Monday, September 23, 2019
शासकीय कार्यालयों में भाजपा का ध्वज फहराया,  मुख्यमंत्री ने किया राष्ट्रगान संहिता का उल्लंघन

शासकीय कार्यालयों में भाजपा का ध्वज फहराया, मुख्यमंत्री ने किया राष्ट्रगान संहिता का उल्लंघन

नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने राष्ट्रगान संहिता पर उल्लंघन करने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। 

अगर शासन ने राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान के प्रति मुख्यमंत्री सहित उनके भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जो अपमान किया है उनके खिलाफ अगर तत्काल कार्यवाही नहीं कि गई तो कांग्रेस पार्टी कानूनी कार्यवाही करेगी। इसी के साथ ही पंचायत स्तर पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यक्रम के मौके पर प्रदेश के कई शासकीय कार्यालयों में भारतीय जनता पार्टी का झंडा फहराने पर श्री सिंह ने कहा कि यह भारतीय लोकतंत्र का अपमान है।

नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 14 मई को छतरपुर जिले के राजनगर में एक कार्यक्रम के दौरान भारतीय जनता पार्टी का ध्वज फहराते हुए राष्ट्रगान- जन-गण-मन का गायन किया जो कि सीधे-सीधे राष्ट्रगान संहिता का उल्ंलघन है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रगान किसी और ध्वज के फहराने पर नहीं गाया जाता है। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय गौरव के प्रतीक के सम्मान का ध्यान मुख्यमंत्री होने के बाद भी नहीं रखा, जो कि एक गंभीर अपराध है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा लोकतांत्रिक संस्थाओं के अपमान के बाद अब प्रतीकों के मान-सम्मान के प्रति भी अपमानजनक रवैया अपना रही है। उन्होंने कहा कि प्रतीकों पर आजादी की लड़ाई पर लाखों लोगों ने अपने प्राणों का उत्सर्ग कर दिया हो, उनके साथ भारतीय जनता पार्टी का अपमानजनक रवैया यह बतलाता है कि यह उसका भारतीय लोकतंत्र, प्रजातंत्र और संविधान के प्रति कोई विश्वास नहीं है।

श्री सिंह ने कहा कि 14 मई को ही भाजपा ने पूरे प्रदेश में जो कार्यक्रम आयोजित किए थे, इस दौरान पंचायत स्तर पर इसके शासकीय भवनों में भारतीय जनता पार्टी का झंडा फहराया, जो कि गंभीर अपराध है। उन्होंने कहा कि नरसिंहपुर जिले में घघरौला कलां, नवीन माध्यमिक शाला और शाहपुर में राजीव गांधी सेवा केंद्र भवन पर राष्ट्रीय ध्वज के स्थान पर भारतीय जनता पार्टी का ध्वज फहराया गया।

 

0 comments      

Add Comment