Aspirin Tablet: छाती में अचानक बहुत तेज दर्द हो तो 4 घंटे के अंदर हार्ट अटैक से बचा देती यह गोली

764
Aspirin Tablet

Aspirin Tablet: छाती में अचानक बहुत तेज दर्द हो तो 4 घंटे के अंदर हार्ट अटैक से बचा देती यह गोली

हाल ही में जर्नल ऑफ अमेरिकन हार्ट एसोसिशन की स्टडी में सामने आया है कि यदि छाती में अचानक बहुत तेज दर्द होता है तो इसके चार घंटों के अंदर एस्पिरिन की गोली ले लेनी चाहिए.

इससे हार्ट अटैक के खतरे को कम किया जा सकता है.

अमेरिका में एस्पिरिन से बची थी 13,980 लोगों की जान

“संयुक्त राज्य अमेरिका में समय से पहले दिल का दौरा पड़ने के रोकथाम के लिए सीने में दर्द के बाद एस्पिरिन के सेल्फ एडमिनिस्ट्रेशन” पर अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि 325 मिलीग्राम एस्पिरिन के प्रारंभिक सेवन से 2019 में अमेरिका में 13,980 acute myocardial से होने वाली मौतों में देरी होने का अनुमान लगाया गया था.

इन सावधानी के साथ ले सकते हैं एस्पिरिन

डॉक्टरों के मुताबिक, एस्पिरिन का आपको सावधानी के साथ सेवन करना चाहिए. हालांकि, यदि मरीज को सीने में बहुत तेज कुछ टूटने जैसा दर्द होता है और साथ में बहुत पसीना आने लगता और चक्कर जैसा महसूस होता है तो ऐसे में वो 325mg की एस्पिरिन की तीन गोलियों को क्रश कर के तुरंत खा सकते हैं. इसके अतिरिक्त वो 5mg सोरबिट्रेट को अपनी जीभ के नीचे रख सकता है ताकि सीने में हो रहे दर्द को कम किया जा सके.

डॉक्टरों का क्या है कहना

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, अपोलो अस्पताल में अपोलो एओर्टिक प्रोग्राम के वरिष्ठ सलाहकार और सर्जिकल प्रमुख डॉ. निरंजन हिरेमथ ने कहा, “हम सीने में तीव्र दर्द या बेचैनी, बाहों, गर्दन या जबड़े तक जकड़न महसूस होने, सांस लेने में परेशीना, पसीना या चक्कर आने जैसे लक्षणों में एस्पिरिन लेने की सलाह देते हैं, जो संभावित दिल के दौरे के संकेत हैं.” उन्होंने कहा कि एस्पिरिन खून को पतला करने और थक्के बनने की प्रक्रिया को कम करने में मदद कर सकती है.

डॉ.कहते हैं , “एस्पिरिन साइक्लो-ऑक्सीजिनेज को रोककर एक एंटी-प्लेटलेट एजेंट के रूप में काम करता है, जो बदले में थ्रोम्बोक्सेन ए 2 के उत्पादन को कम करता है, एक अणु जो प्लेटलेट एकत्रीकरण और वाहिकासंकीर्णन को बढ़ावा देता है.” यह तंत्र रक्त के थक्कों के निर्माण को रोकने में मदद करता है जो कोरोनरी धमनियों को अवरुद्ध कर सकते हैं और दिल के दौरे का कारण बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि मृत्यु दर को कम करने और थक्का बनने की प्रगति को रोककर परिणामों में सुधार करने के लिए सीने में दर्द की शुरुआत के तुरंत बाद एस्पिरिन लेनी चाहिए.

सावधानी यह  रखें कि जिन लोगों को एस्पिरिन से एलर्जी है, उन्हें इससे बचना चाहिए. ” डॉ अन्य गैर-स्टेरायडल सूजन-रोधी दवाओं, सक्रिय गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रक्तस्राव, रक्तस्राव विकारों वाले लोगों या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल अल्सर या रक्तस्रावी स्ट्रोक के इतिहास वाले लोगों को एस्पिरिन से बचने की सलाह देते हैं.”

मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत में हृदय विज्ञान के समूह अध्यक्ष डॉ. बलबीर सिंह ने कहा कि हालांकि एस्पिरिन के दुष्प्रभाव से रक्तस्राव या हो सकता है, लेकिन आम तौर पर एक खुराक से ऐसा नहीं होता है. उन्होंने स्वीकार किया कि पेप्टिक अल्सर के मामलों में एस्पिरिन अधिक रक्तस्राव का कारण बन सकती है. हालांकि, उन्होंने आश्वस्त किया, अगर यह दिल का दौरा है तो अस्पताल पहुंचने के लिए पर्याप्त समय होगा, उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि एस्पिरिन ऐसी आपात स्थिति में फायदेमंद हो सकती है.

हालांकि, यदि रोगियों में हृदय रोग या स्ट्रोक का इतिहास नहीं है, तो उन्हें डॉक्टर की सलाह के बिना लंबे समय तक एस्पिरिन नहीं लेना चाहिए. सर गंगा राम अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग के वरिष्ठ सलाहकार डॉ.  ने आगाह किया, “ऐसे रोगियों में रक्तस्राव का जोखिम दिल के दौरे को रोकने के लाभ से अधिक है.”

Disclaimer:यह खबर और यह जानकारी केवल हार्ट अवेयरनेस के लिए प्रकाशित है .कृपया अपने चिकित्सक से इस विषय में  जानकारी लें और उस अनुसार अम्ल करें .

corona vaccine concerns: अब डॉक्टरों ने भी सरकार के सामने लगा दी ये गुहार, अब आगे क्या?