Tuesday, October 23, 2018
बीजेपी महासचिव अनिल जैन द्वारा अफसरों को धमकाने की रिपोर्ट मांगी चुनाव आयोग ने

बीजेपी महासचिव अनिल जैन द्वारा अफसरों को धमकाने की रिपोर्ट मांगी चुनाव आयोग ने

मीडियावाला.इन। भोपाल: गुना में अमित शाह के रोड शो में नगर पालिका की दुकानों पर लगे पोस्टर बैनर हटाने पर भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन द्वारा अधिकारियों को धमकाना फटकार लगाना कहीं उन्हें महंगा न पड़ जाए? चुनाव आयोग ने मीडिया की खबरों के आधार पर मामले को संज्ञान में लेकर कलेक्टर गुना से पूरी रिपोर्ट मांगी है।

 भा ज पा के सर्वशक्तिमान राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दाहिने हाथ माने जाने वाले राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में अपना आपा खो बैठे दिखाई देते हैं। इस मामले में बताया गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के संसदीय क्षेत्र में रोड शो था, जिसकी तैयारियां जोर शोर से की गई थी। खुद बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन और प्रदेश बीजेपी के महामंत्री बीडी शर्मा इस रोड शो के आयोजन को सफल बनाने कमर कसे हुए थे। एक तरफ राष्ट्रीय अध्यक्ष के मान-सम्मान का प्रश्न था तो दूसरी ओर चुनाव आयोग की आदर्श आचार संहिता के पालन की बाध्यता  दिखाई दे रही थी। गुना में जगह-जगह पोस्टर बैनर झंडे लगा दिए गए थे और भाजपा नेताओं ने इस बात का ख्याल ही नहीं रखा कि आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन ना हो जाए। स्थानीय प्रशासन को फोन और व्हाट्सएप पर यह सूचना मिलने पर कि रोड शो के दौरान जिस तादाद में पोस्टर, बैनर ,होर्डिंग लगाए जा रहे हैं वह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। रोड शो के ठीक पहले प्रशासन की रिमूवल गैंग एसडीएम विशाखा देशपांडे के नेतृत्व में निकल पड़ी। पोस्टर -  झंडे निकालने का काम शुरू कर दिया। बीजेपी के  नेताओं ने तत्काल राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन को फोन लगा कर घटना कि जानकारी दी।इस पर जैन ने तुरंत अधिकारियों से फोन पर बात की।बातचीत के दौरान गुस्से में जैन अपना आपा खो बैठे और जो अपशब्द बोले वे  सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रहे हैं ।अब सवाल यह उठता है कि आखिर इतने बड़े कद्दावर नेता ने आपा क्यों खो दिया और उनकी बातचीत का वीडियो उन्हीं के साथ मौजूद किसी व्यक्ति द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल क्यों किया गया?

साभार : ABP न्यूज़

0 comments      

Add Comment