Tuesday, October 15, 2019
मिस्त्री साथ ले गए 400 बायोडाटा

मिस्त्री साथ ले गए 400 बायोडाटा

मीडियावाला.इन। भोपाल। कांग्रेस में विधानसभा चुनाव के संभावित प्रत्याशियों के चयन की कवायद के लिए पहली बार छानबीन समिति ने मध्यप्रदेश आकर दावेदारों से मुलाकात की। समिति खाली हाथ आई थी मगर जब लौटी तो 400 दावेदारों के बायोडाटा सूटकेस में थे। उधर, पीसीसी के माध्यम से भी लगभग इतने ही बायोडाटा भेजे जा चुके हैं। विधानसभा चुनाव में आमतौर पर कांग्रेस में छानबीन समिति दिल्ली में बैठकर मीटिंग करती है और वहां प्रदेश के प्रमुख नेताओं के साथ मीटिंग कर टिकट फाइनल किए जाते रहे हैं।
 
दावेदार दिल्ली में ही एआईसीसी के चक्कर लगाते थे और छानबीन समिति के अध्यक्ष या सदस्यों से दो-चार मिनट मुलाकात होती थी। हालांकि इस बार बदली हुई परिस्थितियों में समिति के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री सहित नेटा डिसूजा व अजय लल्लू दो दिन के लिए भोपाल आए थे।

दो दिन में 20 घंटे मुलाकात : छानबीन समिति ने दो दिन में 20 घंटे दावेदारों व नेताओं से मुलाकात की। पीसीसी के महामंत्री राजीव सिंह के माध्यम से दावेदारों व नेताओं की पर्चियां समिति तक पहुंची और नंबर से ही उनकी मुलाकात हुई। समिति से मिलकर निकलने वाला हर नेता संतुष्ट दिखाई दिया।दावेदारों ने कहा कि हमने अपने दावे के बारे में जो भी तैयारी की थी, समिति ने पूरी सुनी। कुछ नेताओं से पिछले विधानसभा चुनाव को लेकर भी सवाल-जवाब किए गए। बताया जाता है कि मिस्त्री जब भोपाल से दिल्ली के लिए रवाना हुए तो उनका सूटकेस बायोडाटा से भर गया था। जबकि काफी जानकारियां तो समिति के दो सदस्यों ने दावेदारों से चर्चा के दौरान कम्प्यूटर में भी दर्ज कर ली थीं। सूत्र बताते हैं कि समिति के पास दो दिन के भीतर मिले नेताओं से कई जिलों की विधानसभा सीटों की जानकारी अपडेट हो गई है।

फिरआएगी समिति

चुनाव में प्रत्याशियों के चयन को लेकर छानबीन समिति भोपाल और आ सकती है। अभी कई दावेदारों की उनसे मुलाकात नहीं हुई है। दिल्ली में भी कुछ लोग समिति से मिलने जा सकते हैं। समिति के भोपाल आने से प्रदेश के नेताओं को राहत मिली है और वे अपनी बात को अच्छी तरह रख सके हैं। - चंद्रप्रभाष शेखर, संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष, मप्र कांग्रेस

0 comments      

Add Comment