Saturday, October 19, 2019
मालवा-निमाड़ में जोरदार बारिश, झाबुआ में अग्नि नदी और बुरहानपुर में ताप्ती उफान पर, इंदौर में रिमझिम वर्षा, भोपाल में रुकी बारिश

मालवा-निमाड़ में जोरदार बारिश, झाबुआ में अग्नि नदी और बुरहानपुर में ताप्ती उफान पर, इंदौर में रिमझिम वर्षा, भोपाल में रुकी बारिश

मीडियावाला.इन।

मीडियावाला की खास खबर 

 

इंदौर. बुधवार से प्रदेश में शुरू हुआ बारिश का दौर गुरुवार को भी जारी है। इंदौर में रातभर से रिमझिम बारिश होती रही जो गुरुवार को भी जारी रही। भोपाल में बारिश अभी रुकी हुई है, वहीं, झाबुआ, धार, आलीराजपुर, खरगोन, बुरहानपुर, रतलाम, नीमच, मंदसौर सहित अन्य जिलों में तेज बारिश हो रही है। झाबुआ में अग्नि नदी तो बुरहानुपर में ताप्ती उफान पर है। तेज बारिश से मालवा-निमाड़ के ज्यादातर नदी-नाले उफान पर हैं। मौसम विभाग ने गुरुवार को इंदौर सहित प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। 

मंदसाैर के मल्हारगढ़ में उफनते नाले से ट्रैक्टर निकालने के दौरान ट्रैक्टर नाले में जा गिरा। ट्रैक्टर पर बैठे तीन लोगों को ग्रामीणों ने सुरक्षित बाहर निकाला। वहीं धार के अमझेरा के पास मांगोद-मनावर मार्ग पर एक पुलिया पर से पानी बह रहा था। धार से मनावर जा रही एक यात्री बस ने पुलिया को पार करने का प्रयास किया लेकिन वह बीच में ही फंस गई। लगभग एक घंटे फंसे रहने के बाद ग्रामीणों ने बस में सवार यात्रियों को सुरक्षित निकाला।

 

बुरहानपुर में ताप्ती उफनी 

 

बुरहानपुर जिले में रातभर हुई भारी बारिश के बाद ताप्ती ने विकराल रूप धारण कर लिया है। अभी ताप्ती खतरे के निशान से डेढ़ मीटर ऊपर बह रही है, जिसके चलते बुरहानपुर - जैनाबाद को जोड़ने वाला पुल डूब गया है। ब्रिज पर पानी बहने से यातायात ठप हो गया है। बारिश काे देखते हुए स्कूलाें की छुट्टी करवाते हुए प्रशासन ने निचली बस्तियों में अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं खकनार जामुनिया के बीच जामुन नाले पर बने ब्रिज के ऊपर पानी अाने से स्कूली छात्राें ने जाेखिम भरा रास्ता पार किया। दो युवक पुल पार करते समय बहने लगे जिन्हें ग्रामीणों की मदद से बचा लिया गया है।

 

खरगाेन में मोहनी नदी उफान पर

 

खरगोन जिले की मोहिनी नदी उफान पर है। यहां खरगोन-उमरखली रोड पर ओण्डल नदी में बाढ़ का पानी रपटे के ऊपर से गुजर रहा है, जिस कारण उमरखली सहित भगवानपुरा तहसील के कई गांवों का सम्पर्क टूट गया। वहीं, बिस्टान के पास घट्टी के नाले में बाढ़ से चित्तौड़गढ़ भुसावल राजमार्ग कुछ देर बंद रहा। खरगोन में अब तक सीजन में 15 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है।

 

नीमच 24 घंटे में जिले में पौने दो इंच बारिश

 

नीमच सहित अंचल में 4 दिन से बारिश का हो रही है। बीते 24 घंटे में जिले में पौने दो इंच बारिश दर्ज की गई। इसमें नीमच में सबसे ज्यादा 3 इंच पानी गिरा। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों के नदी-नालों मे उफान आ गया। दिनभर कई गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क कटा रहा। गाडगिल सागर के चार गेट खोलने से रेतम नदी में उफान आ गया। इससे दलपत पुरा नाला उफान पर रहने से मार्ग बंद रहा। 

 

धोलावड़ डैम के 2 गेट खोले

 

रतलाम में धोलावड़ डैम में लगातार बढ़ते जलस्तर को देखते हुए मंगलवार रात डैम के पांच में से दो गेट खोले गए। डैम का जलस्तर शाम 5 बजे तक 394.60 मीटर था जो कि रात में 394.70 पर पहुंच गया। डैम की भराव क्षमता 395 मीटर है। यहां 14 घंटे में 1 इंच बारिश दर्ज की गई।

 

झाबुआ में इस सीजन में 25 इंच बारिश 

 

झाबुआ में बुधवार से मानसून एक बार फिर सक्रिय हुआ तो डेढ़ घंटे में एक इंच बरस गया। यहां लगातार कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश हो रही है। झाबुआ के अलावा जिले में दूसरे कई स्थानों पर भी बारिश हुई। जिले में अब तक 25 इंच बारिश हो चुकी है। पिछले साल 7 अगस्त तक 15 इंच बारिश ही हुई थी। 

 

धार में डूब प्रभावित क्षेत्र निसरपुर में पानी बढ़ा

 

धार जिले के नालछा और जानकीनगर, श्री कृष्णा नगर में पानी भर गया। सरदार सरोवर बांध परियोजना के गेट बंद होते ही डूब प्रभावित क्षेत्रों में वाटर लेवल बढ़ना शुरू हो गया। चूंकि मनावर क्षेत्र के डूब प्रभावित गांव सरदार सरोवर बांध में 131 मीटर पानी भरने की स्थिति में प्रभावित होंगे। 7 अगस्त को नर्मदा का जलस्तर 127-28 मीटर के करीब पहुंच गया।

 

शिवना एवं मेलखेड़ा मार्ग पर पानी पुलिया के ऊपर

 

मंदसौर में बारिश से जिले में 2015 के बाद सावन में आंकड़ा 27 इंच पर पहुंचा है जो औसत से केवल 5 इंच दूर है। अच्छी बारिश से गांधीसागर का वाटर लेवल 1270.1 फीट पर पहुंच गया। इससे पहले 2015 में 7 अगस्त तक सर्वाधिक 28 इंच बारिश दर्ज हुई थी। अच्छी बारिश के चलते पशुपतिनाथ मंदिर की छोटी पुलिया के ऊपर पानी होने से पुलिस जवान तैनात किए गए। नाहरगढ़-बिल्लाैद मार्ग व बसई से मेलखेड़ा मार्ग बंद हो गया।  

 

मंदसौर उफनते नाले से ट्रैक्टर निकालने का किया प्रयास, तीन लाेग फंसे 

 

राधेश्याम गायरी मिस्त्री का काम करता है। यह अमरपुरा से कनघट्टी की तरफ आ रहा था। राधेश्याम एक बार मकान की छत भरने वाली मशीन को लेकर पुल पार कर चुका था। मकान का काम करने वाले दो मजदूर दशरथ व गणपत दावरी दूसरी तरफ रह गए थे। राधेश्याम उन्हें लेने ट्रैक्टर से वापस गया। ट्रेक्टर के पीछे दोपहिया वाहन रखकर दोनों को ट्रैक्टर पर बैठाकर राधेश्याम ने नाला पार करने का प्रयास किया तो वह बहाव के कारण नाले में जा गिरा। इस पर तीनों ट्रैक्टर के उपर बैठ गए। बाद में ग्रामीणों ने उन्हें बाहर निकाला। 

 

इन जिलों के लिए रेड अलर्ट 

 

भोपाल, सीहाेर, विदिशा, रायसेन, राजगढ़, हाेशंगाबाद, हरदा, बैतूल, गुना, अशाेकनगर, अनूपपुर, डिंडाेरी, उमरिया, शहडाेल, कटनी, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, छिंदवाड़ा, सिवनी, सागर, दमाेह, आलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, धार, नीमच, मंदसाैर, श्याेपुर कलां।

 
0 comments      

Add Comment