Wednesday, October 16, 2019
फोनी से पहले तेज हवाएं और बारिश जारी, 8-11 बजे के बीच दे सकता है दस्‍तक

फोनी से पहले तेज हवाएं और बारिश जारी, 8-11 बजे के बीच दे सकता है दस्‍तक

मीडियावाला.इन।

भुवनेश्वर : तटीय ओडिशा में चक्रवात फोनी की वजह से बारिश और तेज हवाएं चलने के बीच राज्य सरकार ने 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा और लोगों से शुक्रवार को घरों में रहने की सलाह दी. यह तूफान पुरी के पास शुक्रवार सुबह दस्तक देगा. अत्यंत प्रचंड च्रकवात ओडिशा के तट की ओर बढ़ रहा है और यह अनुमानित समय दोपहर बाद तीन बजे से बहुत पहले ही सुबह में तटीय क्षेत्र से टकराएगा.

चक्रवात फोनी ओडिशा के तट से शुक्रवार सुबह टकरा सकता है. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार सुबह 5:30 बजे फोनी पुरी से 80 और गोपालपुर से 65 किलोमीटर दूर था. अब बताया जा रहा है कि यह पुरी से करीब 40 किमी दूरी पर है. औसतन 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्पीड से फोनी एक कर्व लेता हुआ कोस्टल एरिया की तरफ घूम रहा है. इस हिसाब से 8 से 10 बजे के बीच ओडिशा कोस्ट से टकराएगा. जब यह तट पर आएगा. तो तूफान 180 से 195 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार में होगा और हवा 205 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पर होगी.

फोनी रात तक ओडिशा के तटीय इलाकों में कहर बरपाएगा. फिर पश्चिम बंगाल की ओर चला जाएगा. पूरे ओडिशा कोस्टल एरिया में रात करीब 2 बजे से भारी बरसात हो रही है. तेज हवाएं चल रही हैं. फोनी के मद्देनजर राष्‍ट्रीय आपदा राहत दल (एनडीआरएफ) की 3 अतिरिक्‍त टीमों को तैनात किया गया है. ये टीमें भुवनेश्‍वर नगर पालिका के आयुक्‍त को रिपोर्ट करेंगी. ओडिशा में एनडीआरएफ की कुल 18 टीमें तैनात की गई हैं. इसके अतिरिक्‍त 10 टीमें और तैनात की गई हैं.

Embedded video

ANI✔@ANI

Odisha: Strong winds and rainfall hit Puri. is expected to make a landfall in Puri district today. Visuals from near Puri Beach.

462

7:25 AM - May 3, 2019

185 people are talking about this

Twitter Ads info and privacy

ज्य के मुख्य सचिव एपी पधी ने कहा कि चक्रवात के धार्मिक नगरी पुरी के बेहद करीब शुक्रवार सुबह साढ़े नौ बजे पहुंचने की आशंका है और इसके यहां टकराने की पूरी प्रक्रिया चार-पांच घंटे की होगी. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लोगों से अपील की है कि वे इस दौरान घरों के अंदर ही रहें और कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं.

इस बीच, नई दिल्ली मिली जानकारी के मुताबिक, भारतीय तटरक्ष बल और नौसेना ने भी राहत इंतजाम में अपने पोत और कर्मियों को तैनात किया है. तट रक्षक बल ने ट्वीट कर कहा कि चक्रवाती तूफान फोनी को देखते हुए 34 राहत दलों और चार तटरक्षक पोतों को राहत कार्य के लिए तैनात किया गया है.

नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने दिल्ली में कहा कि भारतीय नौसेना के पोत सहयाद्री, रणवीर और कदमत को राहत सामग्री तथा चिकित्सा दलों के साथ तैनात किया गया है, जिससे वे चक्रवात के तटीय इलाके से गुजरने के फौरन बाद राहत कार्य शुरू कर सकें. इस बीच, नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में पार्टी कार्यकर्ताओं से चक्रवात प्रभावितों की मदद करने को कहा है.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने जानकारी दी कि गुरुवार मध्य रात्रि से भुवनेश्वर से उड़ानों का परिचालन अस्थायी रूप से रोक दिया जाएगा. शुक्रवार सुबह से कोलकाता हवाई अड्डे से भी उड़ानों का परिचालन अस्थायी रूप से रोक दिया जाएगा और हालात बेहतर होते ही उड़ानों को बहाल कर दिया जाएगा. रेलवे ने ओडिशा से रेलगाड़ियों का परिचालन पहले ही अस्थायी रूप से रोक दिया है.


सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाए गए हैं लोग. फोटो ANI

कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में एनसीएमी की बैठक के बाद गृह मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि ओडिशा सरकार ने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) को गुरुवार को जानकारी दी कि 10,000 गांव और 52 शहर एवं कस्बे इस तूफान से प्रभावित होंगे. ओडिशा सरकार द्वारा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का कार्य पहले से ही किया जा रहा है. सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए जा रहे लोगों के रहने के लिए लगभग 900 तूफान आश्रय स्थल पहले ही तैयार कर लिए गए हैं.

https://twitter.com/i/status/1124130413192962048

Dailyhunt

 

0 comments      

Add Comment