Monday, September 23, 2019
पार्षद की शिकायत पर 100 लोगों पर एससीएसटी केस,आज आया नया मोड़,अब पार्षद के खिलाफ एफ आई आर

पार्षद की शिकायत पर 100 लोगों पर एससीएसटी केस,आज आया नया मोड़,अब पार्षद के खिलाफ एफ आई आर

मीडियावाला.इन। ग्वालियर: ग्वालियर के पार्षद चतुर्भुज धनोलिया ,जिनकी शिकायत पर कल  थाटीपुर थाने में 100 लोगों के खिलाफ एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था, आज नया मोड़ तब आया, जब इस मामले में, नेत्रपाल भदोरिया, जिनके खिलाफ एससीएसटी एक्ट में प्रकरण दर्ज किया गया है, की मां मुन्नीदेवी ने पार्षद पर आरोप लगाते हुए पुलिस में एफ आई आर दर्ज कराई।

बताया गया है कि ग्वालियर के दुल्लापुर के कुशवाह मोहल्ले में खुले पड़े सीवर के चैंबर और सड़कों पर गड्ढे की शिकायत लेकर मोहल्ले के लोग कल पार्षद के घर गए थे। लोगों का कहना है खुले में चेंबर और गड्ढे में गिरने से कई लोग घायल हो चुके हैं। समस्या की सीएम हेल्पलाइन में भी शिकायत की जा चुकी है लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने से पार्षद को समस्या बताने लोग गए थे। पार्षद ने लोगों पर गाली गलौज और घर घेरने का आरोप लगाते हुए करीब 100 लोगों पर एससीएसटी एक्ट का मामला दर्ज कराया था ।

इसी बीच इस मामले में आज नया मोड़  आ गया है। मामले में नेत्रपाल सिंह भदोरिया की मां मुन्नीबाई  ने पार्षद पर आरोप लगाया है। भदोरिया की मां मुन्नीदेवी का कहना है कि एससीएसटी मामला दर्ज होने से पहले ही कल थाने पहुंची थी लेकिन थाटीपुर थाना पुलिस ने उनकी कोई सुनवाई नहीं की। आज मुन्नीदेवी ने थाटीपुर थाने में पार्षद धनोलिया के खिलाफ एफ आई आर दर्ज की। ग्वालियर के एडिशनल एस पी ने मीडिया को बताया कि जिस वक्त विवाद हुआ था, थाना प्रभारी थाने में नहीं थे। थाने में मौजूद सब इंस्पेक्टर इंदर सिंह राठौर ने वरिष्ठ अधिकारियों को संज्ञान में लाए बिना पार्षद की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया था। इस लापरवाही को देखते हुए थाटीपुर थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर इंदर सिंह राठौड़ को वरिष्ठ अधिकारियों ने  लाइन अटैच कर दिया है। प्रकरण में पुलिस जांच जारी है।

इसी बीच सपाक्स समाज ने कहा  है कि एससीएसटी प्रकरण दर्ज करने के मामले में भेदभाव हो रहा है। मुख्यमंत्री सहित कई मामलों में शिकायतें दर्ज हैं लेकिन कोई कार्यवाही आज तक नहीं की गई है ,लेकिन नेत्रपाल सिंह भदोरिया और अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत होते ही प्रकरण दर्ज कर लिया गया। यह स्पष्ट किया जाना चाहिए कि देश में दोहरा कानून व्यवस्था क्यों कार्यरत है?
हम यहां मुन्नी देवी द्वारा दर्ज FIR के के साथ ही सपाक्स समाज का ज्ञापन भी दे रहे हैं

 

 

 

 

 

 

 

 

 

0 comments      

Add Comment