Monday, September 23, 2019
अध्यापकों का डाटा लीक, 3 कर्मचारियों के बैंक अकाउंट साफ ,  

अध्यापकों का डाटा लीक, 3 कर्मचारियों के बैंक अकाउंट साफ ,  

मीडियावाला.इन। भोपाल। मध्यप्रदेश के करीब ढाई लाख अध्यापकों को सावधान हो जाने की जरूरत है। उनकी सेवाएं शिक्षा विभाग में मर्ज की जा रहीं हैं। इस दौरान उनका डेटा लीक हो गया है। यह डाटा किसी गिरोह के हाथ लग गया है। वो लगातार अध्यापकों से ठगी कर रहा है। अध्यापकों का वो बैंक अकाउंट जिसमें सेलेरी आती है, टारगेट पर ले लिया गया है। बैतूल जिले से इस तरह की शिकायतें सामने आईं हैं। अब तक तीन कर्मचारी इस गैंग का शिकार हो चुके हैं। जबकि बीईओ कार्यालय के आधा दर्जन अाैर एक्सीलेंस स्कूल के एक दर्जन से ज्यादा शिक्षक इस ठगी का शिकार होने से बच गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है, अब तक एफआईआर भी दर्ज नहीं की गई है। 

विभाग के कर्मचारियों और शिक्षकों ने एसपी डीएस तेनीवार को लिखित शिकायत कर शिक्षा विभाग के एजुकेशन पोर्टल और एम शिक्षा मित्र की साइट हैक होने की आशंका जाहिर की है। शिकायतकर्ता चरण सिंग उइके, रिंकी सरयाम, उदयभान कुंडारे, नेहरू पंडे, मनीष वरवडे आदि ने कहा है कि वर्तमान में एजुकेशन पोर्टल पर अध्यापक संवर्ग का सत्यापन कार्य चल रहा है। जबकि एम शिक्षा मित्र एप में शिक्षक और कर्मचारियों की व्यक्तिगत और विभागीय जानकारियां है। खास बात ये है कि वर्तमान में जो सत्यापन कार्य शुरू है उसके लिए साइट पूरी तरह खुली है और इसमें गोपनीयता नहीं बरती जा रही है। प्राइवेट संस्थानों में पहुंचकर अध्यापक सत्यापन करवा रहे हैं। इसके कारण भी इस तरह की कारगुजारी सामने आने की आशंका जताई जा रही है।

0 comments      

Add Comment