Wednesday, June 19, 2019
मदरसों में गोडसे नहीं पैदा होते, कहा आज़म ख़ान ने

मदरसों में गोडसे नहीं पैदा होते, कहा आज़म ख़ान ने

मीडियावाला.इन।

मदरसों को मुख्यधारा के शिक्षा केंद्रों में शामिल करने के मौजूदा सरकार के फ़ैसले पर समाजवादी पार्टी के सांसद आज़म ख़ान ने निशाना साधा है.

उन्होंने कहा है कि मदरसों में धार्मिक शिक्षा के साथ साथ अंग्रेज़ी, हिंदी और गणित भी पढ़ाया जाता है. ये हमेशा से ही होता रहा है. अगर आप उनकी स्थिति सुधारने में मदद करना चाहते हैं तो मदरसों की इमारतें बनवाइए, उन्हें फ़र्नीचर दीजिए और दोपहर के भोजन की व्यवस्था कीजिए.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उन्होंने कहा, "मदरसे नाथूराम गोडसे या प्रज्ञा ठाकुर जैसे लोगों को पैदा नहीं करते. सबसे पहले तो नाथूराम गोडसे के विचारों को फैलाने वालों को लोकतंत्र का दुश्मन घोषित करना चाहिए."

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment