Thursday, October 24, 2019
विश्व महिला मुक्केबाजी

विश्व महिला मुक्केबाजी

मीडियावाला.इन। भारत की अनुभवी मुक्केबाज एम सी मैरीकॉम ने यहां जारी 10वीं आईबा विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि सरिता देवी को हारकर बाहर हो जाना पड़ा। पांच बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम ने 48 किग्रा में कजाखस्तान की ऐजरिम कासेनायेवा को 5-0 से मात दी। मणिपुर की मैरीकॉम का क्वार्टर फाइनल में मंगलवार को चीन की वू यू से सामना होगा। चीन की इस खिलाड़ी ने इससे पहले फिलिपिंस की जोसी गाबुओ को मात दी।

मैच के बाद मैरी कॉम ने कहा, "मैं अच्छा महसूस कर रही हूं। दवाब हट गया। मैंने हमेशा मुक्केबाजी का लुत्फ उठाया है। मुक्केबाजी मेरी जिंदगी रही है, चाहे मैं मुक्केबाजी करूं या टूर्नामेंट में खेलूं।"

ओलिम्पक पदक विजेता ने कहा, "मैं खुश हूं कि उम्मीदों पर खरा उतर सकी। जिस तरह से प्रशंसकों का समर्थन मिला, उसने मेरे अंदर दोगुना उत्साह भर दिया।"

सरिता देवी को लाइटवेट 60 किग्रा में आयरलैंड की कैली हैरिंगटन से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा।

यूरोपियन विजेता 28 साल की केली की जीत की वजह तीसरा राउंड रही जहां आयरलैंड की इस मुक्केबाज ने भारत की अनुभवी खिलाड़ी को पूरी तरह से बैकफुट पर रखा। 36 साल की सरिता हालांकि पहले दो राउंड में पूरी तरह से अपनी विपक्षी पर हावी थीं। पांच में से तीन जजों ने आयरलैंड की मुक्केबाज के पक्ष में 29-28 अंक दिए।

सरिता ने कहा, "मुझे लगता है कि मैं थोड़ी दुर्भाग्यशाली रही। कुछ अंक मेरे पक्ष में नहीं आए, लेकिन मुझसे जब तक बन पड़ेगा मैं तब तक मुक्केबाजी करूंगी।"

इससे पहले दोपहर में खेले गए मुकाबले में मनीषा ने 54 किलोग्राम भारवर्ग में मौजूदा विश्व विजेता कजाकिस्तान की डिना झोलामैन को 5-0 से मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

यह मनीषा की कजाकिस्तान की मुक्केबाज के ऊपर लगातार दूसरी जीत है। इससे पहले, मनीषा ने डिना को पोलैंड में हराया था। डिना के खिलाफ पहले ही जीतने का अनुभव हासिल कर चुकी मनीषा ने इस मुकाबले को 5-0 से जीता।

मनीषा ने कहा, "मैं उन्हें पहले ही हरा चुकी हूं। मैंने अपनी स्पीड पर ध्यान दिया और अपने लक्ष्यों पर नजर रखी। पहले दो राउंड में मैंने अच्छा किया लेकिन तीसरे राउंड में हम दोनों लगभग बराबरी पर थे।"

क्वार्टर फाइनल में मनीषा का सामना टॉप सीड स्टोयका झेलयाकोवा से होगा जिन्होंने उज्बेकिस्तान की तुरसुनोय राखिमोवा को 4-1 से हराया।

वहीं, लवलिना ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 69 किलोग्राम भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने प्री-क्वार्टर फाइनल में पनामा की अथेयना बायलोन को मात दी। जेजू में 2014 में खेली गई विश्व चैम्पियनशप में स्वर्ण पदक जीतने वाली खिलाड़ी के खिलाफ जीत से भारतीय खिलाड़ी का आत्मविश्वास बढ़ा होगा।

लवलिना ने यह मुकाबला 27-30, 27-30, 27-30, 27-30, 27-30 से जीता। अगले दौर में उनका सामना आस्ट्रेलिया की काये फ्रांसेस से होगा।

दोपहर के आखिरी मुकाबले में भाग्यबती कचारी ने 81 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में जर्मनी की इरिना निकोलेटा स्कोनबेर्गर पर 4-1 से जीत हासिल की। जजों ने जो अंक (29-28, 29-28, 29-28, 29-28, 29-28) दिए उनमें भारतीय खिलाड़ी को बढ़त हासिल थी।

0 comments      

Add Comment