अपने ही भाई के यौन शोषण से गर्भवती हुई 14 साल की किशोरी को देना होगा बच्चे को जन्म

अपने ही भाई के यौन शोषण से गर्भवती हुई 14 साल की किशोरी को देना होगा बच्चे को जन्म

मीडियावाला.इन।

इंदौर। अपने ही भाई के यौन शोषण से गर्भवती हुई 14 साल की किशोरी को अब दोगुनी तकलीफ झेलनी होगी। एक तरफ वह अपने साथ हुए शोषण के सदमे से नहीं उबर पा रही है, वहीं अब उसे बच्चे को जन्म देने की पीड़ा से गुजरना पड़ेगा। हाई कोर्ट ने मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट के आधार पर गर्भपात की अनुमति नहीं दी।

अपने ही 16 वर्षीय भाई से दुष्कर्म का शिकार हुई भंवरकुआं थाना क्षेत्र निवासी पीड़िता के माता-पिता ने हाई कोर्ट से गर्भपात की अनुमति मांगी थी। पीड़िता को तीन दिन तक एमवाय अस्पताल में भर्ती रख डॉक्टरों ने सभी जांचें की। मंगलवार को मेडिकल बोर्ड की जांच रिपोर्ट कोर्ट में प्रस्तुत की गई। रिपोर्ट के अनुसार पीड़िता को 28 हफ्ते का गर्भ हो चुका है। इसलिए गर्भपात करवाने पर उसकी जान को खतरा हो सकता है। पीड़िता के माता-पिता ने बेटी की जान खतरे में डालने से इंकार कर दिया।

 

इस पर बाल कल्याण समिति ने पीड़िता को आश्रय गृह में संरक्षण दिलवाया। समिति की अध्यक्ष माया पांडे ने बताया कि पीड़िता नौ माह पूरे होने तक संस्था में ही रहेगी। संस्था की मदद से ही अस्पताल में उसका प्रसव कराया जाएगा। प्रसव के बाद शिशु को परिवार पालेगा या समिति को सौंपेगा, यह परिवार पर निर्भर है। गौरतलब है कि हाई कोर्ट की विधिक सेवा समिति के माध्यम से एडवोकेट रेखा श्रीवास्तव ने पीड़िता की ओर से याचिका दर्ज करवाई थी।

बैठी रहती है गुमसुम

पीड़िता की अस्पताल से छुट्टी हो चुकी है और वह आश्रयगृह में रह रही है। वह गुमसुम रहती है लेकिन गर्भ में पल रहे शिशु के बारे में समझने लगी है। पेट दर्द भी होता है लेकिन बच्चे को जन्म देना है या नहीं, इस बारे में ज्यादा नहीं समझ पा रही है। संस्था में पीड़िता के आसपास सकारात्मक माहौल बनाने का प्रयास किया जा रहा है। उधर, आरोपित भाई को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मां बोली- हमारा तो घर बर्बाद हो गयाटना से सबसे ज्यादा दुखी पीड़िता की मां का कहना था कि हमारा तो घर बर्बाद हो गया। बेटा जेल चला गया और बेटी को संस्था में रखवा दिया। उधर, समाज और रिश्तेदारों की बातों से अलग संघर्ष करना पड़ रहा है। 

न्यूज़ सोर्स: नईदुनिया

 

0 comments      

Add Comment