Tuesday, October 23, 2018
उज्जैन में जन सैलाब का नया इतिहास, एट्रोसिटी एक्ट के खिलाफ सड़कों पर उतरे 3 लाख लोग

उज्जैन में जन सैलाब का नया इतिहास, एट्रोसिटी एक्ट के खिलाफ सड़कों पर उतरे 3 लाख लोग

मीडियावाला.इन। उज्जैन में रविवार को सड़कों पर उमड़ता जनसैलाब एक नया इतिहास रच गया। एक माह के दौरान एट्रोसिटी एक्ट पर जारी बहस, विरोध और प्रदर्शन इस कदर महास्वरूप ले लेगा, सोचा नहीं था। राजपूत करणी सेना के कर्णधारों ने एक लाख "अनारक्षित" वर्ग के लोगों के आने का दावा किया था। पर यहां-वहां जमा दर्शकों में शामिल प्रायः हर बुजुर्गवार तथा अनुभवी व्यक्ति आगे बढ़कर बता रहे थे कि उन्होंने उनके जीवन में इतना बड़ा प्रदर्शन नहीं देखा। तीन लाख का आंकड़ा सबकी जुबां पर था! महिलाओं एवं युवाओं के आक्रोशपूर्ण नारों और उलाहनों ने तो जैसे आकाश को ही चीर दिया! पांच किलोमीटर लंबे महारैले में मानव सिर गिनना दुष्कर हो गया, वाहनों की कतार के तो कहने ही कुछ अलग थे! माता करणी और महाराणा प्रताप के वंशजों का साथ देने "सपाक्स" यानी समस्त अनारक्षित वर्ग के लोग गगनभेदी नारे लगाते सड़कों पर निकल आए। पता ये भी चला कि लोग मध्यप्रदेश के कम से कम 30 फीसदी जिलों से  महाकाल जी की नगरी में पहुंचे। तपती दोपहर, भूख-प्यास भी उनके बुलंद हौसले को डिगा ना पाए! केन्द्र सरकार अर्थात भाजपा और मामा यानी (मुख्यमंत्री) शिवराजसिंह चौहान "माई के लालों"  (आंदोलनकारियों) के निशाने पर थे। कुरेदने पर उनमें से कइयों ने कहा: "कांग्रेस को भी कतई समर्थन नहीं देंगे औन नोटा की नकारात्मकता में भी नहीं पड़ेगे।"

जंगी सभा

 

 

 

करनी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ,सपाक्स के प्रदेश प्रमुख हीरालाल त्रिवेदी ,करनी सेना के म प्र के अध्यक्ष जीवन सिंह शेरपुर सहित  सभा को करनी सेना के अन्य पदाधिकारियो ने भी संबोधित किया।

 

विडियो देखे ......

https://drive.google.com/file/d/1ArdSrK5w1Je5pH9drCes-nsPAgD9NXKL/view?usp=sharing

 

https://drive.google.com/file/d/1YbsEDqUsACUAUsNCfNlxwN_pN5-vF66L/view?usp=sharing

 

 

 

0 comments      

Add Comment