3 Youth Died Due to Drowning : खदान के गड्ढे में गणेश विसर्जन करने गए 3 युवाओं की मौत!

कांग्रेस MLA ने नगर निगम और IDA पर लापरवाही का आरोप लगाया, प्रभावित परिवार को मदद दी!

678

3 Youth Died Due to Drowning : खदान के गड्ढे में गणेश विसर्जन करने गए 3 युवाओं की मौत!

Indore : नगर निगम की लापरवाही से आज सुपर कॉरिडोर पर गणेश प्रतिमा के विसर्जन के दौरान दो परिवारों के तीन युवाओं की मौत हो गई। सुपर कॉरिडोर पर खदान के गड्ढे में भरे पानी में गणेश जी की प्रतिमा विसर्जित करने आए कंडेलपुरा के कई युवा पहुंचे थे। इनमें से 5-6 युवा गड्ढे में डूब गए। इनमें से तीन युवाओं की इस हादसे में डूब जाने से मौत हो गई। मरने वालों में दो सगे भाई थे।

WhatsApp Image 2023 09 29 at 8.29.27 PM

जो दो परिवार इस हादसे के शिकार हुए हैं उनमें से एक परिवार के मुखिया की कोरोना के संक्रमण काल के दौरान मौत हो गई थी। उसके बाद में मां ही अपने बच्चों का लालन-पालन कर रही थी। आज वह बच्चा भी काल के ग्रास में समा गया।

WhatsApp Image 2023 09 29 at 8.29.07 PM

विधायक ने हादसे पर दुख जताया
कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने आज दोनों परिवारों में जाकर इस दुखद हादसे पर सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि आज जो लोग विकास की बात कर रहे हैं, उन्हें पहले लापरवाही से होने होने वाली मौतों का जवाब देना होगा। विधायक ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विकास की कमान इंदौर नगर निगम और इंदौर विकास प्राधिकरण के पास में हैं। इन दोनों में ही भाजपा के नेता बैठे हुए हैं। यह नेता किस तरह से जिम्मेदारी के साथ काम कर रहे हैं इसका अंदाजा तो इसी बात से लग जाता है कि मौत का गड्ढा खुदा हुआ था। इस गड्ढे में दो परिवारों के तीन युवा हमेशा के लिए परिवार से बिछुड़ गए। उन्होंने कहा कि यह घटना बेहद दुखद और इन परिवारों पर वज्रपात है।

51-51 हजार की आर्थिक मदद
मृतक युवाओं के परिवार को विधायक संजय शुक्ला ने 51–51 हजार की आर्थिक सहायता दी। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि इस घटना में मृत्यु के परिवारों को एक-एक करोड रुपए की राशि मुआवजे के रूप में दी जाए। साथ ही इस घटना के लिए जिम्मेदार नगर निगम और इंदौर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज किया जाना चाहिए। इस तरह की लापरवाही से शहर में लगातार मौतें हो रही है। लेकिन, इन घटनाओं पर कोई सबक नहीं लिया जा रहा। रामनवमी पर पटेल नगर में हुए बावड़ी हादसे को अभी यह शहर भूला नहीं है। उस हादसे मैं भी किसी अधिकारी, पदाधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।