Thursday, October 24, 2019
रत्नागिरी में तिवरे बांध टूटा: 6 की मौत, 18 लापता; मुंबई में तेज बारिश का अलर्ट

रत्नागिरी में तिवरे बांध टूटा: 6 की मौत, 18 लापता; मुंबई में तेज बारिश का अलर्ट

मीडियावाला.इन।

रत्नागिरी. महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, रत्नागिरी समेत कई इलाकों में बुधवार को तेज बारिश हो रही है। रत्नागिरी जिले में पानी के ओवरफ्लो की वजह से देर रात तिवरे बांध टूट गया। इससे पास बसे 7 गांव डूब गए हैं। छह लोगों की मौत हो गई और 18 लापता बताए जा रहे हैं। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि बांध के पास बने 12 घर पानी में बह गए।

स्थानीय प्रशासन, पुलिस और वॉलंटियर्स के अलावा नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स  (एनडीआरएफ) बचाव और राहत कार्य में जुटी है। इनका कहना है कि मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है। तिवरे बांध साल 2000 में बना था। स्थानीय लोगों का दावा है कि उन्होंने दो साल पहले जिला प्रशासन को इसमें पानी रिसने की जानकारी दी थी, लेकिन कोई मरम्मत नहीं हुई। उधर, मौसम विभाग ने महाराष्ट्र में बुधवार को तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मुंबई लगातार 6 दिन से बारिश हो रही 

  • मुंबई में बारिश का सिलसिला बीते 6 दिनों से जारी है। मुंबई मौसम विभाग ने आज भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मुंबई में भीषण बारिश ने 2005 की बाढ़ की यादें ताजा कर दी हैं। यहां सोमवार की रात पांच घंटे में करीब 15 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई यानी हर घंटे औसतन 3 इंच बारिश हुई। यह अब तक की सबसे तेज बारिश है।
  • बारिश की वजह से मुंबई एयरपोर्ट भी बंद करना पड़ा। 203 फ्लाइट रद्द और 55 डायवर्ट की गई। 7 ट्रेनें भी रद्द करनी पड़ीं। सरकार ने मंगलवार को मुंबई में दो दिन की छुट्टी घोषित कर दी है। बचाव कार्य में एनडीआरएफ और नौसेना को भी तैनात किया गया है। 
  • महाराष्ट्र में बारिश से जुड़ी घटनाओं में सोमवार और मंगलवार को 33 लोगों की मौत हो गई। इसमें मुंबई में 21, पुणे में 6 और कल्याण में 3, नासिक में 3 की जान गई। मुंबई के मलाड ईस्ट के पिम्परीपाड़ा में सोमवार देर रात 11:30 बजे दीवार गिरने से 21 की मौत हो गई और 75 जख्मी हो गए थे।

मुंबई के ऊपर छह वेदर सिस्टम बनने से लगातार बारिश हो रही
मुंबई में मौसम विभाग की वैज्ञानिक शुभांगी भुते ने बताया, "बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से मुंबई और उसके आसपास हवाओं का ईस्टवेस्ट शेयर जोन गया है। इसे मिजो स्केल कन्वेक्टिव सिस्टम कहते हैं। आमतौर पर इसकी लाइफ दो घंटे होती है। मुंबई में ऐसे छह सिस्टम बनने से लगातार छह दिन से भारी बारिश हो रही है। अभी मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में 5 जुलाई तक भारी बारिश होने के आसार हैं। पर्यटकों को सलाह दी गई है कि वे इन क्षेत्रों में पहाड़ी और समुद्री इलाकों में न जाएं। स्काईमेट के मुताबिक मुंबई में भारी बारिश का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि जुलाई में औसतन 84 सेमी बारिश होती है।"

 

0 comments      

Add Comment