Wednesday, July 24, 2019

साहित्य

हिन्दी अकादमी के उपाध्यक्ष विष्णु खरे अस्वस्थ

हिन्दी अकादमी के उपाध्यक्ष विष्णु खरे अस्वस्थ

मीडियावाला.इन। दिल्ली के जी.बी पंत अस्पताल की आईसीयू के वार्ड नंबर 6 के बेड नंबर 16 पर लेटे, हिंदी के श्रेष्ठ कवि और अनुवादक विष्णु खरे होश में हैं लेकिन शरीर के बाएँ हिस्से में लकवा मार गया है। ...

'शरद जोशी सम्मान' स्व. सुशील सिद्धार्थ को

'शरद जोशी सम्मान' स्व. सुशील सिद्धार्थ को

मीडियावाला.इन।इस वर्ष का 'शरद जोशी सम्मान' स्व. सुशील सिद्धार्थ को दिया जाना तय हुआ है। प्रति दो वर्ष में दिये जाने वाले ये सम्मान प्रथम वर्ष में डॉ ज्ञान चतुर्वेदी को प्रदान किया गया था ! वर्ष 2016 में...

कुछ अनकहे अलफ़ाज़.

कुछ अनकहे अलफ़ाज़.

मीडियावाला.इन।आज साहित्य के कविता की कड़ी में एक युवा वैज्ञानिक डॉ पल्लवी तिवारी की कवितायें लेकर आयें है ,मध्यप्रदेश की रहनेवाली पल्लवी विगत दस वर्षों से यू एस ए के ओहायो स्टेट मे रह रही है ,वे वहाँ क्लीवलैंड...

स्वप्न महल

स्वप्न महल

मीडियावाला.इन। पिछले एक साल से हमारे बीच स्वयं का घर और घर में शिफ्ट होना एक ऐसा मुद्दा बना हुआ है, जिसके चलते हम सहज बात शुरू होने पर भी लड़ने लगते और कई बार चुप इसलिये होना पड़ता कि...

अमृता प्रीतम की  कविताएं 

अमृता प्रीतम की  कविताएं 

मीडियावाला.इन। मीडियावाला.इन।अमृता प्रीतम को याद  करते हुए -- अमृता प्रीतम देश की उन कवियित्रियों में से एक हैं जिनकी मोहब्बत की कहानी आज भी मशहूर है। 31 अगस्त 1919 को पंजाब के गुंजरावाला में जन्मीं अमृता का बचपन लाहौर में...

'लाइक ए बर्ड ऑन द वायर' युवा आईएएस छवि भारद्वाज के उपन्यास की समीक्षा

'लाइक ए बर्ड ऑन द वायर' युवा आईएएस छवि भारद्वाज के उपन्यास की समीक्षा

युवा आई ए एस अधिकारी और जबलपुर जिले की कलेक्टर छवि भारद्वाज का पहला नॉवेल आया है "like a bird on the wire"  । ये जब लिखा जा रहा था तब इसके कुछ अंश मैंने पढ़े थे और उसी...

'हिंदी के वर्तमान 100 बड़े रचनाकार:राही रेंकिंग-2018' की सूची--

'हिंदी के वर्तमान 100 बड़े रचनाकार:राही रेंकिंग-2018' की सूची--

मीडियावाला.इन।   कथाकार प्रबोध कुमार गोविल द्वारा प्रेषित 'हिंदी के वर्तमान 100 बड़े रचनाकार:राही रेंकिंग-2018' की सूची----------मध्यप्रदेश से भी कुछ नाम हैं ,हिन्‍दी के कई ख्‍यातनाम लेखक उस सूची में बाकायदा शामिल हैं, इसके उपरान्‍त भी हिन्‍दी के...

स्त्री मुक्ति का यूटोपिया

स्त्री मुक्ति का यूटोपिया

मीडियावाला.इन। डा. स्वाति तिवारी   प्रथम दृष्टा सब कुछ अद्भुत अलौकिक असाधारण था उसके घर में। सर्वप्रथम तो जान लीजिए कि उसके घर की पारिवारिक व्यवस्था ऐसी बनी थी जिसकी ना पितृसत्तामकता थी ना मातृसत्तात्मकता। वहाँ व्यक्तिवादी सत्ता का...

ताई की बुनाई

ताई की बुनाई

मीडियावाला.इन। गेंद का पहला टप्पा मेरी कक्षा अध्यापिका ने खिलाया था| उस दिन मेरा जन्मदिन रहा| तेरहवां| कक्षा के बच्चों को मिठाई बांटने की आज्ञा लेने मैं अपनी अध्यापिका के पास गया तो वे पूछ बैठीं, “तुम्हारा स्वेटर...

डार्विन जस्टिस : बिहार, नक्सल और प्रेम कहानी

डार्विन जस्टिस : बिहार, नक्सल और प्रेम कहानी

मीडियावाला.इन। अनय और चश्मिश कौन थे? मंडल कमीशन रिपोर्ट और उसके बाद में होने वाले उपद्रवों ने कैसे उनकी छह साल से भी ज्यादा चली प्रेम कहानी का इतना भयावह अंत किया ? “भूराबाल साफ़ करो” जातीय संघर्ष में...

नशामुक्ति

नशामुक्ति

मीडियावाला.इन। एक समय था, जब मुन्ना जी  की नियमित दोस्ती थी शराब से, नशा मुक्ति अभियान का बैनर थामे अभियान की अगुवाई करते थे, तो सब लोग इस जुमले पर हंसी ठिठोली किया करते थे । यूं तो...

आज़ादी अभी अधूरी है, अटलजी की मार्मिक कविता, उन्हीं की आवाज़ में

आज़ादी अभी अधूरी है, अटलजी की मार्मिक कविता, उन्हीं की आवाज़ में

मीडियावाला.इन। 15 अगस्त, देश की आजादी का दिन, आजाद भारत में  देश की स्थिति के बारे में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई से सुनिए, उनकी मार्मिक कविता, उन्हीं की आवाज़, लय और ताल में। विडियो को देखने के लिये लिंक...

हाइपरथाइरॉयडिज्म क्या है

हाइपरथाइरॉयडिज्म क्या है

मीडियावाला.इन। डॉक्टर अरविन्द जैन भोपाल  थाइरोइड रोग में ग्रंथि से स्राव अधिक या कम निकलने से रोग होता हैं .हइपरथोरॉइडिज़्म स्राव के अधिक निकलने से होता हैं .इसे एक्सोप्थाल्मिक गोइटर भी कहते हैं .सामान्यतः इसके लक्षण निम्म होते...

अब स्वतंत्रता दिवस नहीं: स्वाभिमान दिवस मनाएँ

अब स्वतंत्रता दिवस नहीं: स्वाभिमान दिवस मनाएँ

मीडियावाला.इन। संदीप सृजन हर साल 15 अगस्त आता है.... हर साल हमें यह याद दिलाया जाता है कि हम अंग्रेजों के गुलाम थे । आखिर बार-बार क्यों और कब तक हम याद करे की हमारे पूर्वज गुलाम थे । माना...

पुष्प की पीड़ा

पुष्प की पीड़ा

स्वतंत्रता दिवस पर विशेष  पुष्प की अभिलाषा शीर्षक से लिखी कविता से आप भी चिरपरिचित हैं न? आपने भी मेरी तरह यह कविता पढ़ी या सुनी जरूर होगी। कई बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में किसी बच्चे को...

हिरोशिमा

हिरोशिमा

  मैंने   हाँथ  बढ़ाया ही था खिड़की  खोल  तुम्हे टाटा करने  मानव  दानव का फूट पड़ा  प्रकाश  पुन्ज तुम  देखते  ही देखते  वाष्पित हो गये  और मैं  जीवित  ...

खाज्या नायक जनजातीय चेतना का पहला प्रखर योद्धा

खाज्या नायक जनजातीय चेतना का पहला प्रखर योद्धा

मीडियावाला.इन। क्राँतिकारी - खाज्या नायक निमाड़ क्षेत्र के सांगली ग्राम निवासी  गुमान नायक के पुत्र थे जो सन् 1833 में पिता गुमान नायक की मृत्यु के बाद सेंधवा घाट के नायक बने थे। उस इलाके में कैप्टन मॉरिस ने विद्रोही...

गीली लकड़ी सी सुलगती अमृता की रसीदी टिकिट

गीली लकड़ी सी सुलगती अमृता की रसीदी टिकिट

मीडियावाला.इन। बुझी हुई सिगरेट में गीली लकड़ी की तरह सुलगती अमृता से मुझे प्यार है। रसीदी टिकिट से ज्यादा ईमानदारी से शायद कोई आत्मकथा आज तक लिखी ना गई होगी। आत्मकथा की भूमिका में अमृता लिखती हैं, मेरी सारी...