Saturday, October 20, 2018
MP हाई कोर्ट की केन्द्रीय मंत्री उमा भारती को मोहलत:मामला वर्ष-2003 में दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल से संबंधित

MP हाई कोर्ट की केन्द्रीय मंत्री उमा भारती को मोहलत:मामला वर्ष-2003 में दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल से संबंधित

मीडियावाला.इन।

जबलपुर। मध्यप्रदेश हाई कोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की याचिका पर पूर्व मुख्यमंत्री व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती को जवाब के लिए 2 सप्ताह की मोहलत प्रदान की है। सोमवार को न्यायमूर्ति एसके पालो की एकलपीठ के समक्ष उमा भारती की ओर से जवाब के लिए समय चाहा गया। यह मांग मंजूर करते हुए सुनवाई 2 सप्ताह के लिए बढ़ा दी गई।

मामला वर्ष-2003 में दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल से संबंधित है। तब उमा भारती ने उनके खिलाफ आपत्तिजनक बयान देते हुए उनके कार्यकाल में घोटालों का आरोप लगाया था। इस प्रकरण में दिग्विजय सिंह ने भोपाल की कोर्ट में उमा भारती के खिलाफ मानहानि का प्रकरण दायर किया था।

 

मामले में दिग्विजय सिंह की ओर से गवाही पूरी हो चुकी है। उमा भारती की ओर से बचाव में गवाही चल रही है। दिग्विजय सिंह के अधिवक्ता ने भोपाल की सीजेएम कोर्ट में बचाव पक्ष के एक गवाह के पुन: परीक्षण कराए जाने के लिए आवेदन किया गया था।

सीजेएम ने गवाह का पुन: परीक्षण कराए जाने का आवेदन 29 सितम्बर 2017 को खारिज कर दिया था। उसी आदेश के खिलाफ दिग्विजय सिंह की ओर से यह याचिका हाईकोर्ट में दायर की गई है। मामले में पूर्व में कोर्ट ने केन्द्रीय मंत्री उमा भारती को नोटिस जारी कर जवाब-तलब कर लिया था।

 

0 comments      

Add Comment