Monday, September 23, 2019
भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को एनसीपी के एक कार्यकर्ता ने काला झंडा दिखाया

भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को एनसीपी के एक कार्यकर्ता ने काला झंडा दिखाया

मीडियावाला.इन।भोपाल। भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने आज औपचारिक रुप से अपना नामांकन दाखिल कर दिया। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह उनके साथ मौजूद रहे। इससे पहले प्रदेश भाजपा के आला नेताओं की मौजूदगी में साध्वी प्रज्ञा रोड शो के रूप में नामांकन के लिए निकलीं। उनके रोड शो में बड़ी संख्या में भाजपा नेताओं के अलावा कार्यकर्ता भी मौजूद थे। रास्ते भर मोदी-मोदी के नाम के नारे गूंजे। हालांकि इस दौरान जब वो कलेक्ट्रेट पहुंचीं तो एनसीपी के एक कार्यकर्ता ने उन्हें काला झंडा दिखाया। जिसके बाद वो भागकर एसडीएम ऑफिस में घुस गया। गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने एसडीएम ऑफिस में घुसकर उसे पीटा। विवाद बढ़ता देख पुलिस ने बीच-बचाव किया। प्रज्ञा के साथ ही आलोक संजर ने पार्टी के डमी कैंडीडेट के तौर पर अपना नामांकन जमा किया।

इससे पहले आज सुबह वो पॉलिटेक्निक चौराहा स्थित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर पहुंचीं और श्रद्धासुमन अर्पित कर आशीर्वाद लिया। इसके बाद वो कर्फ्यू माता मंदिर पहुंचीं। यहां उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर हिंदूत्व का राग छेड़ा। उन्होंने कहा कि,"जब सनातन संस्कृति पर कुठाराघात होता है तो संतों को आगे आना पड़ता है। इसलिए मैं चुनावी मैदान में कूदी हूं। वहीं उन्होंने महिला उत्पीड़न का मामला उठाते हुए कांग्रेस को कोसा। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि, मैं महिला उत्पीड़न की प्रत्यक्ष प्रमाण हूं। मुझे अलग-अलग तरह से प्रताड़ित किया गया। मैं इनकी प्रताड़ना की प्रत्यक्ष प्रमाण हूं। इन्होंने भगवा को आतंकवाद कहा। हिंदूत्व विकास का पर्याय है। ऐसे में मैं उनकी तकलीफों को जानती हूं और उनकी सुरक्षा के लिए कड़ा कानून लाने के लिए जो करना पड़े, वो करूंगी।"इस मौके पर साध्वी प्रज्ञा ने मौजूदा कमलनाथ सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि," चार महीने की कमलनाथ सरकार ने पूर्व की शिवराज सरकार के दौरान शुरू की कल्याणकारी योजनाओं को एक-एककर बंद करना शुरू कर दिया है। वहीं इनके सत्ता में आते ही लगातार बिजली कटने लगी। लोग भी कहने लगे कि कांग्रेस की सरकार आ गई है। ऐसे में अब इनको जवाब देने का वक्त आ गया है।"बता दें कि सोमवार को साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने शुभ मुहूर्त में दो सेट नामांकन दाखिल किए थे। इस दौरान 11 पंडितों ने स्वस्तिवाचन किया था।

0 comments      

Add Comment