Monday, September 23, 2019
दो वकीलों ने एससी/एसटी एक्ट में किए संशोधन को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती 

दो वकीलों ने एससी/एसटी एक्ट में किए संशोधन को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती 

मीडियावाला.इन। नई दिल्ली: एससी-एसटी एक्ट पर तत्काल गिरफ्तारी पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के 20 मार्च के फैसले को निष्प्रभावी बनाने के केंद्र सरकार के एससी-एसटी संशोधन कानून 2018 को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है. सुप्रीम कोर्ट के दो वकील प्रिया शर्मा और पृथ्वी राज चौहान ने मंगलवार को जनहित याचिका दायर कर सरकार के संशोधन कानून को चुनौती दी है. दरअसल, याचिका में कहा गया है कि सरकार का नया कानून असंवैधानिक है, क्योंकि सरकार ने सेक्सन 18ए के जरिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को निष्प्रभावी बनाया है जो कि गलत है और सरकार के इस नए कानून आने से अब बेगुनाह लोगों को फिर से फंसाया जाएगा. याचिका में ये भी कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट सरकार के नए कानून को असंवैधानिक करार दे और जब तक ये याचिका लंबित रहे, तब तक कोर्ट नए कानून के अमल पर रोक लगाए. आपको बता दें कि राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला निष्प्रभावी करने वाले एससी एसटी संशोधन कानून 2018 को मंजूरी दी थी. राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद एससी एसटी कानून पूर्व की तरह सख्त प्रावधानों से लैस हो गया है.

ये है सरकार का संशोधन कानून 

राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद संशोधन कानून प्रभावी हो गया है. इस संशोधन कानून के जरिये एससी एसटी अत्याचार निरोधक कानून में धारा 18 ए जोड़ी गई है जो कहती है कि इस कानून का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने से पहले प्रारंभिक जांच की जरूरत नहीं है, न ही जांच अधिकारी को गिरफ्तारी करने से पहले किसी से इजाजत लेने की जरूरत है. संशोधित कानून में ये भी कहा गया है कि इस कानून के तहत अपराध करने वाले आरोपी को अग्रिम जमानत के प्रावधान (सीआरपीसी धारा 438) का लाभ नहीं मिलेगा.  यानि अग्रिम जमानत नहीं मिलेगी

3 comments      

Add Comment


  • Suryaprakash Joshi 1 year ago
    Yachika satik ha,i Avashyak thi .
  • Suryaprakash Joshi 1 year ago
    Sarkar dwara Samannya bahusankhyak.varg.ke prati purvagrah se grasit ho kar kiya gaya sanshodhan prateet hota hai .
    • Suryaprakash Joshi 1 year ago
      kiya gaya sanshodhan Sanvidhan dwara pradatta "Nidarta "ke mul adhikar par prahar hai .