Monday, September 23, 2019
फिल्में और टीवी सीरियल देखकर रची थी खुद की हत्या की साजिश, हिम्मत पाटीदार गिरफ्तार

फिल्में और टीवी सीरियल देखकर रची थी खुद की हत्या की साजिश, हिम्मत पाटीदार गिरफ्तार

मीडियावाला.इन।

रतलाम। खुद को मरा बताकर कर्ज से निजात पाने और बीमा राशि का लाभ लेने के लिए अपने पूर्व नौकर की हत्या करने के आरोपित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ता हिम्मत पाटीदार को पुलिस ने राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले की अरनोद तहसील स्थित होरी हनुमान मंदिर के पास एक धर्मशाला से गिरफ्तार कर लिया।

गुरुवार सुबह पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बताया कि हिम्मत पर 26 लाख का कर्ज था और उसने एक माह पहले 20 लाख का बीमा कराया था। उसने फिल्में व टीवी सीरियल देखकर किसी अन्य को अपने स्थान पर मारकर खुद की हत्या करने की साजिश रची थी।

उल्लेखनीय है कि हिम्मत पाटीदार (36) निवासी ग्राम कमेड़ ने अपने पूर्व नौकर मदन मालवीय (34) की 22 जनवरी की रात अपने खेत में तलवार से हत्या कर दी थी। पहचान छिपाने के लिए मदन का चेहरा जला दिया था।

23 जनवरी सुबह हिम्मत के पिता लक्ष्मीनारायण पाटीदार खेत पहुंचे तो उन्हें शव दिखा। शव पर कपड़े हिम्मत के होने से वे समझे कि हिम्मत की हत्या हुई है। शंका होने पर पुलिस ने हिम्मत व मदन के माता-पिता के ब्लड सैंपल व शव से प्राप्त बाल, हड्डी आदि डीएनए के लिए सागर स्थित प्रयोगशाला भेजा।

वहां से 27 जनवरी को रिपोर्ट आई जिसमें बताया गया कि शव मदन का है न कि हिम्मत का। पूछताछ में हिम्मत ने बताया कि पहले उसने अपनी कद-काठी के गांव के कालू मालवीय को मारने के लिए चुना था। कालू के बाल बड़े होने से घटना के तीन दिन पहले हिम्मत ने उसकी कटिंग कराई थी।

घटना वाली रात उसने फोन लगाकर कालू को बुलाया, लेकिन कालू ने आने से मना कर दिया था। इसके बाद वह कालू को लेने एक अन्य खेत पर गया, जहां वह काम करता है लेकिन वह वहां नहीं मिला तो मदन को बाइक से खेत पर ले गया।

अधिक सर्दी होने का हवाला देकर हिम्मत ने कालू को अपना जैकेट व कपड़े पहना दिए और पीछे से मदन का गला दबा दिया। बेहोश होेने पर तलवार से उसके गले पर चार वार किए और चेहरा जला दिया।[नईदुनिया ]

0 comments      

Add Comment