Monday, September 23, 2019
EOW ने कुठियाला के कार्यकाल की जांच शुरू की, 19 प्रोफेसर  का रिकॉर्ड जप्त, शराब के बिल कैसे हुवे पास?

EOW ने कुठियाला के कार्यकाल की जांच शुरू की, 19 प्रोफेसर का रिकॉर्ड जप्त, शराब के बिल कैसे हुवे पास?

मीडियावाला.इन।

भोपाल: माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता वि वि के तत्कालीन कुलपति प्रों बीके कुठियाला के खिलाफ EOW ने जांच शुरू कर दी है ।इसी संदर्भ में कल ईओडब्ल्यू ने वि वि के 19 प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर और रीडर को समन जारी कर सभी के बायोडाटा और अकादमिक रिकॉर्ड जप्त कर लिए हैं। कुल 22 टीचिंग फैकेल्टी जांच के दायरे में हैं। तीन का रिकॉर्ड अभी आना बाकी है।
 प्राप्त जानकारी के अनुसार कुठियाला के कार्यकाल में 800 से ज्यादा अध्ययन केंद्रों को दी गई  अनुमति को भी जांच के दायरे में ले लिया है। ईओडब्ल्यू को मिली जानकारी के अनुसार अध्ययन केंद्र खोलने में भी कुठियाला के कार्यकाल में जमकर घोटाले हुए हैं। अधिकतर अध्ययन केंद्र आरएसएस और भाजपा समर्थक को आवंटित किए गए हैं ।अब इस बात की भी जांच की जा रही है कि इन केंद्रों के आवंटन में, मंजूरी में, नियमों का पालन किया गया है या नहीं? और इनके आवंटन में कितने रुपए की आर्थिक धांधली की गई है। 
 कुठियाला के कार्यकाल में उनके द्वारा किए गए टूर और उस पर खर्च की गई राशि, टूर बिल किसने पास किए, किसकी अनुमति से टूर किए गए, टूर से  क्या लाभ हुआ? इस पर भी जांच शुरू कर दी गई है।
विश्व विद्यालय में शराब घोटाले को लेकर भारी चर्चाएं हैं ।इस बात की भी जांच की जा रही है कि लिकर केबिनेट बनाने की अनुमति किसने दी, क्या विश्वविद्यालय के पैसों से शराब पी जा सकती है ? शराब से संबंधित बिल कितने पास किए? इन सब बिंदुओं को भी जांच में लिया जा रहा है ।

0 comments      

Add Comment