Monday, September 23, 2019
पूर्व मंत्रियों ने खाली नहीं किए बंगले, अब दस गुना वसूलेंगे किराया

पूर्व मंत्रियों ने खाली नहीं किए बंगले, अब दस गुना वसूलेंगे किराया

मीडियावाला.इन।

भोपाल। पूर्व मंत्रियों को मकान खाली करने के लिए दिए गए नोटिस की अवधि भी शुक्रवार को समाप्त हो गई, लेकिन पारसचंद्र जैन, रामपाल सिंह सहित आधा दर्जन से ज्यादा मंत्रियों ने अब तक बंगले खाली नहीं किए हैं। अब सरकार उनसे 10 गुना किराया जुर्माने के रूप में वसूल करेगी।

कमलनाथ सरकार को अस्तित्व में आए दो माह हो रहे हैं। इस अवधि में भाजपा सरकार में ऊर्जा मंत्री रहे पारसचंद्र जैन, रामपाल सिंह, सुरेंद्र पटवा, विश्वास सारंग सहित अन्य पूर्व मंत्रियों ने बंगले खाली नहीं किए हैं। इस कारण नए मंत्रियों को बंगले नहीं मिल पा रहे हैं।

गृह विभाग के अफसर कई बार पूर्व मंत्रियों को बंगले खाली करने के लिए कह चुके हैं। एक फरवरी को विभाग ने संबंधित पूर्व मंत्रियों को बंगले खाली करने का 15 दिन का नोटिस भी दिया था। नोटिस में चेतावनी दी गई थी कि तय समय सीमा में बंगले खाली नहीं करने पर जुर्माने के रूप में 10 गुना किराया वसूला जाएगा।

नोटिस की अवधि शुक्रवार को पूरी हो गई है। संपदा संचालनालय के सूत्र बताते हैं कि किसी भी पूर्व मंत्री ने बंगला खाली नहीं किया है। उल्लेखनीय है कि इन बंगलों का नए मंत्रियों को आवंटन हो चुका है, लेकिन खाली नहीं होने के कारण वे शिफ्ट नहीं हो पा रहे हैं।

लोस का इंतजार कर रहे पूर्व मंत्री

जानकार बताते हैं कि पूर्व मंत्री लोकसभा चुनाव का इंतजार कर रहे हैं। इनमें से कुछ पूर्व मंत्रियों को लोकसभा चुनाव लड़ने का मौका मिलने की उम्मीद है। ऐसा होता है, तो उन्हें बंगला खाली नहीं करना पड़ेगा।

इनके बंगले भी नहीं हुए खाली

जुर्माने के साथ इतना किराया लगेगा

बंगले खाली नहीं करने वाले पूर्व मंत्रियों को बी टाइप बंगले के लिए अब 30 हजार रुपए, सी टाइप बंगलों के लिए 24 हजार और डी टाइप बंगलों के लिए 18 हजार रुपए किराया चुकाना होगा।

पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह, नीना वर्मा ने भी बंगले खाली नहीं किए हैं। पूर्व मंत्री रंजना बघेल ने वैसे तो बंगले से सामान निकाल लिया है, लेकिन अब तक लोक निर्माण विभाग को पजेशन नहीं दिया

0 comments      

Add Comment