तय तो करे कि...

मध्यप्रदेश में कांग्रेस-बसपा गठबंधन, कैसे बदल सकती है सियासी तस्वीर

मध्यप्रदेश में कांग्रेस-बसपा गठबंधन, कैसे बदल सकती है सियासी तस्वीर

साल के अंत में होने वाले मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन की पुष्टी के बाद सियासी तस्वीर बदली सी दिखाई देने वाली है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ इस गठबंधन की बिसात बिछाने की...

चुनाव तो आप जीत ही जाएंगे, इधर भी देख लें

चुनाव तो आप जीत ही जाएंगे, इधर भी देख लें

मीडियावाला.इन। सामान्यतः घरों में देखा जाता है कि पहली पीढ़ी के लोग,अपनी नई या वर्तमान पीढ़ी के लोगों से कोई भी बात करते हैं,तो उन्हें पुराना,संदर्भहीन या अप्रासंगिक मानकर अनसुना कर दिया जाता है,या टाल...

तो क्या हमे भावी प्रधानमंत्री इसी ‘कसौटी’ पर चुनना होगा?

तो क्या हमे भावी प्रधानमंत्री इसी ‘कसौटी’ पर चुनना होगा?

क्या इस देश में प्रधानमंत्री बनने का एक जरूरी क्वालिफिकेशन अब तथ्यात्मक अज्ञानता बन गया है? यह सवाल इसलिए क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में आयोजित अोबीसी सम्मेलन में देश का ज्ञान वर्द्धन करते हुए कहा...

मीडिया प्रबंधन के बहाने प्रभात की प्रदेश वापसी

मीडिया प्रबंधन के बहाने प्रभात की प्रदेश वापसी

कांग्रेस के दो प्रमुख नेताओं कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा लगातार किये जा रहे मीडिया आक्रमण और प्रभाव को देखते हुए भाजपा को अपने अनुभवी मीडिया विशेषज्ञ प्रभात झा को फिर से उनकी 20-25 साल पुरानी भूमिका में झोंकना...

जान को खतरा

जान को खतरा

आधी रात में कुछ ही वक्त बाकी होगा कि दोस्त का फोन आया। उठाते ही बोला, यार मेरी जान को खतरा है। मैंने पूछा, तुमसे अब किसे इतनी अदावत हो गई, जो तुम्हारी जान के पीछे पड़ेगा। वह बोला,...

उनके मन में है कि यह 'रिश्वत' है, और हममें 'दहशत' है

उनके मन में है कि यह 'रिश्वत' है, और हममें 'दहशत' है

मुस्कुराइए कि मध्यप्रदेश में किसानों का दस दिनी आंदोलन कल समाप्त हो गया है.यह,हम सब मध्यप्रदेशवासियों का भाग्य ही है कि इन दस दिनों में हमारी जिंदगी 'नरक'नहीं बनी.लेकिन,दहशत में जरूर रहिये,क्योंकि आंदोलन के नेताओं ने कहा है...

बिहार में शराबबंदी, तेलंगाना के कुत्ते और खैनी का खेल !

बिहार में शराबबंदी, तेलंगाना के कुत्ते और खैनी का खेल !

बिहार में लागू शराबबंदी कुछ-कुछ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ‘राजनीतिक चरित्र’ जैसी ही है। कुछ इधर, कुछ उधर। इस नीति के नतीजों के मद्देनजर हाल में नीतीश को कहना पड़ा कि वे शराबबंदी कानून की समीक्षा करेंगे, क्योंकि...

यात्रा संस्मरण - केप ऑफ़ गुड हॉप

यात्रा संस्मरण - केप ऑफ़ गुड हॉप

टेबल माउन्टेन देखने के बाद एक विशेष यात्रा अभी करनी थी जो हमें उस बिंदु या दुनिया के उस अंतिम छोर पर ले जाएगी जहाँ से पुर्तगाली यात्री वास्को डिगामा ने समुद्री मार्ग से भारत को खोजा था, यही...

‘अंगूठा छाप’ को उच्च शिक्षा मंत्री बना दें तो भी क्या बिगड़ेगा

‘अंगूठा छाप’ को उच्च शिक्षा मंत्री बना दें तो भी क्या बिगड़ेगा

मीडियावाला.इन। कर्नाटक के उच्च शिक्षा मंत्री सिर्फ आठवीं पास हैं। यह खुलासा भी खुद ‍उच्च शिक्षा मंत्री जी.टी. देवगौडा ने ही किया है। लेकिन इस खुलासे में खुशी के बजाए मलाल इस बात का है...

दाल में काला

दाल में काला

मीडियावाला.इन। मैं रजनीकांत का फैन नहीं हूं मगर उनकी फिल्में देख लेता हूं। खासकर हिंदी में डब। उसमें रजनीकांत की आयातित आवाज रजनी के आक्रामक किरदार काे और असरदार बनाती है-कूल SSSS। मगर काला नाम की फिल्म दाल...

अर्जुन या अभिमन्यु

अर्जुन या अभिमन्यु

मीडियावाला.इन। अंडर 19 टीम में पदार्पण के साथ देर-सवेर ही सही अर्जुन सचिन तेंदुलकर ने भारतीय टीम में एंट्री कर ली है। विराट कोहली ने ट्वीट के जरिये इसकी सूचना दी और उन्होंने भी यही...