Wednesday, November 20, 2019
मोरटक्का ब्रिज बंद

मोरटक्का ब्रिज बंद

मीडियावाला.इन।

बरगी, तवा, इंदिरा सागर अाैर अाेंकारेश्वर बांध से लगातार पानी छाेड़े जाने के कारण इंदाैर-इच्छापुर हाईवे स्थित नर्मदा नदी पर बना मोरटक्का ब्रिज बंद कर दिया गया। इंदौर से आने-जाने वाले वाहन देशगांव से भीकनगांव-खलघाट हाेते हुए निकल रहे हैं। वहीं तेज बारिश के बाद शिप्रा नदी उफान पर है। रामघाट स्थित मंदिर डूब गए हैं।

मोरटक्का ब्रिज बंद के लिए इमेज नतीजे

 

18 गेट ढाई मीटर खोले, आश्रम व मंदिर खाली कराए
ओंकारेश्वर बांध प्रबंधन ने भी 18 गेट ढाई मीटर खोल कर 16 हजार क्यूमेक्स प्रति सेकंड पानी छोड़ना शुरू कर दिया है। इस कारण निचले क्षेत्र के मोरटक्का में नर्मदा घाटों पर जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। सूचना मिलते ही पुनासा एसडीएम ममता खेड़े रात 8 बजे मोरटक्का पहुंची। उन्होंने नर्मदा किनारे के आश्रमों व मंदिरों को तत्काल खाली कराने के निर्देश दिए। उन्होंने खड़े रहकर आश्रम खाली कराए। क्षेत्र की बिजली सप्लाय भी बंद किया गया ताकि करंट ना फैले। उन्होंने पटवारी व होमगार्ड जवानों को मौके पर मौजूद रहकर सतर्क रहने के निर्देश दिए।बरगी और तवा बांध से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है। इस सीजन में पहली बार इंदिरा सागर बांध के 12 गेट साढ़े चार मीटर तक खोलकर 13 हजार क्यूमैक्स पानी छोड़ा गया। जबकि आठों टरबाइन चलाकर 1840 क्यूमैक्स पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा है। 16 सितंबर से बांध के गेट खोले हैं। इंदिरा सागर परियोजना प्रमुख अनुराग सेठ के मुताबिक रविवार 8 सितंबर को गेट खुले रखने का 24वां दिन था। 2013 में लगभग 53 दिन तक गेट खोलकर पानी छोड़े जाने का रिकार्ड है।

 

0 comments      

Add Comment