Wednesday, November 20, 2019
भारतीय सेना ने जारी किया वीडियो, आर्मी ने पाकिस्तानी बैट की घुसपैठ को नाकाम किया, 4-5 आतंकी ढेर

भारतीय सेना ने जारी किया वीडियो, आर्मी ने पाकिस्तानी बैट की घुसपैठ को नाकाम किया, 4-5 आतंकी ढेर

मीडियावाला.इन।

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान लगातार जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की कौशिश कर रहा है। सेना के एक सर्वोच्च कमांडर ने सोमवार को कहा कि सेना को ऐसी खुफिया सूचना मिली है कि देश के दक्षिणी हिस्से में आतंकी हमला किया जा सकता है।

सेना की दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एस के सैनी ने यहां एक कार्यक्रम में संवाददाताओं को बताया कि सर क्रीक इलाके में कुछ परित्यक्त नावें मिली हैं। उन्होंने कहा, "हमें कई खुफिया? सूचना मिली हैं कि भारत के दक्षिणी और प्रायद्वीपीय इलाके में आतंकी हमला हो सकता है।"

 

ANI✔@ANI

Indian Army foiled an infiltration attempt by a Pakistani BAT(Border Action Team) squad along the Line of Control in Keran Sector of Kupwara in the 1st week of August. (Video: Indian Army Sources) https://twitter.com/ANI/status/1171022426781696002 …

ANI✔@ANI

#WATCH: Indian Army foiled an infiltration attempt by a Pakistani BAT(Border Action Team) squad along the Line of Control in Keran Sector of Kupwara in the 1st week of Aug. Bodies of eliminated Pakistani Army regulars/terrorists along with equipment seen in video.#JammuAndKashmir

Embedded video

1,033

5:15 PM - Sep 9, 2019

Twitter Ads info and privacy

310 people are talking about this

 

 

पाकिस्तानी सेना बैट एक्शन के जरिए घुसपैठियों को भारत भेजने की कोशिश कर रही थी, लेकिन भारतीय सेना ने इस आतंकी घुसपैठ को नाकाम कर दिया था और 4 से 5 आतंकियों को मार गिराया था। इस घटना का एक वीडियो भारतीय सेना ने जारी किया है। बता दें अगस्त के पहले सप्ताह में पाकिस्तानी बैट (बॉर्डर ऐक्शन टीम) ने जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में LoC से घुसपैठ कराने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया था। सेना ने 4 से 5 आतंकियों को मार गिराया था।

लेफ्टिनेंट जनरल सैनी ने कहा कि बढ़े हुए खतरे की आशंका को देखते हुए सरक्रीक इलाके में सेना ने क्षमता निर्माण एवं क्षमता विकास के कई उपाय किये हैं। वह आतंक संबंधित खुफिया सूचना और पाकिस्तान द्वारा सरक्रीक इलाके के निकट बलों की तैनाती बढ़ाए जाने के संबंध में एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, "हम ऐहतियाती उपाय कर रहे हैं जिससे देश विरोधी तत्वों या आतंकवादियों के किसी भी मंसूबे को नाकाम किया जा सके...।"

बदलते परिदृश्य और पड़ोसी राष्ट्र से उपजे खतरे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के मामले में आंतरिक परिदृश्य के बजाय बाहरी आयाम की ज्यादा चर्चा होती है। हमारी एक बेहद स्पष्ट नीति है जिसके आधार पर हमनें उग्रवाद का समाधान कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जहां तक जम्मू कश्मीर में पैदा होने वाले हालात का सवाल है, सेना हर परिस्थिति के लिये "पूरी तरह तैयार" है। दक्षिणी राज्य में आतंकी हमलों की आशंका के मद्देनजर तिरुवनंतपुरम में केरल के पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने सभी जिला पुलिस प्रमुखों से अति सतर्कता बरतने को कहा है।

डीजीपी बेहरा ने बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, हवाईअड्डों और लोगों के इकट्ठा होने वाली जगहों पर कड़ी सुरक्षा बरतने के निर्देश दिये हैं। चेन्नई में एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि सेना की दक्षिणी कमान के सबसे उत्तरी छोर में गुजरात का भी कुछ हिस्सा आता है।

उन्होंने कहा, "दक्षिणी कमान के जीओसी का बयान सिर्फ तमिलनाडु, केरल,आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के लिये नहीं है। इसमें पूरा दक्षिणी प्रायद्वीप और गुजरात का कुछ इलाका शामिल है।" पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आंध्र प्रदेश में 974 किलोमीटर लंबी तटरेखा पर आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) रविशंकर अय्यनार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि खास तौर पर तिरुमाला में भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर और श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र की सुरक्षा बढ़ाई गई है।

पाकिस्तान पर कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की मंशा से घुसपैठिये भेजने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए सेना ने बुधवार को कहा कि उसने लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े दो पाकिस्तानी नागरिकों को पकड़ा है जो भारत की सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे थे।

सेना की 15 वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल के. जे. एस. ढिल्लन ने अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान की मौजूदगी में छावनी इलाके में संवाददाताओं से बातचीत की और प्रेस ब्रीफिंग में दो वीडियो भी चलाये जिनमें पकड़े गये पाकिस्तानियों को घुसपैठ की बात कबूलते हुए देखा जा सकता है।

ढिल्लन ने कहा, ''ये दो वीडियो साफ दिखाते हैं कि किस तरह पाकिस्तान, उसकी सेना और पाकिस्तान के नागरिकों को घाटी में खासकर पांच अगस्त के बाद शांति बाधित करने के लिए आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिहाज से कश्मीर में भेजा जा रहा है।''

लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े दोनों पाकिस्तानी नागरिकों को 21 अगस्त को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास गुलमर्ग क्षेत्र में सेना ने पकड़ा था। इससे पहले एक खुफिया सूचना आई थी जिसमें कहा गया था कि सात आतंकवादी क्षेत्र में घुसपैठ कर रहे हैं।

वीडियो क्लिप में पकड़े गये पाकिस्तानी नागरिकों ने खुद की पहचान मोहम्मद खलील और मोहम्मद नाजिम के तौर पर की है जो पाकिस्तान के रावलपिंडी इलाके के रहने वाले हैं। मोहम्मद नाजिम को चाय पीते हुए यह कहते सुना जा सकता है, ''पाकिस्तान की सेना ने हमें जम्मू कश्मीर में घुसने में बहुत मदद की और हमारा काम भारतीय सेना की इकाइयों पर निशाना साधना था।'' दोनों ने कबूल किया कि उन्हें लश्कर और पाक सेना के जवान प्रशिक्षित कर रहे थे। उन्होंने अपने कई साथियों के भी नाम बताए।

लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने कहा कि पाकिस्तान घाटी में शांति भंग करने के लिए आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए उतावला हो रहा है। ढिल्लन ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में सभी लांच पैडों पर कई आतंकी संगठनों के आतंकवादी मौजूद हैं। उन्होंने कहा, ''इन दोनों गिरफ्तार किये गये आतंकियों को सेना की पाकिस्तानी अग्रिम चौकियों पर रखा गया था और उन्हें पाकिस्तान के सैनिकों ने एलओसी की ओर भेजा।''

लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने कहा कि पकड़े गये आतंकवादियों ने अपने बयानों में खुलासा किया है कि एलओसी पर, न केवल कश्मीर के पास बल्कि पुंछ, राजौरी और जम्मू के पास भी सभी लांच पैडों पर विभिन्न संगठनों के आतंकी बड़ी संख्या में हैं और हर दिन घुसपैठ की कोशिशें हो रही हैं। उन्होंने कहा, ''जैसा कि आपको पता है कि कुछ को तो एलओसी पर ढेर कर दिया गया। एक घटना में तो 5 से 7 पाकिस्तानी आतंकी कई दिन तक एलओसी पर मृत पड़े रहे।

डीजीएमओ पाकिस्तान को हॉटलाइन से संदेश भेजकर पाकिस्तानी नागरिकों के शव उठाने को कहा गया जिससे उन्होंने इनकार कर दिया और यह कोई नयी बात नहीं है।'' उन्होंने कहा, ''करगिल में उन्होंने अपने जवानों के शव वापस लेने से इनकार कर दिया था। इस घटना में भी उन्होंने अपने नागरिकों के शव लेने से मना कर दिया और अब हमने आतंकवादियों को जिंदा पकड़ रखा है जो पाकिस्तान के नागरिक हैं।''

ढिल्लन के मुताबिक भारतीय सेना के सैन्य अभियान महानिदेशक (डीजीएमओ) ने पाकिस्तान के डीजीएमओ को इन पकड़े गये लोगों के बारे में पहले ही बता दिया है। उन्होंने कहा कि इनके पास से युद्ध सरीखा हथियारों का जखीरा और कुछ आईईडी पदार्थ जब्त किये गये हैं। ढिल्लन ने कहा कि आतंकवाद रोधी अभियान जारी है और इसमें कोई कमी नहीं आई है। ढिल्लन के अनुसार, ''जैसा कि आपको पता है कि पिछले 30 दिन में आतंकवादियों को मार गिराया गया है या पकड़ा गया है।

इसलिए आतंकवाद रोधी अभियानों में कोई कमी नहीं आई है।'' उन्होंने कहा कि पाक सेना दिन-रात कश्मीर में आतंकियों को घुसाने की फिराक में रहती है, लेकिन इन प्रयासों से कड़ाई से निपटा जा रहा है। लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने कहा, ''डीजीएमओ ने पाकिस्तान के डीजीएमओ को सूचित कर दिया है कि हमारी गिरफ्त में पाकिस्तान के दो नागरिक हैं।'' मुनीर खान ने कहा कि एलओसी पर घुसपैठ से सेना कड़ाई से निपट रही है, वहीं सुरक्षा बल इस क्षेत्र में शांति सुनिश्चित कर रहे हैं।

खान ने कहा, ''हमारा मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि कानून व्यवस्था की किसी समस्या के दौरान कोई नागरिक हताहत नहीं हो। अच्छी बात है कि अब तक हमारी कार्रवाई में कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ है।''

Source : "Lokmat News" 

0 comments      

Add Comment