Saturday, October 19, 2019
4.5 लाख कर्मचारियों की वेतनवृद्धि और एरियर्स साल भर से सॉफ्टवेयर में अटके

4.5 लाख कर्मचारियों की वेतनवृद्धि और एरियर्स साल भर से सॉफ्टवेयर में अटके

मीडियावाला.इन।

भोपाल। प्रदेश के तकरीबन 4.53 लाख कर्मचारी अपने वेतन भत्तों के समय पर भुगतान नहीं होने से परेशान हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने करीब पांच माह पहले कर्मचारियों का वेतन किसी भी हाल में नहीं रोकने के आदेश दिए थे। इसके बाद भी न तो वेतन और न ही वेतनवृद्धि सहित विभिन्न भत्तों का लाभ समय पर मिल पा रहा है। वित्त विभाग और कोष लेखा के बीच भटक रहे हैं।

शिकायत करो तो सॉफ्टवेयर का रोना। कुछ यही हाल संविदा कर्मचारियों का है, जिन्हें अभी तक जिस पद के विरुद्ध रखा गया है, उस पद का 50 फीसद से ज्यादा वेतन नहीं मिल पा रहा है, जबकि नियम वास्तविक पद के 90% वेतन भुगतान का है। सब की एक ही वजह बताते हैं कि सॉफ्टवेयर बढ़ा वेतनमान या एरियर्स एक्सेप्ट नहीं कर रहा है। एरियर्स का कॉलम ही नहीं है।

प्रताड़ित करने का जरिया बना सॉफ्टवेयर

राज्य मंत्रालय कर्मचारी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष राजकुमार पटेल का कहना है कि सॉफ्टवेयर के चलते कर्मचारी बेवजह परेशान हो रहे हैं। कई बार कोष एवं लेखा के साथ ही वित्त विभाग को भी जानकारी दे चुके हैं, लेकिन हर बार सुधार का भरोसा दिलाकर टाल दिया जाता है। इसी कारण पिछले माह मंत्रालय के गलियारों में कर्मचारियों को तीन दिन तक धरना देना पड़ा था। मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के ओमप्रकाश कटियार और मप्र राज्य कर्मचारी संघ के जितेंद्र सिंह का कहना है कि सॉफ्टवेयर संचालन के लिए करोड़ों रुपए अदा किए जाते हैं। फिर भी कर्मचारी परेशान हैं। ऐसे में किसी दूसरी कंपनी का सॉफ्टवेयर लिया जाना चाहिए।

news source-peoples samachar

0 comments      

Add Comment