Monday, October 14, 2019
तमिलनाडु के तूतीकोरिन में मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हुई

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हुई

मीडियावाला.इन। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में मंगलवार को स्टरलाइट कॉपर स्मेलटिंग प्लांट के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है। घटना के बाद बुधवार को शहर में तनाव बना हुआ है लेकिन किसी अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं है। घटना में लगभग 100 लोग घायल हुए, जिसमें से दो की हालत गंभीर बनी हुई है। मारे गए लोगों के परिजनों ने शवों के पोस्टमार्टम के खिलाफ तूतीकोरिन सरकारी अस्पताल में प्रदर्शन किया।

आधिकारिक रिपोर्ट और चेन्नई में तमिलनाडु पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस फायरिंग में घायल एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मंगलवार रात को मौत हो गई, जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हो गई।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, घायलों में अधिकतर नागरिक शामिल हैं। लेकिन, प्रदर्शन के दौरान 36 पुलिसकर्मियों को भी चोट लगी है।

शहर में बुधवार को जनजीवन पटरी पर नहीं लौटा। दुकान और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद हैं। शैक्षणिक संस्थानों को भी बंद रखा गया है।

जिला प्रशासन द्वारा पांच या इससे अधिक लोगों के एक साथ इकट्ठे होने पर पाबंदी लगाने के निषेधात्मक आदेश के बाद अधिकतर लोग अपने घरों में ही रहे। यह आदेश यहां 25 मई तक लागू रहेगा।

जिला कलेक्टर एन. वेंकटेश ने कहा कि निषेधात्मक आदेश को तूतीकोरिन जिले के वेंबर, कुलाठुर, अरुमुगामंगलम, वेदांतम, ओट्टापिदारम और इप्पोदुम वेंदरान में लागू किया गया है।

तूतीकोरिन से तमिलनाडु के अन्य भाग के लिए जाने वाले सार्वजनिक परिवहन को भी रद्द कर दिया गया है। बड़ी संख्या में पुलिस और अर्धसैनिक बलों को शहर में हर जगह तैनात किया गया है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "स्थिति तनावपूर्ण है लेकिन काबू में है।"

पुलिस ने कहा कि स्टरलाइन प्लांट को बंद करने की मांग करने वाले प्रदर्शकनकारियों का प्रदर्शन जब हिंसक हो गया, तो उसे भीड़ पर काबूृ पाने के लिए फायरिंग करनी पड़ी। पुलिस फायरिंग में नौ लोगों की तत्काल मौत हो गई।

प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने बिना उकसावे के ही शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर बल का प्रयोग किया।

0 comments      

Add Comment