Monday, April 22, 2019
MCU के पूर्व कुलपति कुठियाला बोले- बिना पक्ष सुने आरोपी बनाया, EOW ने मांगी जानकारी

MCU के पूर्व कुलपति कुठियाला बोले- बिना पक्ष सुने आरोपी बनाया, EOW ने मांगी जानकारी

मीडियावाला.इन।

भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (एमसीयू) के पूर्व कुलपति बीके कुठियाला सहित विवि के 19 प्रोफेसरों के खिलाफ रविवार को आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने मामला दर्ज किया है। इस मामले में ईओडब्ल्यू ने विवि से इन सभी प्रोफेसरों की नियुक्ति के बारे में जानकारी मांगी है। सूत्रों के मुताबिक ईओडब्ल्यू ने 12 से 15 बिन्दुओं पर जानकारी मांगी है। जिसे विवि सोमवार को जुटाने में लगा रहा।

पूर्व कुलपति कुठियाला ने ली जिम्मेदारी

एफआईआर दर्ज होने के बाद पूर्व कुलपति बीके कुठियाला का बयान भी सामने आया। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट का आधार तीन सदस्यीय कमेटी की जांच है। जिनको आरोपी बनाया गया है, उनका पक्ष तो सुना ही नहीं गया। यह पूर्णतः अन्याय है, गैरकानूनी है। सात दशकों से अधिक की आजादी के बाद भी नागरिक अधिकारों का ऐसा हनन होना अनुचित है। एक व्यवस्था में आपके काम की सराहना होती है और उसके लिए आपको पुरस्कृत किया जाता है, लेकिन दूसरी व्यवस्था उसकी काम को दंडनीय बनाने का प्रयास करती है। यह तो प्रजातांत्रिक व्यवस्था को ही हास्यास्पद बना देती है। राजनीतिक मतभेदों को शिक्षा जगत को तहस-नहस करने का बहाना बनाना अनुचित ही नहीं अनैतिक भी है। मेरे कुलपति के कार्यकाल में सब कार्य विवि, राज्य सरकार व यूजीसी के नियमानुसार हुए हैं। कुलपति होने के नाते मैं अपनी टीम के सभी कार्यों के लिए जिम्मेदार हूं। झूठ और अर्ध सत्य पर आधारित आरोप अधिक दिन नहीं चल सकेंगे। जांच व्यवस्था पर हमारा पूर्ण विश्वास है और हमारी ओर से पूरा सहयोग मिलेगा।

ईओडब्ल्यू ने मांगी ये जानकारी

- नियुक्ति कब हुई?

 प्रमोशन कब मिला?

- अनुभव प्रमाण पत्र।

- शैक्षणिक योग्यता के दस्तावेज।

- किस राज्य के मूल निवासी।

कुलपति से मिलने पहुंचे प्रोफेसर्स

विवि के कुलपति दीपक तिवारी से मिलने सोमवार शाम सभी प्रोफेसर्स पहुंचे। सभी प्रोफेसर्स ने अपना पक्ष रखा और स्वयं को पूरे मामले में बेगुनाह बताया। प्रोफेसर्स ने कहा कि उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन उन्हें जान-बूझकर फंसाया जा रहा है। उन्होंने प्रबंधन से सही तथ्य रखने की मांग की। प्रबंधन ने आश्वासन दिया कि सही जानकारी दी जाएगी।

जानकारी जुटाई जा रही है

ईओडब्ल्यू ने विवि से प्रोफेसरों की जानकारी मांगी है। इसमें नियुक्तियों से लेकर दस्तावेजों के प्रमाण मांगे गए हैं। सभी जानकारी जुटाई जा रही है।

 

-दीपेन्द्र एस बघेल, रजिस्ट्रार, एमसीयू

 

 

 

0 comments      

Add Comment