प्रथम ऑनलाइन अन्तरराष्ट्रीय अखंड श्रीरामचरितमानस पाठ ‘रामोत्सव’ का आयोजन अमेरिका इंग्लैंड सहित जुड़ेंगे कई देशों के रामभक्त 24 घंटे अंखंड चलेगी ऑनलाइन रामायण

प्रथम ऑनलाइन अन्तरराष्ट्रीय अखंड श्रीरामचरितमानस पाठ ‘रामोत्सव’ का आयोजन अमेरिका इंग्लैंड सहित जुड़ेंगे कई देशों के रामभक्त 24 घंटे अंखंड चलेगी ऑनलाइन रामायण

मीडियावाला.इन।

भापोल, 01 अगस्त। अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर की नींव पड़ने जा रही है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हेतु भूमि पूजन की तैयारियाँ चरम पर हैं। 5 अगस्त को होने वाले इस भव्य आयोजन को लेकर सम्पूर्ण विश्व के धर्मावलम्बियों में भारी उत्साह है। यह भारतवर्ष के इतिहास का अत्यंत महत्वपूर्ण दिन है।
कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित लगभग 200 गणमान्य व्यक्ति ही इस कार्यक्रम में प्रत्यक्ष शामिल हो सकेंगे। इस ऐतिहासिक अवसर के प्रति पूरी दुनिया में आकर्षण है। देश और दुनिया में अलग-अलग ढंग से अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से जुड़ने और उसको अनुभव करने के लिए प्रयास हो रहे हैं। 
भोपाल के राम भक्तों का एक समूह इस ऐतिहासिक अवसर पर एक ‘रामोत्सव’ नामक प्रथम ऑनलाइन अन्तरराष्ट्रीय अखंड श्रीरामचरितमानस पाठ का आयोजन करने जा रहा है। दिनांक 4 अगस्त प्रातः 7 बजे से शुरू होकर यह रामायण पाठ अगले दिन 5 अगस्त की सुबह तक लगभग 24 घंटे तक अनवरत चलेगा। रामोत्सव के आयोजकों के अनुसार यह पहला अवसर है जब इस तरह को कोई ऑनलाइन अखंड रामायण पाठ सम्पन्न होगा। उल्लेखनीय है कि इस ऑनलाइन मानस पाठ में कई देशों के रामभक्त जूम एप के माध्यम से जुड़ेंगे और एक-एक घंटे का क्रमवार रामचरितमानस पाठ का वाचन करेंगे। इस पूरे कार्यक्रम को रामोत्सव के फेसबुक पेज ‘’Ramotsav- रामोत्सव” www.facebook.com/ramotsav’’ पर लाइव किया जाएगा जो अनवरत चलता रहेगा। कार्यक्रम में अमेरिका, कनाडा, जर्मनी, मॉरिशश, हालैंड, हंगरी, इंग्लैंड इत्यादि देशों के लोग पाठ करेंगे। यह अपनी तरह का विश्व का प्रथम ऑनलाइन अखंड श्रीरामचरितमानस पाठ होगा। 
प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस रामोत्सव में देश के बाहर बसने वाले भारतीयों से लेकर सुदूर गाँवों में बसने वाले आमजन भी रामायण पाठ करेंगे। सभी के लिए एक नियत समय तय किया गया है जिसके अनुसार लोग जुड़ते जाएंगे और अपनी बारी आने पर एक घंटे तक अपने हिस्से का रामाय़ण पाठ पढ़ेंगे। गौरतबल है कि इस कड़ी में देश के कई अँचलों से कुछ मंडलियाँ भी जुड़ेंगी और स्थानीय अंदाज में रामायण पाठ करेंगी। इस प्रकार इस ऑलनाइन मानस पाठ में विश्व भर की शैली भी देखने को मिलेगी। 
इस दैरान एक टेक्नीकल टीम पूरे समय तकनीकी पक्षों पर नजर रखेगी और कहीं रुकावट न आये इसलिए रामायण पाठकों की रिजर्व टीम भी जुड़ी रहेगी जो किसी भी आपात स्थिति में रामचरितमानस का वाचन जारी रखेगी। 
प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि की ऑनलाइन कार्यक्रम की शुरुआत अयोध्या के हनुमान गढ़ी परिक्षेत्र से होगी जिसमें प्रातः सात बजे वहां के कुछ पुजारी विधि विधान से पाठ का शुभारंभ कराएंगे। पाठ के अंत प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक अजय याज्ञिक मानस पाठ करेंगे।

0 comments      

Add Comment