Monday, October 14, 2019
बैतूल की BJP सांसद ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण-पत्र रद्द, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

बैतूल की BJP सांसद ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण-पत्र रद्द, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

मीडियावाला.इन।

भोपाल। 

बैतूल से भाजपा सांसद ज्योति धुर्वे की मुश्किलें अब बढ़ गई हैं। आदिवासी कार्य विभाग की छानबीन समिति के आदेश पर बैतूल जिला प्रशासन ने धुर्वे का गोंड जाति का प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया है और आगे की कार्रवाई के लिए यह जानकारी संसदीय कार्य विभाग को भेज दी है।

छानबीन समिति ने अपने आदेश में कहा है कि ज्योति धुर्वे की जाति गोंड नहीं है, वे बिसेन (पवार) हैं, जो आदिवासी जाति नहीं है। छानबीन समिति ने कहा कि धुर्वे की मां की जाति गोंड है, लेकिन उनके पिता महादेव बिसेन जाति से हैं। ऐसे में पिता की जाति को ही उनकी जाति माना जाएगा।

छानबीन समिति के फैसले पर चुनाव आयोग संज्ञान लेकर राष्ट्रपति से उनकी सदस्यता शून्य घोषित करने की सिफारिश कर सकता है। हालांकि ऐसा होने पर भी बैतूल लोकसभा सीट पर उपचुनाव नहीं होगा, क्योंकि दो महीने बाद ही लोकसभा चुनाव होने हैं।

धुर्वे ने मां की पहली शादी का तथ्य छुपाया

छानबीन समिति ने अपने आदेश में कहा कि ज्योति धुर्वे ने अपनी मां की पहली शादी का तथ्य छानबीन समिति से छुपाया है। छानबीन समिति ने एक जांच दल बालाघाट भी भेजा था। वहीं छानबीन समिति ने कहा कि धुर्वे के पिता महादेव ने अपनी पहली शादी का तथ्य भी छुपाया है। धुर्वे के पिता महादेव गोंड जाति से संबंधित कोई प्रमाण पत्र नहीं दे पाए और न ही गोंड जाति की परंपराओं व प्रथाओं के बारे में नहीं बता पाए।

छानबीन समिति ने छह अप्रैल, 2017 को ज्योति धुर्वे के अनुसूचित जनजाति-प्रमाण पत्र को लेकर सामने आए तथ्यों के आधार पर उनके गौंड़ जाति के प्रमाण-पत्र को निरस्त कर राजसात करने के साथ वैधानिक कार्रवाई के निर्देश दिए थे. धुर्वे ने इस पर पुनर्विचार का अनुरोध किया, जिसे समिति ने स्वीकार कर पूर्व में जारी आदेश पर रोक लगा दी थी.

लेकिन राज्य में सत्ता बदलने के बाद जनजातीय कार्य विभाग ने 10 जनवरी, 2019 को पांच सदस्यीय समिति गठित की थी. इस समिति ने सांसद धुर्वे के मामले की जांच की. जांच में पाया गया कि धुर्वे की मां आशा ठाकुर गौंड़ जाति से हैं और उनकी दो शादी हुई. पहली शादी उभेराम से हुई, जो गौंड़ जाति के थे, वहीं दूसरी शादी महादेव से हुई, जिनका गौंड़ जाति से कोई वास्ता नहीं है.

जानकारी भेज दी है

आदिवासी विभाग की छानबीन समिति के आदेश पर हमनें ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया है और इसकी जानकारी संसदीय कार्य मंत्रालय दिल्ली भेज दी है। आगे की कार्रवाई वहीं से होगी तरुण पिथोड़े, कलेक्टर बैतूल

ज्योति धुर्वे भारत की सोलहवीं लोक सभा की सांसद हैं। २०१४ के चुनावों में वे मध्य प्रदेश के बेतूल से निर्वाचित हुईं। वे भारतीय जनता पार्टी से संबद्ध हैं

0 comments      

Add Comment