Monday, September 23, 2019
कानून मंत्री ने कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य होने का दावा किया, कहा- अब तक नहीं चली एक भी गोली

कानून मंत्री ने कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य होने का दावा किया, कहा- अब तक नहीं चली एक भी गोली

मीडियावाला.इन।

अहमदाबाद- केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कश्मीर में तेजी से हालात सामान्य होने का दावा करते हुए आज कहा कि अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद सुरक्षा बलों ने वहां अब तक एक भी गोली नहीं चलायी है।

श्री प्रसाद ने यह भी कहा कि पाकिस्तान और प्रधानमंत्री इमरान खान को कश्मीर के मामले में बात करने से पहले यह बताना चाहिए कि उनका देश पाक अधिकृत कश्मीर, गिलगिट बलूचिस्तान आदि के लोगों पर अत्याचार क्यों करता है।

उन्होंने यहां मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की 100 दिनों की उपलब्धियां बताने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कश्मीर से धारा 370 को हटाना एक साहसिक ऐतिहासिक और युगान्तकारी कदम है तथा प्रधानमंत्री अपने साहस और गृह मंत्री रणनीति के लिए बधाई के पात्र हैं। उन्होंने याद दिलाया कि इसके बाद भी संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन जैसे देशों ने श्री मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिये। रूस, अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस तक ने इसे सराहा।

उन्होंने कहा कि 370 के रहने से वहां भ्रष्टाचार, बाल विवाह, मैला ढोने की प्रथा पर रोक तथा शिक्षा और सूचना के अधिकार संबंधी कानूनों को लागू नहीं किया जा सका था। वहां के अलगाववादी नेता अपने बच्चों को विदेशों में पढ़ाते थे पर कश्मीर के स्कूलों में आगजनी करते थे। विपक्षी इस अनुच्छेद का एक भी फायदा तो नहीं गिना पाये थे पर इसे भारत और कश्मीर के बीच पुल बताते थे। पर यह कैसा पुल था जो अलगाववाद और आतंकवाद तथा भ्रष्टाचार को प्रोत्साहन देता था। वहां के कुछ आदिवासियों को, पिछली जातियों को आरक्षण का लाभ नहीं था।

प्रसाद ने कहा कि कश्मीर के मामले में सरदार पटेल का रूख सही था पर नेहरू गलत थे। उनकी भयंकर भूल को अब मोदी सरकार ने ठीक किया है। कश्मीर के 14 थाने को छोड हर जगह से कर्फ्यू यानी धारा 144 हटा ली गयी है। हाल में मुस्लिम बहुल चिनाब और पीर पंजाल इलाकों के 29 हजार नौजवानों ने सेना में भर्ती के लिए आवेदन किये थे।

प्रसाद ने कहा कि गृह मंत्री ने स्पष्ट किया है कि कश्मीरी लोगों के जमीन नहीं लिये जायेंगे वहां सरकारी जमीन पर विकास का काम होगा। कश्मीर का केंद्रशासित प्रदेश का स्वरूप अस्थायी है।

प्रसाद ने सरकार की उपलब्धियों में तीन तलाक कानून को भी प्रमुखता से गिनाया और कहा कि रोटी जलने और सुबह देर से उठने भर पर पत्नी को तलाक देने वाली कुप्रथा पर सरकार ने लगाम लगाया है। कांग्रेस की महिला नेता होने के बावजूद उसकी ओर से इसका विरोध दु:खद है। सरकार ने बच्चों के यौन शोषण पर रोक के लिए पोस्को कानून तथा दुष्कर्म के अन्य मामलों की तेजी से सुनवाई के लिए 1023 फास्ट ट्रैक अदालतें स्थापित करने का फैसला किया है जिनमें से 35 गुजरात में होंगी।

प्रसाद ने कहा कि उनकी सरकार ने छोटे उद्यमियों और व्यापरियों तथा किसानों और असंगठित मजदूरों आदि की भी बहुत चिंता की है और उनके लिए पेंशन तथा अन्य प्रावधान किये हैं।

उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत आतंकवादी की घोषणा संबंधी कानून बना कर सरकार ने बड़ा काम किया है। इससे पाकिस्तान में बैठे आतंकी अब दूसरे संगठन बना कर अपना बचाव नहीं कर पायेंगे।

रविशंकर ने मंगलयान से चंद्रयान तक के अंतरिक्ष कार्यक्रमों, कुल मिला कर 1500 पुराने कानून समाप्त करने जिनमें से 58 पिछले 100 दिन में समाप्त हुए हैं, आयुष्मान भारत योजना आदि की उपलब्धियों की भी चर्चा की।

Source - रॉयल बुलेटिन

0 comments      

Add Comment