Monday, October 14, 2019
मंदसौर में फिर चली गोली -  फिर हुई हत्या

मंदसौर में फिर चली गोली - फिर हुई हत्या

मीडियावाला.इन।

डॉ. घनश्याम बटवाल की रिपोर्ट

====================

मंदसौर में बुधवार की सुबह सवा ग्यारह बजे गीता भवन के सामने ,रेलवे अंडरब्रिज के समीप स्थित होटल के बाहर गोलियां चली और कोई कुछ समझ पाता इसके पहले एक अभिभाषक , लोकल न्यूज़ चैनल संचालक और विश्व हिंदू परिषद के विभाग सहमंत्री युवराजसिंह चौहान जमीन पर गिर पड़े , बहुत रक्त बह गया और गंभीर हालत में ऑटो रिक्शा में डाल कर जिला चिकित्सालय लाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया ।

 

घटना की खबर तेजी से फ़ैली और सैंकड़ों की संख्या में समर्थक और अन्य लोगों की भीड़ इकट्ठी होगई । पुलिस को जाप्ते का इंतजाम करना पड़ा । भय और आक्रोश का वातावरण होगया ।

 

 पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी एडिशनल एस पी मनकामना प्रसाद बल के साथ मौके पर पहुंचे । फॉरेंसिक टीम ने मुआयना किया । मृतक युवराजसिंह का पोस्टमार्टम किया गया । 

एस पी चौधरी ने बताया कि मोटरसाइकिल पर सवार तीन अज्ञात हमलावरों ने नजदीक से फायरिंग की जिससे मृत्यु हुई है । पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर विशेष टीमों को धरपकड़ के लिए भेजा है । जल्दी ही अपराधी गिरफ्त में होंगे । 

इधर जानकारों का कहना है कि युवराजसिंह( 46) पिता बच्चु सिंह चौहान  मासिक विधुत बिल जमा कराने आये थे , उसी दौरान यह वारदात हुई । समीप होटल संचालक हेमंत मेहरा ने बताया कि अचानक तीन जने बाइक पर आए और पास से गोली चलाने के बाद अंडरब्रिज के नीचे होकर अभिनंदन नगर तरफ़ भाग गए । आसपास के लोगों की मदद से उन्हें हॉस्पिटल लेजाया गया ।

मृतक के पिता पुलिस विभाग से सबइंस्पेक्टर पद से रिटायर हुए हैं । साईं मंदिर के निकट ही इनका निवास है ।  युवराजसिंह आर एस एस , विश्व हिंदू परिषद , धर्मजागरण मंच , के सक्रिय कार्यकर्ता रहे । एस आर एम लोकल न्यूज चैनल का संचालन करते थे । सरेराह गोली मारकर हत्या होने से सभी क्षेत्रों में तीव्र आक्रोश है ।

पुलिस ने आश्वस्त किया है कि जल्द ही अपराधी पकड़े जायेंगे । धरपकड़ में कुछ संदिग्धों को उठाया गया है , पूछताछ जारी है । बताया जारहा है कि युवराजसिंह इंदौर सेन्ट्रल जेल में बंदी सुधाकर मराठा के सम्पर्क में रहे हैं ? कुछ लोगों का कहना है कि प्रॉपर्टी विवाद के चलते वारदात हुई है ?  कुछ सूत्रों के मुताबिक अलावदाखेड़ी के असामाजिक तत्वों ने मिलकर हत्या की है ? 

जिला मुख्यालय मंदसौर में लगातार होरही हत्याओं ने पुलिस और प्रशासन के साथ ख़ुफ़िया तंत्र पर भी सवालिया निशान खड़े कर दिये हैं ? 

नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार , ज्वेलर्स अनिल सोनी  , धाकड़ समाज व्यवसायी वीरेन्द्र ठन्ना के बाद यह चौंकाने वाली चौथी घटना है जिसमें हत्या हुई है 

 पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार जनों को सौंपा गया है । परिवार सूत्रों के अनुसार गुरुवार सुबह युवराजसिंह चौहान का अंतिम संस्कार किया जायेगा । भाई भोपाल व मुंबई से रवाना होगये हैं । 

जिला भाजपा अध्यक्ष राजेंद्र सुराणा ने इसे गंभीरता से लेकर पुलिस को कार्यवाही करने का कहा है । लगातार होरही हत्यायें हिंदू नेताओं और इससे जुड़े कार्यकर्ताओं की होरही है । प्रदेश में सरकार बदलने के साथ अपराधी तत्व हावी होगये हैं ।

मंदसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने आय जी पुलिस और एस पी से चर्चा कर तुरंत अपराधी को पकड़ने की मांग की है । आपने एस पी चौधरी को कहा कि सभी एंगल से हत्या की जाँच कर त्वरित कार्यवाही करें ।

 

 

0 comments      

Add Comment