पहले से शादीशुदा को कुंवारी बताकर करवा दी शादी, दुल्हन सहित 3 दलालों पर प्रकरण दर्ज

2467

पहले से शादीशुदा को कुंवारी बताकर करवा दी शादी, दुल्हन सहित 3 दलालों पर प्रकरण दर्ज

झाबुआ से कमलेश नाहर की रिपोर्ट

झाबुआ. जिले के राणापुर के एक युवक की दलालों द्वारा पहले से शादीशुदा महिला को कुंवारी बताकर शादी करवाने का मामला सामने आया है। यह पता चलने पर युवक ने युवती के खिलाफ पुलिस में प्रकरण दर्ज करवा दिया।

WhatsApp Image 2023 06 12 at 19.13.47 1

11 जून रविवार को विनोद पंचाल के बेटे गौरव का विवाह वैदिक रीति से राणापुर में ही 4 बजे सम्पन्न हुआ। करीब सात आठ रोज से नागदा के दलाल प्रदीप पंडित और दो और लोगों के जरिये विनोद पंचाल ने अपने पुत्र गौरव के लिए इंदौर की एक बालिका से रिश्ता तय किया।

शनिवार को दोपहर में सूचना मिली की वह लड़की आना नहीं चाहती तो क्या दूसरी लड़की ले आये, वह भी कुंवारी है। राणापुर में माता पूजन, हल्दी, मेहँदी आदि कार्यक्रम हो चुके थे। मेहमान भी आ चुके थे अतः विनोद ने सामाजिक प्रतिष्ठा के कारण हां कर दी। रविवार को लग्न हुए और शाम 6 बजे के करीब धर्मशाला से ढोल और गीत के साथ घर ले गए, जहाँ कुलदेवी का पूजन कार्यक्रम हुआ।

WhatsApp Image 2023 06 12 at 19.13.47 2

शाम को दूल्हे की बहिन ने पूछा भाभी जी आप मोबाइल यूज नहीं करती तब दुल्हन ने इंकार कर दिया। जब दुल्हन आशा फ्रेश होने के लिए वॉशरूम गई तभी मोबाइल की घण्टी बजी तब बेग में एक एंड्राइड और एक की पेड मोबाइल मिला। एंड्राइड मोबाइल की स्क्रीन पर आशा के साथ किसी दूसरे व्यक्ति का फोटो विवाह के परिधान में देखकर अपने पिता को बताया। आशा से मोबाइल का लॉक  खुलवाया तो बहुत से मिस कॉल थे और गैलरी में पूर्व विवाह के बहुत से फोटो।

तब थाने जाकर पूरी कार्यवाही सम्पन्न की। पुलिस अधीक्षक अगम जैन को भी सूचना दी गई। पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में राणापुर टी आई संजय रावत ने एक टीम बनाकर दलालों को पकड़ने हेतु ऐ एस आई लाखनसिंह भाटी, ऐ एस आई पवन भिंडे, आरक्षक दिनेश भयडिया को रवाना किया है।

आवेदकों ने कहा है कि हमारे साथ जो ठगी की घटना घटित हुई है वह तो हमे सहन करना ही है पर अन्य लोग इस प्रकार की ठगी से बच जाएँ और इन फर्जी लुटेरे दलालों के चंगुल में न फँसे इसलिए प्रकरण पंजीबद्ध कराया है।

लड़की आशा के पास अलग अलग नाम से तीन आधार कार्ड प्राप्त हुए हैं। लुटेरी दुल्हन के अनुसार वह महाराष्ट्र की रहने वाली है और उसके माता पिता का देहांत हो चुका है इसलिए वह अपनी बहिन के यहाँ इंदौर में रहती है। रविवार की शाम से सोमवार सुबह तक करीब 180 मिसकॉल आशा के मोबाइल पर आए हैं। पुलिस द्वारा आशा के पति को फोन किया तो वह अपनी पत्नी के मायके जाने की बात कह रहा है। पुलिस को अगर इस गिरोह के गिरेबान तक पहुँचने में सफलता मिलती है तो निश्चित झाबुआ पुलिस को एक नई सफलता मिलेगी।