Tuesday, October 15, 2019
विकास कार्यों का सिलसिला जारी रखने के लिए भाजपा को जिताएं : मोदी

विकास कार्यों का सिलसिला जारी रखने के लिए भाजपा को जिताएं : मोदी

मीडियावाला.इन।  इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश और प्रदेश में विकास कार्यों का सिलसिला जारी रखने के लिए भारतीय जनता पार्टी को फि‍र जिताने की अपील की है। 

इंदौर के सुपर कॉरिडोर क्षेत्र में भाजपा की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कांग्रेस की पूर्व की सरकारों पर जमकर निशाना साधा। उन्‍होंने सिलसिलेवार अपनी सरकार के कार्यों और उपलब्धियों को गिनाया। 

मोदी के भाषण से पहले पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि आप देश की ऐसे ही सेवा करते रहें। लोकसभा चुनाव में हम मालवा निमाड़ से 66 सीटें जीतकर देंगे। 

मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नामदार को घोषणा पत्र का मतलब ही नहीं पता है। विपक्षी नेताओं के सामान्‍य ज्ञान पर भी पीएम ने सवाल उठाए। मोदी ने अपनी सरकार द्वारा अल्‍प समय में किए गए कार्यों को सिलसिलेवार गिनाया और कहा कि उनका लक्ष्‍य केवल विकास रहा। 

मोदी ने व्‍यंग्‍य करते हुए कहा कि ऐसा नेता जिसे उसकी पार्टी ही गंभीरता से नहीं लेती। उसके साथ देशवासी क्‍या हाल करेंगे आप सोच सकते हैं। उन्‍होंने राहुल गांधी का नाम लिए बिना उनकी कैलाश मानसरोवर यात्रा का भी उल्‍लेख किया।

पीएम ने कहा कि दस साल तक राज्‍य सरकार का समय केंद्र सरकार से संघर्ष में ही बीत गया। खुद मुझे और शिवराज सिंह को भी केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन में बैठना पड़ा। मोदी ने कहा कि भाजपा और शिवराज को अापने 15 साल सेवा का मौका दिया मगर काम का मौका तो चार-साढ़े चार साल ही मिला। इसका मतलब समझाते हुए उन्‍होंने कहा कि दस साल तक दिल्‍ली में मेडम की सरकार थी। रिमोट कंट्रोल वाली सरकार थी। मध्‍यप्रदेश सुनते ही उनके कान खड़े हो जाते थे। भाजपा की सरकार सुनकर काम ही नहीं होते थे। 

मोदी ने इंदौर में मेट्रो आरंभ होने की योजना बताते हुए मोदी ने कहा कि इस पर सात हजार करोड़ खर्च होंगे। इस दिशा में तेजी से काम चल रहा है। उन्‍होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उसके पास तो नेता ही नहीं है। वही घिसीपिटी बातें हैं और कंफ्यूज नेता है। 

मध्‍यप्रदेश में 60 लाख और इंदौर में डेढ़ लाख शौचालय निर्माण की बात कहते हुए मोदी ने कहा कि युवा पीढ़ी अब अधिक इंतजार करने की स्थिति में नहीं है। इंदौर का अतीत देश को दिशा देने वाला है। उन्‍होंने कहा कि 60 स्‍मार्ट सिटी में इंदौर का भी नाम है।  अब लोगों को ही तय करना है कि किसने काम किया।

मोदी ने पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह का उल्‍लेख करते हुए उन पर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि जिसकी पार्टी प्‍यूज है क्‍या उनके भरोसे आप अपने मध्‍यप्रदेश को सौंप देंगे। या उन्‍हें मौका देेंगे जो आपके सपनों को साकार कर सकें। भाजपा को मौका देने का निर्णय आप नौजवानों को करना है। मोदी ने कहा कि यह चुनाव यह तय करने का है कि आपको 15 साल किए गए काम को देखना है या 55 साल पहले के माहौल में लौटने का है।

मोदी ने कहा कि इस चुनाव में कोई भी हारे-जीते, किसकी सरकार बने इसके लिए नहीं है। यह चुनाव बीते 15 साल पहले 55 साल तक जिस पार्टी ने राज किया। जिसने तबाही का मंजर दिया। भाई से भाई को, बिरादरी से बिरादरी को लड़ाने के लिए अपना उल्‍लू सीधा करने का काम किया। उसका काम देखने का है। 15 साल का भाजपा का विकास कार्य अापके सामने है। 


मोदी ने कहा कि हमारी विविधताएं सारी दुनिया को आकर्षित करने की ताकत रखती हैं। अब वो अवसर आया है जब देश विश्‍व पर्यटन में अपना अलग स्‍थान बनाने जा रहा है। प्रधानमंत्री ने देश में स्‍वच्‍छता के पहले के हालातों का उल्‍लेख करते हुए उनकी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को रेखांकित किया। उन्‍होंने कहा कि अब स्‍वच्‍छता संस्‍कार बन गई है। इसने पूरी दुनिया का ध्‍यान खींचा है और यह दुनिया का ध्‍यान हमारे पर्यटन की ओर आ‍कर्षित करने का माध्‍यम बनता जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिये। ऐसा नहीं होने से हम लोगों को अपने पर्यटन के प्रति अधिक आकर्षित नहीं कर सके। आजादी के बाद जिन लोगों के हाथों में देश की बागडोर रही उन्‍होंने इस महान परंपरा की ओर ध्‍यान नहीं दिया। 


प्रधानमंत्री ने कहा कि इंदौर का अतीत और वर्तमान देश को दिशा देने वाला है। 18 Nov 2018 18:40 
मोदी ने कहा कि इंदौर ने स्‍वच्‍छता के विषय में जो काम करके दिखाया है वह सरकारी व्‍यवस्‍था के कारण है ऐसा नहीं है । यह सफलता इंदौर के जन-जन के संस्‍कार के कारण है। 

मोदी ने पहले काशी की दुर्दशा का उल्‍लेख करते हुए काशी के पुनरुद्धार में देवी अहिल्‍याबाई के याेगदान का भी जिक्र करते हुए इसे प्रेरणादायक बताया। अपने संबोधन के आरंभ में मोदी ने इंदौर को स्‍वच्‍छता का सिरमौर बताते हुए देवी अहिल्‍याबाई होलकर का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने देवी अहिल्‍या से जुड़े एक प्रसंग का भी उल्‍लेख करते हुए काशी का भी नाम लिया। 

0 comments      

Add Comment